ताज़ा खबर
 

भोपाल में दैनिक भास्कर के मालिक के घर पर इनकम टैक्स का छापा, सोशल मीडिया पर उबाल

दैनिक भास्कर के मालिक सुधीर अग्रवाल के घर पर भी आयकर विभाग की टीम ने छापा मारा। अखबार का दफ्तर सील कर दिया गया है और सीआरपीएफ के जवान तैनात कर दिए गए हैं।

दैनिक भास्कर के मालिक सुधीर अग्रवाल के घर के बाहर सीआरपीएफ की तैनाती।

भोपाल में दैनिक भास्कर मीडिया संस्थान के कई ठिकनों पर आयकर विभाग का छापा पड़ा है। बताया जा रहा है कि 100 से अधिक की टीम ने छापा मारा है। दैनिक भास्कर के मालिक सुधीर अग्रवाल के घर पर भी आयकर विभाग की टीम पहुंची। उनके घर के बाहर सीआरपीएफ के जवानों को तैनात कर दिया गया है। साथ ही दैनिक भास्कर के दफ्तर को सील कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि प्रेस कॉम्प्लेक्स में मौजूद कर्मचारियों के फोन भी छीन लिए गए हैं। दैनिक भास्कर और भारत समाचार पर रेड के बाद सोशल मीडिया पर भी उबाल आया है और लोग मोदी सरकार की जमकर आलोचना कर रहे हैं।

आरजेडी नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्विटर पर लिखा, ‘गंगा में बहती लाशों, ईलाज के अभाव में मरते लोगों, बेरोजगारी,महंगाई,टीकाकरण, सरकार की विभाजनकारी नीतियों, तानाशाही, झूठ व लूट पर सवाल करने वाले पत्रकारों, विपक्षी नेताओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं, निष्पक्ष निर्भीक मीडिया संस्थानों पर छापेमारी दर्शाती है कि केंद्र सरकार सच से डरती है।’

कांग्रेस पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से मोदी सरकार की आलोचना करते हुए लिखा, ‘भास्कर अखबार के कार्यालय पर आयकर विभाग का छापा पत्रकारिता पर करारा प्रहार है। इससे इस बात पर और मुहर लग जाती है कि मोदी सरकार सच्चाई का सामना करने की जगह उसका गला घोंटना चाहती है।’

बता दें कि कोरोना काल में की गई भास्कर की रिपोर्टिंग को लेकर भी कई नेता और सोशल मीडिया यूजर मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं। उनका कहना है कि सरकार के खिलाफ की गई रिपोर्टिंग की वजह से ऐसा किया जा रहा है। कांग्रेस नेता श्रीनिवास बीवी ने दो तस्वीरें साझा कीं। इसमें से एक उस समय की थी जब भास्कर ने अपने फ्रंट पेज पर कोरोना से मौतों की सच्चाई बताने का दावा किया था।

दैनिक भास्कर की ग्राउंड रिपोर्ट में बताया गया था, गंगा में तैर रही थीं 2 हजार लाशें

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि मोदी सरकार अपनी आलोचना नहीं बर्दाश्त कर सकती। भास्कर पर छापा मारकर उसने अपनी फंसीवादी मानसिकता का परिचय दिया है। इसपर भास्कर की तरफ से भी जवाब दिया गया और कहा गया कि वह लोकतंत्र के हित में पत्रकारिता करता रहेगा।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कथित कर चोरी के लिए मीडिया समूह दैनिक भास्कर के खिलाफ आयकर की छापेमारी पर बृहस्पतिवार को निशाना साधते हुए कार्रवाई को लोकतंत्र को कुचलने का “क्रूर प्रयास” और सच सामने लाने वाली आवाजों को दबाने की कोशिश करार दिया।

छापों पर प्रतिक्रिया देते हुए केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘दैनिक भास्कर और भारत समाचार पर आयकर छापे मीडिया को डराने का प्रयास है। उनका संदेश साफ है – जो भाजपा सरकार के खिलाफ बोलेगा, उसे बख्शेंगे नहीं। ऐसी सोच बेहद खतरनाक है। सभी को इसके खिलाफ आवाज उठानी चाहिए। ये छापे तुरंत बंद किए जायें और मीडिया को स्वतंत्र रूप से काम करने दिया जाए।’’

Next Stories
1 दैनिक भास्कर, भारत समाचार चैनल पर छापेमारी को लेकर बरसा विपक्ष, कहा- इतना ही डरते हो तो कुर्सी पर क्यों…?
2 जब धीरूभाई को पड़ा था दिल का दौरा, कहानी बताते हुए भावुक हो गए थे मुकेश अंबानी
3 जब प्रशांत किशोर ने बताया था राहुल गांधी के साथ मतभेदों का कारण, कार्यप्रणाली पर भी उठाया था सवाल
यह पढ़ा क्या?
X