ताज़ा खबर
 

दिल्ली के हिंदू राव अस्पताल से 23 कोरोना रोगी लापता, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिए जांच के आदेश

उपमुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि यह न केवल इन रोगियों के जीवन के लिए खतरनाक है, बल्कि सरकार के प्रयासों के लिए भी एक झटका है जिसने बीमारी के प्रसार पर रोक के लिए लॉकडाउन लगाया है।

मनीष सिसोदिया ने स्वास्थ्य विभाग से 23 रोगियों के लापता होने के मामले की जांच करने और सोमवार शाम तक रिपोर्ट देने को कहा है। (फोटो – पीटीआई)

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा संचालित हिंदू राव अस्पताल से कोविड-19 के 23 रोगियों के लापता होने की घटना की जांच के आदेश दिए हैं। समाचार एजेंसी पीटीआई के सूत्रों के अनुसार सिसोदिया ने स्वास्थ्य विभाग से इस मामले की जांच करने और सोमवार शाम तक रिपोर्ट देने को कहा है। मनीष सिसोदिया ने कहा कि यह बहुत चौंकाने वाला है कि बड़ी संख्या में कोविड-19 मरीज अस्पताल से ‘‘लापता’’ हो गए हैं।

उपमुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि यह न केवल इन रोगियों के जीवन के लिए खतरनाक है, बल्कि सरकार के प्रयासों के लिए भी एक झटका है जिसने बीमारी के प्रसार पर रोक के लिए लॉकडाउन लगाया है। उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा संचालित हिंदू राव, राष्ट्रीय राजधानी का सबसे बड़ा निकाय अस्पताल है। अस्पताल में कोविड रोगियों के लिए 250 बिस्तर आरक्षित हैं और दिल्ली कोरोना ऐप के अनुसार वर्तमान में सभी बिस्तरों पर मरीज भर्ती हैं।

रविवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दिल्ली में लॉकडाउन बढ़ाने का एलान कर दिया। दिल्ली में अब अगले सोमवार सुबह 5 बजे तक के लिए लॉकडाउन रहेगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में लॉकडाउन को एक हफ्ते के लिए बढ़ाया जा रहा है। लॉकडाउन अगले सोमवार सुबह 5 बजे तक लागू रहेगा। दिल्ली में कल से मेट्रो चलनी बंद होगी। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में 26 अप्रैल के बाद से कोरोना के केस कम होने शुरू हुए और पिछले एक-दो दिन में पॉजिटिविटी रेट 35% से घटकर 23% हो गया है।

भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 4,03,738 नए मामले सामने आने के बाद देश में अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 2,22,96,414 हो गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार सुबह आठ बजे अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में 4,092 और मरीजों की मौत होने के बाद कुल मृतक संख्या बढ़कर 2,42,362 हो गई। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या लगातार बढ़कर 37,36,648 हो गई है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 16.76 प्रतिशत है, जबकि संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की दर 82.15 प्रतिशत है।

आंकड़ों के अनुसार, एक दिन में 3,86,444 और मरीजों के ठीक होने के साथ अब तक स्वस्थ हो चुके लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,83,17,404 हो गई है, जबकि मृत्युदर 1.09 प्रतिशत है। भारत में कोविड-19 के मामले पिछले साल सात अगस्त को 20 लाख का आंकड़ा पार कर गए थे। इसके बाद संक्रमण के मामले 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के पार चले गए थे।

Next Stories
1 कोरोना, ऑक्सीजन संकट के बीच COVID-19 ICU में 1 दिन, जानें- कैसे महामारी से कैसे निपट रहे हमारे वॉरियर्स और मरीज
2 टीके का टोटा क्यों? जितना दिल्ली-मुंबई के सारे लोगों को चाहिए उतना विदेश भेज चुकी है सरकार, भारत से काफ़ी बेहतर हाल वाले देशों को भी भेजी वैक्सीन
3 कोरोना के चलते बैकफुट पर सरकार! सात साल में पहली बार मंत्रियों, BJP-RSS नेताओं को नहीं सूझ रहा जवाब
ये पढ़ा क्या?
X