ताज़ा खबर
 

माकपा ने दादरी कांड के लिए नरेंद्र मोदी ठहराया जिम्मेदार

सीताराम येचुरी ने दादरी में जो कुछ हो रहा है, इस तरह की कोई भी हिंसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शह के बिना नहीं हो सकती।

Author नई दिल्ली | June 9, 2016 9:22 PM
माकपा महासचिव सीताराम येचुरी। (पीटीआई फाइल फोटो)

माकपा ने दादरी कांड को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए शुक्रवार (9 जून) को आरोप लगाया कि उनके ‘शह’ के बिना यह घटना नहीं हो सकती थी और ‘भड़काऊ’ बयानों के लिए केंद्रीय मंत्री संजीव बलियान को बर्खास्त करने की मांग की। पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा, ‘उन्होंने (मोदी) किस मामले में (पार्टी के लोगों को) शह नहीं दी? आम आदमी के अलावा उन्होंने इस तरह की (सांप्रदायिक) सभी घटनाओं को शह दी है। दादरी में जो कुछ हो रहा है, इस तरह की कोई भी हिंसा उनकी शह के बिना नहीं हो सकती।’

येचुरी ने एक संवाददाता सम्मेलन में मोदी सरकार के दो सालों पर आधारित एक पुस्तिका जारी करते हुए ये टिप्पणियां कीं। उन्होंने याद दिलाया कि मोदी ने किस तरह दो साल पहले संसद के सामने मत्था टेकते हुए उसे ‘लोकतंत्र का मंदिर’ बताया था और उनकी इस तरह की मुद्रा के बावजूद भाजपा नेताओं ने कथित रूप से भड़काऊ बयान दिए।

येचुरी ने कहा, ‘हमने उस समय उनसे केवल यह आश्वासन मांगा था कि (भड़काऊ) नारों के बीच देश में कानून व्यवस्था बनी रहे। दो साल हो गए लेकिन उन्होंने अब तक वह आश्वासन नहीं दिया। इससे क्या संकेत मिलता है?’ वहां मौजूद माकपा पोलित ब्यूरो की सदस्य वृंदा करात ने कहा कि मोदी की ‘शह’ के बिना इस तरह के ‘मानवता विरोधी’ बयान देने के बाद बाल्यान सरकार में नहीं बने रहते।

वृंदा ने मांग की, ‘मोदीजी जवाब दें कि संजीव बाल्यान कैसे मंत्री परिषद में बने हुए हैं? क्या यह संभव है कि वह मोदीजी के आशीर्वाद के बिना इस तरह के भड़काऊ, असंवैधानिक और मानवता विरोधी बयान देने के बावजूद वहां बने हुए हैं? बाल्यान को तुरंत बर्खास्त किया जाना चाहिए।’

गौरतलब है कि बाल्यान ने गत सोमवार (6 जून) को इस बात की जांच कराने की मांग की थी कि 50 साल के मोहम्मद अखलाक के घर के बाहर बरामद हुआ मांस किसने खाया था। उत्तर प्रदेश के दादरी के बिसहड़ा गांव में पिछले साल सितंबर में अखलाक के परिवार द्वारा घर में गोमांस रखने और खाने की अफवाहों को लेकर भीड़ ने अखलाक की पीट पीटकर हत्या कर दी थी।

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री बल्यान ने एक फोरेंसिक रिपोर्ट के आने के बाद बयान दिया। रिपोर्ट में कहा गया कि अखलाक के घर के बाहर से लिए गए मांस का नमूना किसी ‘गाय या उसके बछड़े’ का है। येचुरी ने मथुरा में हुई हिंसा को लेकर कहा कि सबसे पहले तो ‘इस तरह का माहौल’ ना बने, यह सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी सरकार की है। पिछले हफ्ते मथुरा के जवाहर बाग इलाके में पुलिस और अतिक्रमणकारियों के बीच हुई झड़पों में पुलिस अधीक्षक (शहर) मुकुल द्विवेदी और थाना प्रभारी (फराह) संतोष यादव सहित 29 लोग मारे गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App