ताज़ा खबर
 

COVID-19 से बिहार में हाहाकार: नीतीश सरकार के पास इंतजाम नहीं, लोग भी नहीं सावधान; नरेंद्र मोदी सरकार ने भेजी टीम

COVID-19 in Bihar: RJD नेता लालू प्रसाद यादव ने रविवार को सबे में कोरोना की स्थिति पर कहा कि यहां हालात बेहद खराब और 'विस्फोटक' हैं। रैलियां आयोजित करने के बजाय नीतीश सरकार को वायरस के फैलाव को तेजी से रोकना चाहिए।

Coronavirus in Bihar, COVID-19 in Bihar, COVID-19, Coronavirus, PatnaCoronavirus Spread in Bihar: एक महिला का कोरोना टेस्ट के लिए सैंप लेता हुआ स्वास्थ्यकर्मी। (फोटोः पीटीआई)

वैश्विक महामारी COVID-19/Coronavirus से बिहार में फिलहाल हाहाकार मची है। बाढ़ की मार झेल रहे बिहार के विभिन्न हिस्सों में कोरोना के इलाज के लिए लोग दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं। फिर भी उनकी समय पर सुनवाई नहीं हो रही है। आलम यह है कि मरीज खुद के खर्च पर ऑक्सीजन सिलेंडर तक लेकर हॉस्पिटल के चक्कर काटने पर मजबूर हैं। फिर भी तंत्र पस्त है। चूंकि, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली JD(U)-BJP के गठबंधन वाली सरकार के पास पर्याप्त इंतजाम नहीं है, लिहाजा सूबे की आबादी के हिसाब से न तो अधिक टेस्टिंग हो पा रही है और न ही समय पर संक्रमितों को इलाज मिल पा रहा है।

सूबे के सरकारी अस्पतालों का हाल और भी खराब है। ऊपर से ढुल-मुल रवैये के कारण जनता भी सावधानी नहीं बरत रही। फिर चाहे सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो या फिर मास्क/फेस कवर लगाकर बाहर निकलना हो। आम से लेकर खास तक नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। ताजा उदाहरण लॉकडाउन में क्रिकेट खेलते RJD विधायक शंभु यादव से जुड़ा है। दियाढकाई गांव में क्रिकेट मैच का उद्घाटन करने पहुंचे MLA ने सोशल डिस्टेंगिंग के नियमों को तोड़ा। साथ ही मास्क भी नहीं लगाया था। ऊपर से शॉट मारने के चक्कर में वह जमीन पर गिर पड़े थे।

Coronavirus in India LIVE Updates

हॉस्पिटल्स में जांच के साथ इलाज में भी देरी हो रही है। क्वारंटीन व आइसोलेशन सेंटर्स पर भी बदइंतजामी का आलम है। मुंगेर में पूरब सराय स्थित आइसोलेशन कम ट्रीटमेंट सेंटर पर एक मरीज के हवाले से बताया गया कि डॉक्टर गर्म पानी पीने की सलाह देते हैं पर पानी गर्माने की व्यवस्था ही नहीं है। कुछ और जिलों में क्वारंटीन सेंटर को लेकर शिकायतें आईं कि वहां साफ-सफाई भी नहीं होती और कुछ जगहों पर वक्त पर खाना-पानी और दवा भी नहीं मिलती। ऐके में लोग वहां जाने के बजाय घर पर सेल्फ क्वारंटीन करना पसंद कर रहे हैं।

COVID-19 in India LIVE Updates in Hindi

जेल जैसा क्वारंटीन सेंटर का हाल!: भागलपुर अस्पताल में भर्ती कोरोना मरीज उमाकांत सिंह ने फेसबुक पोस्ट में लिखा- मैं बीती रात 10:00 बजे जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में भर्ती हुआ। कोरोना वार्ड रूम नंबर 16। अभी तक कोई डॉक्टर पूछने के लिए तकलीफ जानने के लिए नहीं आया। दवा कैसे खानी है? किसी ने नहीं बताया। रूम का दरवाजा बाहर से बंद है। जैसे मैं किसी जेल में हूं। कोई इमरजेंसी होने पर मैं किस को पुकारूं? मैं अव्यवस्था का शिकार हूं। यहां 6 बेड हैं, लेकिन अकेला मरीज हूं और दरवाजा खटखटाने पर भी कोई नहीं खोलता है।

