CRPF जवान ने दी ‘पान सिंह तोमर’ की धमकी, सीएम से लगाई गुहार, सामने आया VIDEO

सीआरपीएफ की 74वीं बटालियन में तैनात आरक्षक प्रमोद कुमार को वीडियो में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से गुहार लगाते हुए देखा जा सकता है।

CRPF, pramod kumar, paan singh tomar, viral video, infdian army, army, sukma, chhatisgarh, hathras
सीआरपीएफ जवान प्रमोद कुमार। फोटो: VideoGrab

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के एक जवान का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जवान अपने रिश्तेदारों से परेशान है और वीडियो के जरिए अपनी आपबीती सुनाई है। सीआरपीएफ की 74वीं बटालियन में तैनात आरक्षक प्रमोद कुमार को वीडियो में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से गुहार लगाते हुए देखा जा सकता है। दरअसल अपने तीन चाचा के साथ जमीन विवाद के चलते प्रमोद कुमार कुमार काफी परेशान हैं। उनका कहना है कि चाचा ने जमीन पर जबरन कब्जा किया हुआ है।

छत्तीसगढ़ के नकस्ल प्रभावित सुकमा में तैनात प्रमोद कुमार वीडियो में कहते हैं कि ‘चाचा के राजनीति में सक्रिय होने के चलते उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही। उत्तर प्रदेश के हाथरस में तीनों चाचा परिवारवालों के साथ गाली-गलौच करते हैं इसके साथ ही वह उन्हें परेशान कर रहे हैं।’

वीडियो के मुताबिक प्रमोद सुकमा के दोरनापाल के सीआरपीएफ कैंप में सेवाएं दे रहे हैं। वह वीडियो में कहते हैं ‘मैंने हाथरस जिले के एसपी और कलेक्टर से इसकी शिकायत भी की थी लेकिन चाचा की दबंगई के चलते अबतक शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है। मैं देश के लिए अपनी जान दे सकता हूं तो अपने परिवार के लिए जान ले भी सकता हूं। परिवार को बचाने के लिए मैं पान सिंह तोमर भी बन सकता हूं। ‘

बता दें कि पान सिंह तोमर डकैत बनने से पहले इंडियन आर्मी के सिपाही थे। इसके अलावा वह एक एथलीट भी थे। पान सिंह 1950 और 1960 के दशक में सात बार के राष्ट्रीय स्टीपलचेज चैंपियन रहे। 10 सालों तक तोमर का रिकॉर्ड को कोई नहीं तोड़ पाया। तोमर ने 1952 के एशियाई खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया था।

सेना से रिटायर होने के बाद वह अपने पैतृक गांव लौट आए। जहां पर वह जमीनी विवाद के लेकर फंस गए। मजबूरी में तोमर को बंदूक उठानी पड़ी और बाद में वह चंबल घाटी का खूखार आतंकी के नाम से जाने गए। 1981 में तोमर को भारतीय कानून प्रवर्तन अधिकारियों द्वारा मार दिया गया था। पान सिंह के अलावा भी देश में तमाम कुख्यात डाकू हुए, जिनका खौफ लंबे समय तक रहा।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
बीफ पार्टी करने के आरोप में J&K के एमएलए पर दिल्‍ली में फेंकी स्‍याही, मोबिल
अपडेट