ताज़ा खबर
 

फिल्‍म बनाने के लिए चार राज्‍यों में डाली डकैती, तीन साल में 30 वारदात की, एक फिल्‍म बनाई

हैदराबाद पुलिस ने एक फिल्‍म प्रोड्यूसर एन. मुरुगन को गिरफ्तार किया है। उस पर आरोप है कि उसने बीते तीन साल में तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु में डकैती की है।

Author हैदराबाद | December 23, 2015 9:51 AM
representative image

हैदराबाद पुलिस ने एक फिल्‍म प्रोड्यूसर एन. मुरुगन को गिरफ्तार किया है। उस पर आरोप है कि उसने बीते तीन साल में तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु में डकैती की है।

मुरुगन को 20 अक्‍टूबर को बेंगलुरु में गिरफ्तार किया गया। उसकी गिरफ्तारी एक घर में सेंध लगाने के केस में हुई है। यह केस दस महीने पहले दायर हुआ था। इसकी जांच सायबराबाद पुलिस के जिम्‍मे थी। मुरुगन को 22 दिसंबर को हैदराबाद लाया गया। उसके दो साथियों की गिरफ्तारी अभी नहीं हुई है।

सायबराबाद के पुलिस आयुक्‍त सीवी आनंद ने बताया कि तिरुवरूर (तमिलनाडु) के रहने वाले मुरुगन फिल्‍में बनाने में नाम कमाना चाहता था। उसने फिल्‍मों में पैसा लगाने के लिए डकैती-लूट करने का रास्‍ता चुना। इसके लिए उसने अपने भतीजे सुरेश पनीरसेल्‍वम और वी. दिनाकरन की मदद ली।

शक है कि मुरुगन और उसके साथियों ने 2012 से 2015 के बीच 29 वारदात किए हैं। इनमें डकैती, गाड़ियों की चोरी, मंदिर से चोरी आदि शामिल हैं। इनके पास से जो नकदी और संपत्ति बरामद हुई है, उसकी कीमत 1.72 करोड़ रुपए है।

मुरुगन को 2011 में भी गिरफ्तार किया गया था। लेकिन जमानत पर रिहा हो गया था। उसने सुरेश को अपनी फिल्‍म में हीरो का रोल देने का लालच देकर अपने साथ किया था। इसके बाद तीनों हैदराबाद चले गए। वहां एक बार उन्‍होंने एक घर खरीदा और पड़ोसियों को ऐसा जताया कि वह फिल्‍म प्रोड्यूसर है। मुरुगन ने एन. राजम्‍मल फिल्‍म्‍स के बैनर तले साउथ इंडिया फिल्‍म गिल्‍ड की सदस्‍यता तक ले ली थी।

फिल्‍म के लिए पैसे जुटाने के लिए तीनों ने मिल कर तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु में बैंकों और घरों में डाका डाला। पिछले साल 17 नवंबर को चित्‍तूर के ग्रामीण बैंक से उन्‍होंने 1.75 किलो सोना और 5 किलो चांदी उड़ा लिया था। 2012 में मुरुगन ने एक फिल्‍म बना भी ली। 50 लाख रुपए में बनाई इस फिल्‍म में सुरेश लीड रोल में हैं। हालांकि, फिल्‍म अभी रिलीज नहीं हुई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App