ताज़ा खबर
 

त्योहारों के मौके पर कोरोना से बचाव के लिए संस्कृति मंत्रालय ने जारी की गाइडलाइंस, जानें क्या है जरूरी

गाइडलाइंस के मुताबिक, कंटेनमेंट जोन्स में किसी भी तरह के धार्मिक कार्यक्रम नहीं किए जा सकेंगे और न ही इन जगहों पर भीड़ जुट सकती है।

Coronavirus, Culture Ministryसंस्कृति मंत्रालय ने समारोह स्थलों और आयोजकों के लिए भी दिशा-निर्देश जारी किए हैं। (एक्सप्रेस फोटो)

भारत में कोरोनावायरस के नए मामलों में तेजी से गिरावट आई है। हालांकि, केंद्र सरकार लोगों से लगातार अपील कर रही है कि वे त्योहार के सीजन में पूरा एहतियात बरतें, ताकि संक्रमण के मामले तेजी से न बढ़ पाएं। संस्कृति मंत्रालय ने अब त्योहार सीजन के लिए गाइडलाइंस (SOP) भी जारी कर दी हैं। इसके मुताबिक, कंटेनमेंट जोन्स में किसी भी तरह के धार्मिक कार्यक्रम नहीं किए जा सकेंगे और न ही इन जगहों पर भीड़ जुट सकती है।

संस्कृति मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल की ओर से जारी की गई गाइडलाइंस के मुताबिक, किसी भी समारोह स्थल पर छह फीट की दूरी बनाना अहम होगा। हर व्यक्ति को मास्क लगाना जरूरी होगा। इसके अलावा हर धार्मिक स्थल या पंडाल जहां बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा होंगे, वहां सैनिटाइजर का इंतजाम होना जरूरी है। इसके अलावा कार्यक्रम के आयोजकों को कर्मचारियों को गाइडलाइंस के लिए प्रशिक्षण देना अनिवार्य होगा।

धार्मिक स्थलों पर आने वाले लोगों के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप होना भी जरूरी होगा, वर्ना उन्हें अंदर नहीं जाने दिया जाएगा। अगर गरबे या रामलीला या अन्य धार्मिक प्रस्तुति में लोग शामिल हो रहे हैं, तो उन्हें आयोजन से एक हफ्ते पहले अपनी कोरोना निगेटिव रिपोर्ट आयोजकों को सौंपनी होगी। इसी के बाद ही वे कार्यक्रम में हिस्सा ले पाएंगे। दूसरी तरफ कलाकारों को रिहर्सल करते वक्त ही मास्क हटाने की छूट होगी। साथ ही जितना कम हो सके उतना कम बात करें और रिहर्सल स्टेज को पहले और बाद में सैनिटाइज करना अनिवार्य होगा।

गाइडलाइंस में ये भी कहा गया है कि कार्यक्रम के बाद पुरस्कार वितरण समारोह नहीं किए जाएंगे। इसके अलावा जो दर्शक आएंगे उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। जिन जगहों पर रामलीला या गरबा जैसे कार्यक्रम हो रहे हैं, वहां क्षमता के 50 फीसदी लोगों को जाने की इजाजत होगी या अधिकतम दो सौ लोगों को जाने दिया जाएगा। साथ ही अंदर भी उचित दूरी बनाई जाएगी। ऐसे कार्यक्रमों के टिकट भी ऑनलाइन भी बुक होंगे। टिकट विंडो पर भी कैशलेस पेमेंट ही लिए जाएंगे।

Next Stories
1 भारत ने एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल नाग का किया सफल परीक्षण, डीआरडीओ के विकसित मिसाइल में जानें क्या है खासियतें
2 120 रुपये किलो तक पहुंचेगी प्याज की कीमत, महाराष्ट्र में बारिश से प्याज की फसल को भारी नुकसान
3 रेलवे, रक्षा मंत्रालय और BSNL की जमीन से पैसा कमाने की तैयारी में सरकार, जानें किस विभाग के पास है कितनी जमीन
ये पढ़ा क्या?
X