कोरोनाः रोजाना हो रही मौतों के बीच बोला केंद्र- बीते साल ऑक्सिजन का उत्पादन था 5700 मीट्रिक टन, अब है 9 हजार

देश में इस समय कोरोना के कुल मामलों में से 17 प्रतिशत एक्टिव मामले हैं। 81.77 प्रतिशत कोरोना मरीजों ने महामारी को हराया है। जबकि करीब 1 प्रतिशत मरीजों ने इस महामारी से अपनी जान गंवाई है।

coronavirus, indiaदेश में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है। (पीटीआई)।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि देश में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध है। एक अगस्त 2020 को ऑक्सीजन का उत्पादन देश में 5,700 मीट्रिक टन था, जो अब लगभग 9,000 मीट्रिक टन हो गया है। सरकार ने बताया कि विदेशों से भी ऑक्सीजन का आयात किया जा रहा है।

देश में इस समय कोरोना के कुल मामलों में से 17 प्रतिशत एक्टिव मामले हैं। 81.77 प्रतिशत कोरोना मरीजों ने महामारी को हराया है। जबकि करीब 1 प्रतिशत मरीजों ने इस महामारी से अपनी जान गंवाई है। ये जानकारी अधिकारियों ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए दी। सरकार का दावा है कि मृत्यु दर एक प्रतिशत से कम ही है। बीते कुछ दिनों से कोरोना के मामलों में कमी देखी जा रही है। देश में 12 राज्य ऐसे हैं जहां एक लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं।

वहीं, देश के 17 राज्य ऐसे हैं जहां 50 हजार से भी कम कोरोना के एक्टिव मामले हैं। 7 राज्य ऐसे हैं जहां 50 हजार से एक लाख के बीच कोरोना के एक्टिव मामले हैं। सरकार ने बताया कि देश में इस समय 34 लाख से ऊपर कोरोना के एक्टिव मामले हैं। वहीं करीब 2 लाख लोगों ने कोरोना से जान गंवाई है। इसके अलावा कोरोना से कुल एक करोड़ 62 लाख लोग ठीक हुए हैं।

देश में कोरोना पॉजिटिविटी की बात की जाए तो देश के 5 राज्य ऐसे हैं जहां पॉजिटिविटी 5 प्रतिशत से कम है। 9 राज्य ऐसे हैं जहां पॉजिटिविटी 5 से 15 प्रतिशत के बीच में है। 22 राज्यों में पॉजिटिविटी 15 प्रतिशत से ऊपर है। बता दें कि भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 3,68,147 नए मामले दर्ज किए गए। देश भर में 3,417 मौतें भी दर्ज की गईं।

मालूम हो कि कोरोनो वायरस मामलों में वृद्धि के बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कोविड -19 से लड़ने में चिकित्सा कर्मियों की उपलब्धता को बढ़ाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लिए। उन्होंने कहा कि अंतिम वर्ष एमबीबीएस छात्रों और बीएससी जीएनएम-योग्य नर्सों को कोविड ड्यूटी के लिए तैनात किया जा सकता है, और कहा कि कोविड ड्यूटी के 100 दिनों को पूरा करने वाले चिकित्सा कर्मियों को नियमित सरकारी भर्तियों में प्राथमिकता दी जाएगी।

वहीं, उत्तर प्रदेश सरकार ने सोमवार को सप्ताह के अंत में लॉकडाउन की अवधि को 48 घंटे तक बढ़ाने का फैसला किया। अतिरिक्त मुख्य सचिव, सूचना, नवनीत सहगल ने पीटीआई को बताया, “शुक्रवार 8 बजे से मंगलवार सुबह 7 बजे तक कर्फ्यू को 48 घंटे के लिए बढ़ा दिया गया है। अब यह 6 मई तक सुबह 7 बजे तक जारी रहेगा ।”

इस बीच, दिल्ली ने ऑक्सीजन रहित गैर-आईसीयू और आईसीयू बेड के साथ कोविड -19 स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थापना, संचालन और संचालन के लिए सेना की मदद मांगी है। दूसरी ओर, जिला अस्पताल में कथित रूप से ऑक्सीजन की कमी के कारण कर्नाटक के चामराजनगर में 23 पीड़ितों में से 24 रोगियों सहित 24 की मौत हो गई।

Next Stories
1 वार्षिक अपडेट के बाद ICC T20 Rankings में भारत नंबर-2, ODI में तीसरे स्थान पर खिसका
2 Kerala Elections Results 2021: विधानसभा में पहली बार CM ससुर बैठेंगे दामाद के साथ
3 एमपीः तहसीलदार ने कर्फ्यू तोड़ने वालों का निकाला जुलूस, मेढ़क न बन पाने पर मारी लात, बोली कांग्रेस- एक्शन नहीं तो होगा मुंह काला
यह पढ़ा क्या?
X