ताज़ा खबर
 

‘पतंजलि का गौमूत्र मंगवा सकता था, अमेरिका ने कर दी गलती?’ कांग्रेस नेता के तंज पर उबल पड़े लोग

Coronavirus Outbreak in india: हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल कोरोना वायरस के इलाज के लिए बड़े पैमाने पर किया जा रहा है।

coronavirus 1कांग्रेस नेता का यह ट्वीट सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है। (एपी और ट्विटर)

Coronavirus Outbreak in india: कांग्रेस नेता डॉक्टर उदित राज अपने एक ट्वीट के चलते सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर हैं। दरअसल उन्होंने अमेरिका और पतंजलि से जुड़ा एक ट्वीट किया, जिस पर ट्विटर यूजर्स ने नाराजगी जाहिर की है। कांग्रेस नेता ने शनिवार (11 अप्रैल, 2020) को ट्वीट कर कहा, ‘अमेरिका ने गलती की क्या?’ ट्वीट के एक साथ इमेज भी शेयर की गई, जिसमें लिखा था, ‘अमेरिका ने हाइड्रोक्लोरोक्विन (hydroxychloroquine) ही क्यों मंगवाई। पतंजलि का गौमूत्र भी तो मंगवा सकता था।’

उदित राज के तंज भरे ट्वीट पर लोग जमकर प्रतिक्रियाएं दे रहें हैं। अंजू मिश्रा @AnjuMishraaa ने लिखा, ‘पूरा राजस्थान कोरोना संक्रमित है। क्या हुआ भीलवाड़ा मॉडल- जयपुर, जोधपुर, बांसवाड़ा में नहीं चला।’ समित @BeriaSumit कहते हैं, ‘हमेशा किसी भी आपदा की घड़ी में सबसे ज्यादा मध्यवर्गीय पिस्ता है और अमीर खुद खा लेता है।’ धाकड़ @Ramkishan_007 लिखते हैं, ‘गौमूत्र आरक्षण के कीड़े मारने के काम आता है वो कीड़े अमेरिका में नहीं है।’

Coronavirus in India LIVE Updates

यहां देखें ट्वीट-

इसी तरह गरीबों @GareeboOP नाम से एक यूजर लिखते हैं, ‘हाइड्रोऑक्सीक्लोरोक्वीन होता है अमेरिका ने गलती की या नही तुम्हें डॉक्टर की डिग्री देकर यूनिवर्सिटी ने बहुत बड़ी गलती की।’ स्वेता @Savage_shree लिखती हैं, ‘इनके हिसाब से गाय सिर्फ मूत्र और गोबर देती है। बाकी घी, मक्खन, पनीर, मिठाई….’ आराध्या @Aradhya199 लिखती हैं, ‘शर्म है पर इनको आती नहीं।’ अनिल लिखते हैं, ‘वहां राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप राज करते हैं पप्पू नहीं।’

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?
बता दें कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल कोरोना वायरस के इलाज के लिए बड़े पैमाने पर किया जा रहा है। अमेरिका के अनुरोध के बाद भारत मलेरिया रोधी हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (hydroxychloroquine) को निर्यात की अनुमति दे दी है। दरअसल हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन मलेरिया के मरीजों के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवा है। इसका इस्तेमाल गठिया के इलाज के लिए भी किया जाता है। कोरोना वायरस के चलते इस दवा की मांग में अचानक उछाल आया है।

Next Stories
1 डेटा से सबक लेकर नीति बनाए सरकार, सिर्फ लॉकडाउन से नहीं मरेगा कोरोना’, WHO की चीफ साइंटिस्ट ने केंद्र को चेताया
2 पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन उल्लंघन! सख्ती से पालन पर गृह मंत्रालय ने फिर लिखा ममता सरकार को खत
3 13 दिन में 18 गुना बढ़े तमिलनाडु में कोरोना मरीज, देखें- तेरह दिन में दस राज्यों की कैसे बदली तस्वीर और ग्राफ
ये पढ़ा क्या?
X