ताज़ा खबर
 

फणी पर रिव्यू मीटिंग करना चाहते थे मोदी, ममता सरकार ने नहीं दी इजाजत, अफसर बोले- हम चुनाव में व्यस्त

केंद्र ने पश्चिम बंगाल सरकार को रिव्यू मीटिंग के लिए पत्र भी लिखा था। पीएम तूफान पर मीटिंग लेने वाले थे। पत्र पर राज्य सरकार ने जवाब दिया कि उनके अधिकारी चुनावी प्रक्रिया में व्यस्त हैं

Cyclone Fani, mamata government, bjp, PM Modi, Pashchim Bengal, tmc, loksabha electionपश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी। (फोटो: इंडियन एक्सप्रेस)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चक्रवाती तूफान फणी से हुए नुकसान के रिव्यू के लिए हवाई सर्वेक्षण करने पश्चिम बंगाल जाना चाहते थे लेकिन ममता सरकार ने इजाजत नहीं दी। यही नहीं तूफान के बाद हुए नुकसान को लेकर होने वाली रिव्यू मीटिंग से भी ममता सरकार ने इनकार कर दिया।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि पश्चिम बंगाल सरकार को रिव्यू मीटिंग के लिए पत्र लिखा था। पीएम तूफान पर मीटिंग लेने वाले थे। पत्र पर राज्य सरकार ने जवाब दिया कि उनके अधिकारी चुनावी प्रक्रिया में व्यस्त हैं इसलिए रिव्यू मीटिंग नहीं हो सकती। ममता ने पीएम से फोन पर बात तक नहीं की।

सोमवार (6 मई 2019) सुबह प्रधानमंत्री ओडिशा पहुंचे और तूफान की वजह से हुए नुकसान का मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के साथ हवाई सर्वेक्षण किया। फणी तूफान शुक्रवार (3 मई 2019) को ओडिशा के पूरी तटीय क्षेत्र से टकारया था इस दौरान 200 किलो मीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली। तूफान की वजह से पुरी में तेज बारिश और आंधी भी आई। फणी तूफान के चलते दक्षिण भारत के साथ देश के कई अन्‍य राज्यों की भी अलर्ट पर रखा गया था।

तूफान में तीन लोगों की मौत हो गई जबकि 160 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। इसके बाद तूफान ने पश्चिम बंगाल की तरफ रुख किया और राज्य में भारी तबाही मचाई लेकिन इसमें कोई हताहत नहीं हुआ। इसके बाद तूफान बांग्लादेश की चला गया।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘कुछ भी हों, पप्पू नहीं हैं राहुल गांधी’, जानें क्या बोले सैम पित्रोदा
2 अनिल अंबानी की कंपनी का राहुल गांधी पर पलटवार- क्या यूपीए सरकार ने ‘बेईमान व्यापारियों’ को नहीं दिए थे पैसे?
3 शीला दीक्षित बोलीं- बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया गया निर्भया गैंगरेप केस, भड़का महिला आयोग
ये पढ़ा क्या?
X