ताज़ा खबर
 

लॉकडाउन में फंसे मजदूर, पर्यटक, छात्र व अन्य लोग पहुंचेंगे घर! केंद्र ने दी विशेष ट्रेनों से आवाजाही की मंजूरी

रेलवे ने इसके अलावा कहा है- गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस एक मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया गया है।

कोरोना संकट, लॉकडाउन के दौरान साधन-सवारी न मिलने पर कई लोग यूं सपरिवार सामान लेकर गृह राज्यों को पैदल ही रवाना हुए हैं। (फोटोः पीटीआई)

कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच देशभर में विभिन्न जगहों पर फंसे लोग अब अपने घर पहुंच सकेंगे। ऐसा इसलिए, क्योंकि गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को दूसरे राज्यों/जगहों पर फंसे प्रवासी मजदूरों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य लोगों को विशेष ट्रेनों से जाने की मंजूरी दे दी है।

समाचार एजेंसी एएनआई ने रेल मंत्रालय के बयान के हवाले से बताया कि विभिन्न जगहों पर फंसे हुए लोगों के लिए राज्य सरकारों ने केंद्र से दरख्वास्त की थी, जिसके बाद प्वॉइंट टू प्वॉइंट (एक निर्धारित जगह से दूसरे इलाके तक) ये खास रेलगाड़ियां चलेंगी। रेलवे और राज्य सरकारें इसके लिए सीनियर अधिकारियों को नोडल अधिकारी के तौर पर नियुक्त करेंगी।

मंत्रालय के मुताबिक, जहां से यात्रियों को भेजा जाएगा, वह राज्य उनकी स्क्रीनिंग कराएगा और जिनमें लक्षण नहीं पाए जाएंगे। सिर्फ उन्हीं लोगों को जाने की अनुमति मिलेगी। इन राज्यों को यात्रियों को निर्धारित रेलवे स्टेशन तक सैनिटाइज की हुई बसों में लाना होगा और उस दौरान सोशल डिस्टैंसिंग व अन्य ऐहतियाती कदमों व दिशा-निर्देशों का पालन कराया जाएगा।

COVID-19 in India LIVE Updates

बकौल मंत्रालय, “गंतव्य स्टेशन पर पहुंचने के बाद दूसरे सूबों की सरकारें इन यात्रियों की स्क्रीनिंग और क्वारंटीन (अगर जरूरी हुआ तब) जैसी चीजों का उचित बंदोबस्त कराएंगी।”

मंत्रालय के बयान में यह भी बताया गया कि प्रवासी मजदूरों, पर्यटकों, छात्रों और अन्य लोगों के लिए जो खास ट्रेनें प्लान की गई हैं, उन्हें आज से चलाया जाएगा। ये ट्रेनें Lingampalli से Hatia, Aluva से Bhubaneswar, Nasik से Lucknow, Nasik से Bhopal, Jaipur से Patna और Kota से Hatia के बीच चलेंगी। रेलवे ने इसके अलावा कहा है- गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों के अनुसार, अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस एक मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया गया है।

Coronavirus in Bihar LIVE Updates

छत्तीसगढ़ के श्रमिकों की घर वापसी के लिए विशेष ट्रेन चलाने का अनुरोधः इसी बीच, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर दूसरे राज्यों में फंसे छत्तीसगढ़ के श्रमिकों की घर वापसी के लिए विशेष ट्रेन चलाने का अनुरोध किया है। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने शुक्रवार को यहां बताया कि मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में कहा है कि कोविड-19 की रोकथाम के लिए लॉकडाउन के केन्द्र सरकार के निर्णय से राज्य में इस महामारी की रोकथाम में विशेष मदद मिली जिसके परिणाम स्वरूप राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बहुत कम है।

Rajasthan COVID-19 LIVE Updates

केरल-ओडिशा विशेष ट्रेन 1200 प्रवासी मजदूरों को लेकर रवाना होगीः वहीं, केरल से करीब 12,00 प्रवासी मजदूरों को लेकर यहां के अलुवा रेलवे स्टेशन से एक विशेष ट्रेन ओडिशा के भुवनेश्वर के लिए शुक्रवार शाम को रवाना होगी। राज्य मंत्री वीएस सुनील कुमार ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन लागू होने के बाद से ही ओडिशा के प्रवासी मजदूर एर्नाकुलम जिले के राहत कैंपों में ठहरे हुए थे। कुमार ने कहा कि सरकारी दिशा-निर्देशों के तहत प्रवासी मजदूरों को सरकारी बसों के जरिए स्टेशन तक लाया जाएगा। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि विशेष ट्रेन शाम छह बजे रवाना होगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 UP में कोरोना के 1600 एक्टिव केस, फिर भी CM योगी आदित्यनाथ का दावा- हम हैं ‘सेफ’, मगर तोड़नी होगी संक्रमण की चेन
2 ‘प्लाज्मा थेरेपी के नतीजे अच्छे, नहीं रुकेगा ट्रायल’, बोले दिल्ली CM केजरीवाल- कोरोना से ठीक हुए 1100 मरीज करेंगे प्लाज्मा दान
3 बुलंदशहर में दो साधुओं की हत्या पर सिर्फ फुसफुस? तवलीन सिंह ने उठाए सवाल तो ट्रोल्स पत्रकारिता पर ही दागने लगे सवाल