ताज़ा खबर
 

कामकाज पर मोदी सरकार को शून्य से भी कम अंक देंगे: भाकपा

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा नरेन्द्र मोदी की सरकार के कामकाज को ‘‘दस में से शून्य’’ अंक देने के एक दिन बाद भाकपा ने कहा कि राजग सरकार को ‘‘किसान विरोधी, मजदूर विरोधी और कॉरपोरेट समर्थक’’...

May 20, 2015 12:34 AM

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा नरेन्द्र मोदी की सरकार के कामकाज को ‘‘दस में से शून्य’’ अंक देने के एक दिन बाद भाकपा ने कहा कि राजग सरकार को ‘‘किसान विरोधी, मजदूर विरोधी और कॉरपोरेट समर्थक’’ नीतियों के लिए शून्य से भी कम अंक देगी ।

मोदी पर जोरदार हमला करते हुए पार्टी ने कहा कि वह ‘‘रहस्यमयी’’ और ‘‘अहंकारी’’ नेता हैं और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से ‘‘काफी अलग’’ हैं जो दूसरों के भी विचार सुनते थे।

भाकपा महासचिव एस. सुधाकर रेड्डी ने पीटीआई को बताया, ‘‘राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार को एक वर्ष के कामकाज के लिए वह शून्य अंक देंगे। लेकिन हम गलत उत्तर लिखने की तरह ही गलत नीतियां लाने के लिए शून्य से भी कम अंक देंगे।’’

रेड्डी ने कहा कि भाकपा मोदी को व्यक्तिगत मोर्चे पर निशाना नहीं बनाना चाहती लेकिन साथ ही कहा कि वह और दूसरे नेता जिस तरीके से काम करते हैं उसमें फर्क है। उन्होंने कहा, ‘‘वह रहस्यमयी तरीके के हैं, खुले हुए नहीं हैं। वह अहंकारी हैं भले ही यह उनके रोजाना के कार्यों में नहीं दिखता है। वह तानाशाह हैं। लोग उनसे बात करने में डरते हैं। हम राजनीति के उनके ब्रांड से सहमत नहीं हैं लेकिन उनके और वाजपेयी के बीच काफी अंतर है जो लोगों की बात सुनते थे।’’

पूर्व सांसद ने कहा कि मोदी जब विदेश जाते हैं तो विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को साथ लेकर नहीं जाते जो ‘‘इस बात का उदाहरण है कि वह कितने रहस्यमयी हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘सामान्यत: प्रधानमंत्री विदेशी दौरे में विदेश मंत्री को साथ लेकर जाते हैं। लेकिन वह उन्हीं को लेकर जाते हैं जो उनके करीबी हैं जैसे कि फडणवीस विदेशी दौरे पर जाते हैं।’’

Next Stories
1 सत्ता में मोदी का पहला साल देश के लिए त्रासदी भरा रहा: येचुरी
2 जम्मू कश्मीर: 10वीं बोर्ड परीक्षा के परिणाम घोषित, शीर्ष तीन स्थानों पर रहीं लड़कियां
3 संप्रग की उपलब्धियों का श्रेय ले रही है मोदी सरकार : राहुल गांधी
ये पढ़ा क्या?
X