केंद्र की भेजी टीम में कौन-कौन?: इसी बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली NDA सरकार ने बिहार के लिए एक टीम रवाना की है। इसका नेतृत्व स्वास्थ्य मंत्रालय के ज्वॉइंट सेक्रेट्री लव अग्रवाल कर रहे हैं। उनके अलावा इस टीम में National Centre for Disease Control (NCDC) के डायरेक्टर डॉक्टर एसके सिंह और नई दिल्ली स्थित AIIMS में मेडिसिन विषय के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ.नीरज निश्छल भी हैं।

JD(U) नेता “गिद्ध” बन रैली कर रहे है- लालूः बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राजद के प्रमुख लालू प्रसाद ने प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हालात के दयनीय, अराजक और विस्फोटक होने की बात कहते हुए रविवार को आरोप लगाया कि इस रोग पर नियंत्रण पाने के लिए राज्य सरकार को ”बाज़” बनने की जगह सत्ताधारी दल जदयू के नेता लोगों का ”शिकार” करने के लिए “गिद्ध” बन आसन्न विधानसभा चुनाव को लेकर रैली कर रहे हैं। लालू का इशारा आसन्न बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर जदयू द्वारा आयोजित किए जा रहे वर्चुअल संवाद की ओर था।

Bihar/Jharkhand Coronavirus Latest Updates

‘बिहार वैश्विक कोरोना हॉटस्पॉट बनने की ओर- तेजस्वी: RJD नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा है कि बिहार कोविड-19 महामारी का वैश्विक ‘हॉटस्पॉट’ (अत्यधिक प्रभावित क्षेत्र) बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने इसके साथ ही राज्य सरकार पर जांच की कम संख्या को लेकर निशाना साधा। शनिवार को राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता ने कहा कि बिहार के आकार और जनसंख्या को देखते हुए प्रति दिन 30,000-35,000 नमूनों की जांच होनी चाहिए थी, लेकिन रोज केवल 10,000 नमूनों की ही जांच हो रही है। अगर पर्याप्त जांच किए जाएं, तो हर दिन 4,000 से 5,000 मामले सामने आयेंगे और इस प्रकार राज्य कोरोना वायरस के मामले में देश में शीर्ष पर पहुंच जाएगा।

क्या है कोरोना पर बिहार का ताजा हाल?: बिहार सरकार के रविवार शाम चार बजे तक के आंकड़ों के अनुसार, 24 घंटे में कुल 10276 टेस्ट ट्यूब सैम्पल की जांच हुई। अब तक कुल 16597 मरीज ठीक हुए। वर्तमान में COVID19 के एक्टिव मरीजों की संख्या 9602 है, जबकि सूबे में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 62.91 प्रतिशत है।

COVID-19 in Bihar and Jharkhand LIVE Updates

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना पर IMA की बात सही! गंगा राम अस्पताल के डॉक्टर ने चेताया- धारावी और दिल्ली के हिस्सों में हुआ है कम्युनिटी ट्रांसमिशन
2 ‘थोबड़ा-दिखाऊ विज्ञापनों” पर करोड़ों खर्च करके कमाई गई गंदी-बौनी क्रांति के बजबजाते नाले में बहे सच्चे घर’, कुमार विश्वास का केजरीवाल पर तंज
3 पावर सेक्टर में चीनी कंपनियां हर महीने पा रही एक ठेका, 44 महीनों में नेशनल ग्रिड समेत 46 शहरों में की घुसपैठ!
IPL 2020: LIVE
X