ताज़ा खबर
 

आपके भगवान के हाथ खून से रंगे, सजा के तौर पर रोकें फंडिंग- लेखिका का “अमेरिकी मोदी भक्तों को खुला खत”

इस लेटर में विनीता ने भक्तों से देश में वर्तमान में चल रही राजनीति को देखते हुए भगवा पार्टी को फंड ना करने की सलाह दी है। लेखिका ने कहा कि इन लोगों ने महामारी के बीच भारत की स्वास्थ्य सेवा प्रणाली को पतन की ओर धकेल दिया है। फंडिंग ना कर इन्हें इसके लिए दंडित करें।

दिल्ली की लेखिका विनीता मोक्किल ने ‘अमेरिकी मोदी भक्तों’ को एक ओपन लेटर लिखा है। (express file/twitter)

देश में कोरोना वायरस का प्रकोप बहुत तेजी से फैल रहा है। जैसे-जैसे मामले तेजी से बढ़ रहे हैं स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की पोल खुलती जा रही है। इसी बीच दिल्ली की लेखिका विनीता मोक्किल ने ‘अमेरिकी मोदी भक्तों’ को एक ओपन लेटर लिखा है। इस लेटर में विनीता ने भक्तों से देश में वर्तमान में चल रही राजनीति को देखते हुए भगवा पार्टी को फंड ना करने की सलाह दी है।

विनीता मोक्किल ने ‘अमेरिकी मोदी भक्तों’ से कहा कि इन लोगों ने महामारी के बीच भारत की स्वास्थ्य सेवा प्रणाली को पतन की ओर धकेल दिया है। इसलिए फंडिंग ना कर इन्हें इसकी सजा दें। कुछ पाठकों का कहना है कि विनीता ने लेटर के माध्यम से अपने गुस्से को आवाज दी है। वहीं कुछ ने आरोप लगाया कि ऐसा कर विनीता ने भारत की छवि को धूमिल किया है।

“अमेरिका के मोदी भक्तों के लिए एक खुला पत्र: आपके भगवान के पैर मिट्टी के और हाथ खून से सने” शीर्षक वाला यह लेख बुधवार को दक्षिण एशियाई अमेरिकी समाचार वेबसाइट ‘अमेरिकन कहानी’ पर प्रकाशित हुआ है।

विनीता ने ‘द टेलीग्राफ’ से बात करते हुए बताया कि “यह समय भक्तों के आत्मनिरीक्षण के लिए बिलकुल सही है। खास कर उनके लिए जिन्होंने राम मंदिर के नाम पर वोट दिया था और अब महामारी से प्रभावित हैं।”

उन्होनें लेख में लिखा, “जबकि भारत सांस के लिए तड़प रहा है, जब अस्पतालों में मरीज ऑक्सीजन की कमी से मर रहे हैं, जब सड़कों पर बीमार गिरे पड़े हैं और अस्पतालों के गेट पर बिस्तर के लिए लाइन लगी है, ऐसे समय में तुम्हारा भगवान दिल्ली में अपने लिए 22,000 करोड़ का महल तैयार करवा रहा है।”

विनीता ने आगे लिखा “अपनी इस घमंडी परियोजना के चलते वह अपनी सरकार को पर्याप्त वैक्सीन की आपूर्ति करने का निर्देश देना ही भूल गया। यही एक चीज़ थी जो भारत के लोगों को कोरोना की दूसरी लहर से बचा सकती थी।”

उन्होंने कहा कि वह चुनाव जीतने के लिए केवल जय श्री राम का जाप करता हैं। वह मुस्लिमों को हिंदुओं के खिलाफ खड़ा कर देता है और जब तनाव बढ़ जाता है तो उसमें माचिस लगाने का काम भी आपका यही करता है।

विनीता ने लिखा “अगर आपका भगवान हिंदुओं का रक्षक है जैसा कि वह दावा करता है, यदि आपका ईश्वर हिंदू राष्ट्र का दाढ़ी वाला मसीहा है, तो उसने सब कुछ जानते हुए भी कुंभ मेले को आयोजित करने की अनुमति क्यों दी? जब उन्हें पता था कि उन्हीं के समर्थक इसमें जाएंगे और संक्रमित होंगे।”

 

Next Stories
1 ये कोरोना के कॉम्प्लिकेंशस दुरुस्त करने की दवाइयां हैं और हमने जो बनाई है, वह संक्रमण ठीक करती है- लाइव चर्चा के दौरान रामदेव ठोंकने लगे दावा
2 कोरोनाः इधर भूटान जैसों से ले रहे मदद, उधर मोदी सेंट्रल विस्टा का निर्माण रोकने को नहीं तैयार- शिवसेना का BJP पर निशाना
3 अस्पताल से बिना बताए गायब हुए 25 मरीज, हिंदू राव में बदइंतजामी से नाराज हैं कोरोना पीड़ित
ये पढ़ा क्या?
X