ताज़ा खबर
 

Corona Virus: कोर्ट ने धर्म के आधार पर लोगों की पहचान करने के खिलाफ याचिका खारिज की

याचिका दिल्ली के दो निवासियों ने दायर की थी और इसमें प्राधिकारियों को यह निर्देश देने का अनुरोध किया गया था कि इस तरह की जानकारी एकत्र करने और उसके प्रसार में मदद करने वाले लोगों, संगठनों, वेबसाइटों या मीडिया घरानों को चिन्हित किया जाए।

Corona Virus , Supreme Courtन्यायमूर्ति अशोक भूषण, न्यायमूर्ति आर सुभाष रेड्डी और न्यायमूर्ति एम आर शाह की पीठ ने याचिका पर विचार करने से इंकार कर दिया।

सुप्रीम कोर्ट ने कोविड-19 से संबंधित जानकारी के संबंध में लोगों की जाति, धर्म, और समुदाय के आधार पर पहचान नहीं करने का सरकार और अन्य प्राधिकारियों को निर्देश देने के लिये दायर याचिका शुक्रवार को खारिज कर दी। न्यायमूर्ति अशोक भूषण, न्यायमूर्ति आर सुभाष रेड्डी और न्यायमूर्ति एम आर शाह की पीठ ने याचिका पर विचार करने से इंकार कर दिया। याचिका में प्राधिकारियों को जाति, धर्म, समुदाय, धार्मिक पहचान या सांप्रदायिक वर्गीकरण के आधार पर कोरोना वायरस या दूसरी महामारी की जानकारी को साझा करने से रोकने का निर्देश देने का भी अनुरोध किया गया था।

यह याचिका दिल्ली के दो निवासियों ने दायर की थी और इसमें प्राधिकारियों को यह निर्देश देने का अनुरोध किया गया था कि इस तरह की जानकारी एकत्र करने और उसके प्रसार में मदद करने वाले लोगों, संगठनों, वेबसाइटों या मीडिया घरानों को चिन्हित किया जाए।
याचिका में कहा गया है कि संबंधित प्राधिकारियों को इस तरह की वेबसाइट तत्काल ब्लाक करने के साथ ही आहत करने वाली ऐसी सामग्री इंटरनेट से तुरंत हटानी चाहिए।

याचिका में इस साल मार्च में आयोजित तबलीगी जमात मरकज का जिक्र करते हुये कहा है कि इस तरह की घटनायें मीडिया के एक वर्ग में राष्ट्रीय सुर्खियां बनीं थी क्योंकि संयम बरतने के बजाये इसे सांप्रदायिक रंग देते हुये पेश किया गया था।

याचिका में कहा गया है कि सांप्रदायिक नफरत फैलाने और सार्वजनिक व्यवस्था में समस्या पैदा करने वाले तत्वों के खिलाफ सूचना प्रौद्योगिकी कानून के तहत कार्रवाई की जानी चाहिए।  याचिका में कहा गया था कि निजामुद्दीन पश्चिम में तबलीगी जमात के मुख्यालय में हुये धार्मिक आयोजन के दौरान हुयी दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बाद समूचे मुस्लिम समुदाय पर ही दोषारोपण किया जाने लगा था।

(भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 IPL 2020: अनुष्का के पलटवार के बाद गावस्कर ने दी सफाई, कहा- उनपर पर दोष नहीं मढ़ा, ना ही महिला विरोधी बयान दिया
2 मोदी सरकार नहीं जानती किसानों की आमदनी, 2015-16 के बाद नहीं आया है औसत आय का डेटा
3 Bihar Elections 2020: कौन से चरण में कहां होगा मतदान, जानें यहां
IPL 2020
X