कोरोना से यूपी हलकान, सरकार ने टिन से ढंका लखनऊ का सबसे बड़ा श्मशान

पिछले कुछ दिनों उत्तप्रदेश के श्मशान घाटों में अचानक से काफी भीड़ बढ़ने लगी है। इतना ही नहीं मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए 6 से 8 घंटे का इंतजार करना पड़ रहा है।

lucknow, corona, bhaisakundबुधवार देर शाम लखनऊ के भैंसाकुंड श्मशान घाट में एक साथ कई चिताओं के जलने का वीडियो और फोटो काफी वायरल हुआ था। जिसके बाद सरकार ने श्मशान घाट की टिन से घेराबंदी कर दी।(फोटो – पीटीआई)

उत्तरप्रदेश में कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना बेतहाशा गति से बढ़ रहा है। इसी बीच बुधवार को लखनऊ के भैंसाकुंड में एक साथ कई दर्जन चिताओं के जलने का फोटो और वीडियो वायरल होने के बाद सरकार ने श्मशान घाट की टिन से घेराबंदी कर दी। कहा जा रहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार मौत के आंकड़ों को छिपाने के लिए लखनऊ के सबसे बड़े श्मशान की घेराबंदी कर रही है।

उत्तरप्रदेश स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार बुधवार को लखनऊ में 24 घंटे के अंदर 5433 लोग कोरोना की चपेट में आए थे। साथ ही 14 लोगों की मौत इस महामारी की वजह से हो गई थी। जिसके बाद बुधवार देर शाम लखनऊ के भैंसाकुंड श्मशान घाट में एक साथ कई चिताओं के जलने का वीडियो और फोटो काफी वायरल हुआ था। लोगों ने लखनऊ के श्मशान घाट का वीडियो सामने आने के बाद सरकार पर कई तरह के सवाल उठाए थे। जिसके बाद सरकार ने श्मशान घाट की ही घेराबंदी कर दी। हालांकि लखनऊ के नगर आयुक्त का कहना है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए श्मशान के कुछ हिस्सों में घेराबंदी की गई है।

पिछले कुछ दिनों उत्तप्रदेश के श्मशान घाटों में अचानक से काफी भीड़ बढ़ने लगी है। इतना ही नहीं मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए 6 से 8 घंटे का इंतजार करना पड़ रहा है। विद्युत शवदाह गृह होने के बावजूद भी लखनऊ में कई दर्जन अंतिम संस्कार लकड़ी के सहारे किए जा रहे हैं। श्मशान घाट पर अचानक से बढ़ी संख्या को लेकर कई संस्थाएं और लोग यह आरोप लगा रहे हैं कि उत्तरप्रदेश सरकार कोरोना से हो रही मौतों का आंकड़ा छिपा रही है। 

लखनऊ के श्मशान घाट को टिन से घेरने का वीडियो और फोटो सामने आने पर कई लोगों ने भाजपा सरकार और योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है। सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि पहले नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम के लिए अहमदाबाद में झुग्गी बस्ती को दीवार बनाकर छिपाया गया और अब लोगों की मौत को छिपाने का प्रयास हो रहा है। सच्चाई इन दीवारों में नहीं छिप सकती।

बता दें कि उत्तरप्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 22,439 मामले सामने आए जबकि 104 मौतें इस महामारी की वजह से हो गई। वहीं 4,222 लोग डिस्चार्ज हुए। हालांकि उत्तरप्रदेश में अभी भी 1,29,848 सक्रिय मामले हैं।

Next Stories
1 कोरोना: ऑक्सीजन पर केंद्र के दो बयान; एक में कहा- पूरा उत्पादन हो रहा, दूसरे में बताई 12 राज्यों में किल्लत की बात
2 RR vs DC: सैमसन ने डाइव लगा लपका कठिन कैच, धवन रह गए हैरान; देखें VIDEO
3 दावा करता हूं कि हम मिल कर कोरोना को हरा देंगे, आज देश की ख़ातिर शो देखें- बोले एंकर, ट्रोल
यह पढ़ा क्या?
X