ताज़ा खबर
 

ताउते से देश के कई राज्यों में तबाही, राजधानी दिल्ली में भी हुई जमकर बारिश

मौसम विभाग के मुताबिक अब यह चक्रवात कमजोर पड़ गया है। हालांकि इसका असर उत्तर भारत में देखने को मिल रहा है। राजधानी दिल्ली समेत, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, झारखंड, बिहार और अन्य राज्यों में तेज हवाओं के साथ बारिश देखने को मिल रही है।

गुजरात में ताउते के प्रभाव से टूट गए घर की मरम्मत करते लोग (फोटो- PTI)

चक्रवाती तूफान ताउते ने कई राज्यों में जमकर तबाही मचाई है। राजधानी दिल्ली में बुधवार को जमकर बारिश हुई। आज गुुरुवार को भी उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों, दिल्ली, उत्तर पूर्वी राजस्थान के कुछ हिस्सों, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, केरल तटीय कर्नाटक और अंडमान और निकोबार में हल्की बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है।

वहीं अरब सागर में डूबे बार्ज P305 से 186 लोगों को निकाला जा चुका है। बताया जा रहा है कि इस जहाज में कुल 261 लोग सवार थे। 49 लोग अब भी लापता हैं जबकि 26 शव बरामद किए गए हैं। भारतीय नौसेना समंदर में बचाव का काम कर रही है। रेस्क्यू ऑपरेशन में नौसेना के पांच जहाज लगाए गए हैं। हेलिकॉप्टर और कोस्ट गार्ड की भी मदद ली जा रही है। अधिकारियों का कहना है कि जिन लोगों ने लाइफ जैकेट पहन रखी थी, उनके बचने की उम्मीदें बाकी हैं। बता दें कि जिन 26 शवों को बरामद किया गया है वे समुद्र में 90 किलोमीटर से ज्यादा के क्षेत्र में तैरते हुए पाए गए थे।

बता दें कि ताउते तूफान के चलते समंदर में कुल चार वेसल्श फंस गए थे। इसमें मुंबई तट के दो बार्ज, गुजरात के पीपाराव का एक बार्ज और एक ड्रिलशिप शामिल था। इन सबमें मिलाकर कुछ 700 से ज्यादा लोग सवार थे। 650 से ज्यादा लोगों को निकाला जा चुका है।

नौसेना के अधिकारी ने कहा कि 707 कर्मियों को ले जा रहे तीन बजरे और एक ऑयल रिग सोमवार समुद्र में फंस गया था। इनमें 273 लोगों को ले जा रहा ‘पी305’ बजरा, 137 कर्मियों को ले जा रहा ‘गल कंस्ट्रक्टर’ और एसएस-3 बजरा शामिल है, जिसमें 196 कर्मी मौजूद थे। साथ ही ‘सागर भूषण’ ऑयल रिग भी समुद्र में फंस गया था, जिसमें 101 कर्मी मौजूद थे।

मौसम विभाग के मुताबिक अब यह चक्रवात कमजोर पड़ गया है। हालांकि इसका असर उत्तर भारत में देखने को मिल रहा है। राजधानी दिल्ली समेत, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, झारखंड, बिहार और अन्य राज्यों में तेज हवाओं के साथ बारिश देखने को मिल रही है। पीएम नरेंद्र मोदी ने चक्रवात ताउते से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए बुधवार को गुजरात और केंद्र शासित क्षेत्र दीव के प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया और फिर एक समीक्षा बैठक के बाद राहत संबंधी तत्काल गतिविधियों के लिए 1000 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता की घोषणा की।

Next Stories
1 जम्मू-कश्मीर के दो कारागार में 92 कैदी कोरोना वायरस से संक्रमित
2 यूपी के आला अफसर ने माना, नदियों में उतराते शव कोविड से मरने वालों के
3 कोरोनाः स्मृति के संसदीय क्षेत्र के गांव में 1 माह में 20 की मौत, एक-एक घर से निकले तीन-तीन शव
ये पढ़ा क्या?
X