ताज़ा खबर
 

प्रशांत किशोर कैसे पहुंचे दिल्ली से कोलकाता? गृह मंत्रालय ने उड्डयन मंत्रालय से मांगी रिपोर्ट, अब क्लू ढूंढ़ रहा DGCA!

गुरुवार को गृह मंत्रालय ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय से मामले का पता लगाने के लिए कहा है। जिसके बाद नागरिक उड्डयन नियामक डीजीसीए और विमानन सुरक्षा एजेंसी बीसीएएस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

prashant kishorपॉलिटिकल स्ट्रैटजिस्ट प्रशांत किशोर। (फोटो-पीटीआई)

राजनीतिक रणनीतिकार और पूर्व जेडीयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर पर कोरोना लॉकडाउन के दौरान कार्गो प्लेन से दिल्ली से बंगाल की राजधानी कोलकाता जाने का आरोप है। बिहार भाजपा प्रवक्ता निखिल आनंद ने प्रशांत किशोर पर मालवाहक विमान में छिपकर अवैध तरीके से दिल्ली से कोलकाता जाने का आरोप लगाया है। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सरकार और एविएशन अधिकारियों निर्देश पर दिल्ली, कोलकाता और गुवाहाटी एयरपोर्ट की 72 घंटे की सीसीटीवी फुटेज खंगाली गई है, ताकि इन आरोपों की जांच की जा सके।

गुरुवार को गृह मंत्रालय ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय से मामले का पता लगाने के लिए कहा है। जिसके बाद नागरिक उड्डयन नियामक डीजीसीए और विमानन सुरक्षा एजेंसी बीसीएएस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पश्चिम बंगाल की मुख्य मंत्री ममता बनर्जी के बुलावे पर प्रशांत किशोर लॉकडाउन तोड़ कोलकाता गए थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्र सरकार से तनातनी के बीच राज्य सरकार की मदद के लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उन्हें कार्गो फ्लाइट से कोलकाता बुलाया है।

पिछले तीन दिन के भीतर दिल्ली और कोलकाता के बीच 9 कार्गो विमानों ने उड़ान भरी है। एविएशन अधिकारियों ने एयर इंडिया, स्पाइस जेट और ब्लू डॉर्ट जैसी एविएशन कंपनियों से भी उड़ानों के संबंध में जानकारी मांगी है।

Coronavirus in India Live Updates:  यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़े सभी लाइव अपडेट….

हालांकि किशोर ने इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। दिप्रिंट की रिपोर्ट के मुताबिक किशोर ने कहा “मैनें कोई कार्गो जहाज का सहारा नहीं लिया है। यहां तक कि मैं आखिरी बार हवाई यात्रा 19 मार्च को की थी। जब उनसे पूछा कि क्या वह कोलकाता कार से गए हैं तो उन्होंने इस बारे में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है।


कोरोना वायरस प्रसार को रोकने के लिए 22 मार्च को अंतरराष्ट्रीय विमान सेवा को स्थगित कर दिया गया था तो 25 मार्च से घरेलू विमान सेवा पर भी रोक लगा दी गई थी। केवल एक जगह से दूसरे जगह सामान पहुंचाने वाले विमानों को उड़ने की इजाजत है। लॉकडाउन के बाद से 347 कार्गो फ्लाइट्स ने उड़ान भरी है।

जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल । कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नोएडा में दो मरीजों में कोरोना का रिपीट अटैक, डॉक्टरों में मचा हड़कंप? जानें- कैसे होता है ये ज्यादा खतरनाक
2 बंद हुआ रोजगार, खाने को पड़ गए लाले, आठ महीने की गर्भवती पैदल ही चल पड़ी गांव, रोज चली 70 किमी
3 ‘मेरे भाइयों को राहत कैम्प में पहुंचाइए’, राहुल गांधी ने की सरकार से अपील तो यूजर फोटो शेयर कर पूछने लगे कौन ‘दूरदर्शी’ और ‘कौन दूरदर्शन नेता’?