कोरोना की दूसरी लहर के बीच डॉक्टरों के सामने ‘आपदा’ जैसे हालात, बोले- हम हैं मजबूर

तेजी से बढ़ते संक्रमण के चलते डॉक्टरों के सामने 'आपदा' जैसे हालात पैदा हो गए हैं। रोजाना सैकड़ों की संख्या में मरीज अस्पतालों में भर्ती हो रहे हैं। ऐसे में हर किसी को आईसीयू बैड और ऑक्सीजन उपलब्ध कराना मुश्किल होता जा रहा है।

coronavirus, Healthcare sector, Oxygen supply, All India Institute of Medical Sciences (AIIMS) Delhi, Medical treatment, hospitalisationतेजी से बढ़ते संक्रमण के चलते डॉक्टरों के सामने ‘आपदा’ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। (express File Photo)

देश में कोरोना का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। कोरोना की दूसरी लहर बेहद तेजी से फैल रही है। यहां रोजाना लाखों की संख्या में लोग पॉज़िटिव पाये जा रहे हैं और इसके संक्रमण से हजारों लोगों की जान जा रही है। हालात इतने खराब हैं कि अस्पतालों में आईसीयू बिस्तर नहीं मिल रह हैं। कई जगहों पर दवा, ऑक्सीजन और रेमडेसिविर की भी भारी कमी है, जिसके चलते मरीज दम तोड़ रह हैं।

तेजी से बढ़ते संक्रमण के चलते डॉक्टरों के सामने ‘आपदा’ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। रोजाना सैकड़ों की संख्या में मरीज अस्पतालों में भर्ती हो रहे हैं। ऐसे में हर किसी को आईसीयू बैड और ऑक्सीजन उपलब्ध कराना मुश्किल होता जा रहा है। ‘द टेलीग्राफ’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में काम करने वाले सुवरंकार दत्ता ने बताया कि डॉक्टरों के लिए भी अस्पतालों में बिस्तान नहीं बचे हैं।

सुवरंकार दत्ता कोविड पॉज़िटिव हैं और उन्होने खुद को अपने अपार्टमेंट के एक कमरे में आइसोलेट कर लिया है। वे दुआ कर रहे हैं कि उनका संक्रमण हल्का ही रहे और उन्हें अस्पताल न जाना पड़े। उन्हें यह भी नहीं पता कि हालत बिगड़ने पर क्या एम्स में जहां वे काम करते हैं, उन्हें वहां कोई बिस्तर मिलेगा।

रविवार कि रात एम्स में एक दम से बहुत सारे मरीज आए। जिसके बाद सभी बिस्तर और आपातकालीन विभाग पूरी तरह से भर गया। 24 से अधिक रोगी क्रिटिकल केयर सपोर्ट में रखे गए वहीं 100 से अधिक ऑक्सीजन पॉइंट पर हैं।

आपातकालीन विभाग के सीनियर डॉक्टर ने कहा “24 घंटे में अब 100 से 150 ऐसे रोगी आते हैं जिन्हें ऑक्सीजन की जरूरत होती है। जब तक बिस्तर उपलब्ध नहीं हो जाताम हम उन्हें हर तरह की सहायता प्रदान करते हैं।”

बता दें देश में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 3,52,991 नए मामले आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,73,13,163 हुई जबकि वर्तमान में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 28 लाख को पार कर गयी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस बारे में बताया।

मंत्रालय द्वारा सोमवार सुबह आठ बजे तक अद्यतन की गयी जानकारी के अनुसार, संक्रमण से 2,812 लोगों की मौत होने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,95,123 हो गयी है। संक्रमण के मामलों में तेज वृद्धि के साथ उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 28,13,658 हो गयी है जो कुल संक्रमितों का 16.25 प्रतिशत है जबकि राष्ट्रीय स्तर पर कोविड-19 से स्वस्थ होने की दर गिरकर 82.62 प्रतिशत हो गयी है।

Next Stories
1 कोरोनाः दूजों की मदद को आगे आए बार-बार, पर खुद की मां का बिगड़ा हाल तो बेड को भटकते रहे दर-दर; पूछा- जब मुझे चाहिए थी मदद, तब कहां थे सभी?
2 Coronavirus जब नए-नए ‘रूप’ धर रहा था, तब हम COVID-19 Centres खत्म कर रहे थे
3 कोरोना से आगरा में हाहाकार! किसी को न मिली श्मशान में जगह तो जाना पड़ा अलीगढ़, किसी ने कार के ऊपर लाश बांध शव पहुंचाया घाट
यह पढ़ा क्या?
X