ताज़ा खबर
 

वेदों और उपनिषदों पर सेमिनार करेगी लेफ्ट पार्टी ! CPI नेता बोले- हिंदू धर्मग्रंथों का गलत इस्तेमाल रोकेंगे

इस कार्यक्रम में देशभर से नौ विशेषज्ञ वेद, उपनिषद्, पुराण और एपिक पर अपने पत्र पेश करेंगे। सीपीआई नेता ने कहा कि हम सांप्रदायिक ताकतों द्वारा उनके अपने हित के लिए हिंदु गंथ्रों का गलत इस्तेमाल को रोकना चाहते हैं।

Author तिरुवनंतपुरम | Published on: October 10, 2019 9:22 AM
CPI, Vedas and Upanishad, seminar on Vedas, Hindu scriptures, Kerala, Kannur, LDF, CPM, SitaRam Yechuri, Navaratri, Maha ashtami, twitter, CPI veteran N E Balram, india news, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindiऋगवेद पांडुलिपि का पेज (फोटोः Ms Sarah Welch/Wikimedia Commons)

केरल में वामपंथी दल कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया वेदों और उपनिषदों के सार पर सेमिनार आयोजित करने जा रही है। राज्य में सत्ताधारी गठबंधन एलडीएफ की सहयोगी पार्टी का यह तीन दिवसीय सेमिनार राज्य के कन्नूर में 25 अक्टूबर से आयोजित किया जाएगा।

इस सेमिनार का उद्देश्य हिंदु पांडुलिपियों और धर्मग्रंथों का धर्म के नाम पर गलत इस्तेमाल को रोकना है। यह कार्यक्रम में दिवगंत वामपंथी नेता एनई बलराम की जन्म शताब्दी के अवसर पर आयोजित किया जा रहा है। कार्यक्रम के आयोजन का दायित्व एनई बलराम मेमोरियल ट्रस्ट के पास है।

ट्रस्ट के चेयरमैन और वरिष्ठ सीपीआई नेता सीएन चंद्रन ने कहा कि भारतीय दर्शनशास्त्र दिवगंत नेता का पसंदीदा विषय था। इस कार्यक्रम में देशभर से नौ विशेषज्ञ वेद, उपनिषद्, पुराण और एपिक पर अपने पत्र पेश करेंगे। सीपीआई नेता ने कहा कि हम सांप्रदायिक ताकतों द्वारा उनके अपने हित के लिए हिंदु गंथ्रों का गलत इस्तेमाल को रोकना चाहते हैं। सेमिनार में भारतीय धर्मग्रंथों के वैज्ञानिक संदर्भों पर भी चर्चा की जाएगी।

मालूम हो कि कुछ एक वामपंथी नेता नवरात्रि पर बधाई देने को लेकर चर्चा में आए थी। धर्म को अफीम मानने वाले राजनीतिक दल सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी ने महानवमी, दशहरा और विजयदशी को लेकर लोगों को ट्वीट कर बधाई दी थी। इस पर लोगों ने येचुरी को ट्रोल कर दिया। दरअसल येचुरी ने अष्टमी के दिन ही नवरात्रि और दशहरा की बधाई दे दी थी। लोगों ने ट्वीट कर येचुरी को अष्टमी, नवरात्रि और दशहरा का अर्थ और इसका महत्व भी बताया।

वहीं एक यूजर ने येचुरी के ट्वीट पर हैरानी जताते हुए कहा कि इस पर स्टालिन और मार्क्स क्या कहेंगे। वहीं एक अन्य यूजर शुभम ने चुटकी लेते हुए कहा कि मुझे लगता है किसी ने आपका अकाउंट हैक कर लिया है। जो लोग सीताराम येचुरी को जानते हैं कृप्या उन्हें बताएं कि यह पोस्ट उनके ट्विटर हैंडल पर अप्रसांगिक है। मालूम हो कि सीताराम येचुरी ने कुछ महीने पहले ही कहा था कि रामायण और महाभारत भी लड़ाई और हिंसा से भरे हुए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘मुस्लिम पैदा करते हैं ज्यादा बच्चे, आतंकी ही बनेंगे’, पूर्व बीजेपी सांसद राम विलास वेदांती की राय
2 स्वतंत्रता सेनानी से लेकर जिलाधिकारी तक रहे हैं अलकायदा के इंडिया चीफ के पुरखे! हैरान हैं सनाउल हक के पास-पड़ोस वाले
3 ‘हम किसी असीम को नहीं जानते, हमें तो सनाउल मालूम है, सन्नू बुलाते थे उसको’ AQIS चीफ की मौत पर बोले घरवाले
ये पढ़ा क्या?
X