ताज़ा खबर
 

‘मेरे भाइयों को राहत कैम्प में पहुंचाइए’, राहुल गांधी ने की सरकार से अपील तो यूजर फोटो शेयर कर पूछने लगे कौन ‘दूरदर्शी’ और ‘कौन दूरदर्शन नेता’?

राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा "गुजरात में फंसे आंध्रा प्रदेश के 6,000 से अधिक मछुआरे सीमित भोजन और पानी के साथ करीब एक महीने से बेहद खराब स्थिति में हैं। मैं अपने भाइयों को राहत शिविरों में स्थानांतरित करने और उनकी भलाई सुनिश्चित करने के लिए सरकार से अपील करता हूं।"

rahul gandhiकांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी। (एएनआई इमेज)

देश में कोरोना वायरस बहुत तेजी से फैल रहा है। इसके प्रकोप को रोकने के लीये देश को 3 मई तक के लिए बंद कर दिया गया है। इसके चलते कई लोग अपने- अपने घरों से दूर फंसे हुए हैं। ऐसे ही आंध्रा प्रदेश के 6,000 से अधिक मछुआरे गुजरात में अपनी एक नाव में फंसे हैं। ये मछुआरे सीमित भोजन और पानी के साथ करीब एक महीने से फंसे हैं। कांग्रेस नेता राहुल गांधी शनिवार को एक ट्वीट कर सरकार से इन मछुआरों की मदद करने को कहा है।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा “गुजरात में फंसे आंध्रा प्रदेश के 6,000 से अधिक मछुआरे सीमित भोजन और पानी के साथ करीब एक महीने से बेहद खराब स्थिति में हैं। मैं अपने भाइयों को राहत शिविरों में स्थानांतरित करने और उनकी भलाई सुनिश्चित करने के लिए सरकार से अपील करता हूं।”

कांग्रेस नेता के इस ट्वीट पर एक यूजर ने तस्वीर शेयर करते हुए लिखा “‘दूरदर्शी’ और ‘दूरदर्शन नेता।” यूजर द्वारा शेयर की गई तस्वीर में एक तरफ राहुल बने हैं और दूसरी तरफ पीएम मोदी। राहुल से ऊपर लिखा है ‘दूरदर्शी नेता’ और पीएम मोदी की तस्वीर के ऊपर ‘दूरदर्शन नेता’ लिखा हुआ है। एक अन्य यूजर ने लिखा “मरकज़ में कोरोना फेला तो मरकज़ का मुख्या ज़िमेदार देश में कोरोना फेला तो देश का मुख्या जिम्मेदार।”

गुजरात में फंसे इन मछुआरों का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक मछुआरा यह कहता हुआ दिख रहा है कि हमारे पास यहां कोई भी बुनियादी सुविधा नहीं है। केंद्रीय नेता और स्थानीय नेता कहते रहते हैं कि वे हमारी देखभाल कर रहे हैं और हमें  बुनियादी सुविधाएं प्रदान करा रहे है लेकिन सच यह है कि हमारे पास शौचालयों के लिए भी पानी नहीं है। हम गंदे पानी का इस्तेमाल करने के लिए मजबूर हैं।

बता दें देश में कोरोना वायरस बहुत तेजी से अपने पैर पसार रहा है। शनिवार को 57 नई मौतों के साथ कोरोना से जान गंवाने वालों का आंकड़ा 775 पहुंच गया। इसके अलावा देशभर में कोरोना के कुल मामले 24,506 हो गए हैं। इनमें 18,668 एक्टिव केस हैं, जबकि 5063 लोग ठीक हो चुके हैं या फिर देश से जा चुके हैं। इसी के साथ देश में फिलहाल रिकवरी रेट 20% से ऊपर पहुंच गया है। देश में कोरोनावायरस से बिगड़ती इस स्थिति पर शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय में मंत्री समूह की बैठक चल रही है।

जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल । कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना संकट में चुनाव आयोग को सता रही बिहार चुनाव की चिंता, साउथ कोरिया मॉडल समझने के लिए बनाई कमिटी
2 दुकानें खोलने पर शहर से लेकर गांव तक असमंजस, MHA की गाइडलाइंस लोगों को नहीं आ रहा समझ
3 ‘ताली, थाली बजाकर कोरोना भगाओगे? मूर्खता का रिकॉर्ड तोड़ दिया’, बोले बीजेपी विधायक; ऑडियो वायरल हुआ तो पार्टी ने थमा दिया नोटिस
ये पढ़ा क्या?
X