ताज़ा खबर
 

बेटियों पर जुल्म: दो दिन की बच्ची को सौ बार गोदा, 3000 में बिकी लड़की का दो साल तक होता रहा बलात्कार

उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुई घटना के बाद बच्चियों से बर्बरता के मामलों पर लोगों का रोष और बढ़ सकता है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: September 30, 2020 9:11 AM
Child Abuseप्रतीकात्मक तस्वीर।

उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित लड़की से हुई बर्बरता पर पूरे देश में गुस्से का माहौल है। आम लोगों से लेकर बड़े सेलिब्रिटीज और नेताओं तक ने आरोपियों के लिए जल्द से जल्द मौत की सजा की मांग की है। निर्भया केस के बाद इस नए मामले ने सभी के दिलों को दहला दिया है। हालांकि, हाथरस कांड इकलौता ऐसा केस नहीं है, जहां किसी लड़की के साथ इस तरह की घटना हुई हो। दिल्ली से लेकर मध्य प्रदेश के भोपाल और छत्तीसगढ़ के रायपुर तक ऐसे केस सामने आए हैं, जिसे लेकर लोगों में रोष अभी और बढ़ सकता है।

1. इनमें एक घटना मध्य प्रदेश के भोपाल की है, जहां एक व्यक्ति ने महज दो दिन की बच्ची को पेचकस से 100 से ज्यादा बार गोद दिया। भोपाल के अयोध्या नगर की इस घटना ने वहां रहने वालों का दिल दहला दिया है। बताया गया है कि आरोपी ने बच्ची को गोदने के बाद उसके शव को शॉल में लपेटा और उसे एक मंदिर के पास छोड़ दिया। पुलिस का कहना है कि जब उन्होंने शव को मंदिर के पास से बरामद किया, तब कई पुलिसवाले भी उसकी हालत देखकर डर गए। पहले पुलिस को लगा कि हो सकता है कि कोई लड़की को छोड़कर चला गया हो और जानवरों ने उसकी यह हालत की हो, लेकिन ऑटोप्सी रिपोर्ट में सामने आया कि लड़की को स्क्रू ड्राइवर से करीब 100 बार गोदा गया। बता दें कि मध्य प्रदेश में दो हफ्ते के अंदर यह नवजात के साथ हुई बर्बरता की दूसरी घटना है।

2. दूसरी घटना रायपुर की है, जहां दो साल पहले पिता ने अपनी 16 साल की लड़की को महज तीन हजार रुपयों के लिए एक व्यक्ति के यहां काम करने के लिए भेज दिया। पुलिस ने हाल ही में उस लड़की को बचाया है। कई महीनों तक हुई काउंसलिंग के बाद लड़की ने खुलासा किया कि जिस घर में वह काम करने जाती थी, वहां उसके साथ दुष्कर्म किया जाने लगा। कई महीनों तक दुष्कर्म के बाद गर्भवती होते ही उसे घर से निकाल दिया गया। इसके बाद लड़की को कई महीने सडकों पर ही बितने पड़े। पुलिस के मुताबिक, लड़की को मई में रेस्क्यू किया गया, पांच महीने की काउंसलिंग के बाद अब उसने आरोपी व्यक्ति और उसके पिता के खिलाफ केस दर्ज कराया है।

3. वहीं, तीसरा केस दिल्ली का है। यहां के शालीबार बाग इलाके के जेजे क्लस्टर में एक सात साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। आरोपी एक 16 साल का लड़का है, जिसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। पुलिस का कहना है कि बच्ची के माता-पिता दिहाड़ी मजदूर हैं। रविवार शाम को जब लड़के ने लड़की को अकेले खेलते देखा, तो लड़का उसे कुछ खिलाने के बहाने बाहर ले गया और फिर उसके साथ दुष्कर्म किया। मामले का खुलासा तब हुआ, जब लड़की के माता-पिता घर आए और उन्हें बेटी घर पर नहीं मिली। खोजने के बाद लड़की उन्हें घर के पास ही सुनसान जगह पर रोती मिली।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 हाथरस गैंगरेप: रात के अंधेरे में अंतिम संस्कार, परिवार बोला- पुलिस ने घर नहीं लाने दी लाश, लात भी मारी
2 बाबरी विध्वंस मामले में अदालत के फैसले से भाजपा को मिली नयी ऊर्जा
3 1992 में मुगलकालीन बाबरी विध्वंस मामले में अदालत का फैसला आज
ये पढ़ा क्या?
X