ताज़ा खबर
 

कोरोनाः ताजा केसों में से 74.15% मामले 10 सूबों से- केंद्र; कोर्ट बोला- ये लहर नहीं, सुनामी है

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार को बताया गया कि कोविड-19 के दैनिक नए मामलों में से 74.15 फीसदी मामले महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और दिल्ली समेत कुल दस राज्यों से हैं।

covid, coronavirusकोर्ट ने कहा कि जिसे हम वेव समझ रहे हैं वह दरअसल सुनामी है। (पीटीआई)।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार को बताया गया कि कोविड-19 के दैनिक नए मामलों में से 74.15 फीसदी मामले महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और दिल्ली समेत कुल दस राज्यों से हैं। मंत्रालय ने बताया कि महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, केरल, गुजरात, तमिलनाडु, राजस्थान, बिहार और पश्चिम बंगाल समेत 12 राज्यों में संक्रमण के दैनिक मामलों में वृद्धि देखी जा रही है। इस बीच कोविड-19 के बढ़ते मामलों पर दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा, ‘ हम इसे लहर कह रहे हैं लेकिन यह वास्तव में सुनामी है।’

उल्लेखनीय है कि देश में एक दिन में कोविड-19 के 3,46,786 नए मामले सामने आने के साथ संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,66,10,481 पर पहुंच गए जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या 25 लाख से अधिक हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों में यह जानकारी दी गई। इन आंकड़ों के मुताबिक एक दिन में 2,624 संक्रमितों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 1,89,544 हो गई है। मंत्रालय ने एक वक्तव्य में कहा, ‘‘देश में सामने आए संक्रमण के कुल मामलों में से 74.15 फीसदी महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, केरल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात और राजस्थान से हैं।’’ उपचाराधीन 66.66 फीसदी मरीज महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, राजस्थान, गुजरात और केरल से हैं। मंत्रालय ने बताया कि देश में लोगों को कोविड-19 की 13.83 करोड़ से अधिक खुराकें दी जा चुकी हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली के तुगलकाबाद इंस्टीट्यूशनल एरिया में स्थित बत्रा अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने के कुछ ही मिनट के भीतर दिल्ली सरकार ने ऑक्सीजन की आपात आपूर्ति की। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। अस्पताल के कार्यकारी निदेशक सुधांशु वैंकट ने बताया कि अस्पताल में सुबह करीब नौ बजे ऑक्सीजन खत्म हो गई थी।

उन्होंने बताया, ‘‘अभी-अभी, दिल्ली सरकार की ओर से हमारे यहां ऑक्सीजन की आपात आपूर्ति की गई है। यह करीब डेढ़ घंटे तक चलेगी। हमारे यहां का आपूर्तिकर्ता फोन का जवाब नहीं दे रहा है।’’ अस्पताल में करीब 350 मरीज भर्ती हैं जिनमें से 265 कोरोना वायरस से पीड़ित हैं तथा 30 मरीज आईसीयू में हैं।

वहीं, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के बीच शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार को प्रचार और अनावश्यक परियोजनाओं पर खर्च करने की बजाय टीके, ऑक्सीजन तथा अन्य स्वास्थ्य सेवाओं पर ध्यान देना चाहिए।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘सद्भाव से केंद्र सरकार से अपील है कि वह पीआर व अनावश्यक परियोजनाओं पर खर्च करने की बजाय टीका, ऑक्सीजन व अन्य स्वास्थ्य सेवाओं पर ध्यान दे।’’ कांग्रेस नेता ने सरकार को आगाह करते हुए कहा, ‘‘आने वाले दिनों में ये संकट और भी गहराएगा। इससे निपटने के लिए देश को तैयार करना होगा। वर्तमान दुर्दशा असहनीय है!’’ इससे एक दिन पहले, राहुल गांधी ने सेंट्रल विस्टा परियोजना को लेकर सवाल खड़े किए थे।

Next Stories
1 कोरोना, लॉकडाउन की मुंबई में मजदूरों पर मार! कैमरे पर रोने लगा प्रवासी, बोला- न खाना, न नौकरी…जाएं कहां?
2 ऑक्सीजन और वैक्सीन के आयात पर कस्टम ड्यूटी से मिलेगी छूट, कोरोना के बढ़ते केसों के बीच मोदी सरकार का अहम फैसला
3 कोरोनाः ‘जुगाड़ तंत्र’ से गाजियाबाद पुलिस ने निकाला भाप लेने का नया तरीका, VIDEO देख बोले लोग- यह न्यू इंडिया है
ये पढ़ा क्या?
X