COVID-19 Test पर मोदी सरकार का यू-टर्नः PM ने कहा था- 70% होने चाहिए RT-PCR टेस्ट; पर हिस्सा 40% पर लाने की है तैयारी

सरकार अब 60 फीसदी टेस्ट एंटीजन पर निर्भर करेगी और जून के अंत तक रोजाना जांच की क्षमता को बढ़ाकर 45 लाख तक किया जाएगा। मोदी सरकार का यह फैसला प्रधानमंत्री मोदी की उस सलाह के दो महीने बाद आया है, जिसमें उन्होने राज्यों को RT-PCR टेस्ट की संख्या को 70% तक बढ़ाने को कहा था।

Coronavirus, COVID-19, RT-PCR Tests, COVID-19 Tests, modi government, U turn, modi, RTPCR Test, Antigen Test आरटीपीसीआर टेस्ट, रैपिड एंटीजन टेस्ट, ट्रूनैट टेस्ट, कोविड-19 सैंपल, jansatta
Covid-19 Test: मोदी सरकार ने RT-PCR टेस्ट का लक्ष्य 70 से घटाकर 40 प्रतिशत किया। (Express Photo by Gurmeet Singh)

देश में कोरोना की रफ्तार कुछ कम हुई है। इसी बीच COVID-19 टेस्ट को लेकर मोदी सरकार ने एक बड़ा यू-टर्न लिया है। केंद्र सरकार कोरोना की जांच के सबसे भरोसेमंद टेस्ट RT-PCR को कम करने का फैसला किया है। अगले महीने के अंत तक RT-PCR टेस्ट में 40% तक कटौती की जाएगी।

‘एनडीटीवी’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक सरकार अब 60 फीसदी टेस्ट एंटीजन पर निर्भर करेगी और जून के अंत तक रोजाना जांच की क्षमता को बढ़ाकर 45 लाख तक किया जाएगा। मोदी सरकार का यह फैसला प्रधानमंत्री मोदी की उस सलाह के दो महीने बाद आया है, जिसमें उन्होने राज्यों को RT-PCR टेस्ट की संख्या को 70% तक बढ़ाने को कहा था। पीएम ने कहा था कि अगर पॉजिटिव मरीजों की संख्या ज्यादा रहती है तो कोई दबाव नहीं है।

सरकार ने RT-PCR की जांच क्षमता को भी पिछले हफ्ते के 16 लाख से घटाकर 12-13 लाख प्रतिदिन से कर दिया है। पिछले हफ्ते सरकार कह रही थी कि रोजाना आरटीपीसीआर टेस्ट करने की उसकी क्षमता 16 लाख है, लेकिन अब वो 12-13 लाख का आंकड़ा दे रही है।

गुरुवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपनी ब्रीफिंग में कहा कि अप्रैल-मई में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान RT-PCRऔऱ एंटीजन टेस्ट का अनुपात करीब 50-50 फीसदी रहा। पिछले 24 घंटे के दौरान देश में 20.55 लाख सैंपल लिए गए। इनमें से 10.5 लाख (51.3%) RT-PCR टेस्ट थे। जबकि 8.92 लाख (43.4 %) रैपिड एंटीजन टेस्ट थे। वहीं 1 लाख (5.3 %)के करीब ट्रूनैट-सीबीनैट टेस्ट किए गए।

वहीं कोरोना महामारी के बीच अब आप घर पर खुद से कोविड-19 टेस्ट कर सकते हैं। इससे लोगों को काफी सुविधा होगी। आइसीएमआर ने रैपिड एंटीजन टेस्ट का उपयोग कर घरेलू टेस्ट के लिए एडवाइजरी जारी की है। अब कोरोना टेस्टिंग के लिए होम बेस्ड टेस्टिंग किट को मंजूरी मिल गई है। एंटीजन की रिपोर्ट जहां तुरंत मिल जाती है, वहीं आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट 24 घंटे में आती है। होम बेस्ड टेस्टिंग किट से जांच में तेजी आएगी ही, साथ ही लोग घर बैठे ही कोरोना की जांच कर सकते हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
शर्मसार हुई मां की ममता: 3 बेटियों को सुलाया मौत की नींदsangam vihar, sangam vihar murder, ambedkar nagar police station, delhi news
अपडेट