ताज़ा खबर
 

कानून सिर्फ आम के लिए? फ्लाइट से बेंगलुरू पहुंचे केंद्रीय मंत्री, क्वारंटीन प्रक्रिया से ‘बच’ निकल गए कार से

कर्नाटक की बीएस येदियुरप्पा सरकार ने नियम बनाया हुआ है कि घरेलू उड़ान सेवाएं से महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु, राजस्थान, दिल्ली और मध्य प्रदेश से आने वाले यात्रियों को 7 दिन तक इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन रहना होगा।

SADANANDA GOWDAकैबिनेट मिनिस्टर सदानंद गौड़ा। (एएनआई इमेज)

बेंगलुरू में एनडीए सरकार के कैबिनेट मंत्री कोरोना वायरस लॉकडाउन के नियमों को धता बताते हुए कार से सीधे अपने घर निकल गए। बता दें कि नियमों के तहत उन्हें 7 दिन तक इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन रहना था और उसके बाद सात दिन तक अपने घर में क्वारंटीन रहना था। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या नियम कायदे सिर्फ आम आदमी के लिए ही हैं? खबर के अनुसार, कैबिनेट मंत्री सदानंद गौड़ा एयर इंडिया की फ्लाइट से सोमवार सुबह दिल्ली से बेंगलुरू पहुंचे थे। बेंगलुरूहवाई अड्डे पर पहुंचने पर वह एयरपोर्ट से बाहर निकले और कार में बैठकर सीधे अपने घर निकल गए। जबकि नियमों के मुताबिक उन्हें क्वारंटीन होना था।

कर्नाटक की बीएस येदियुरप्पा सरकार ने नियम बनाया हुआ है कि घरेलू उड़ान सेवाएं से महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु, राजस्थान, दिल्ली और मध्य प्रदेश से आने वाले यात्रियों को 7 दिन तक इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन रहना होगा। इसके बाद व्यक्ति को 7 दिन अपने घर में भी होम क्वारंटीन रहने के निर्देश दिए गए हैं।

वहीं जब इस बारे में कैबिनेट मंत्री सदानंद गौड़ा से बात की गई तो उन्होंने भी इस पर अपनी सफाई दी है। उन्होंने कहा कि ‘गाइडलाइंस सभी नागरिकों पर लागू होती हैं लेकिन इनमें उन लोगों को कुछ छूट भी दी गई हैं, जो अहम जिम्मेदारियां निभा रहे हैं। गौड़ा ने कहा कि वह एक मंत्री हैं और फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्री की जिम्मेदारी उठा रहे हैं। यदि दवाईयों की सप्लाई में या किसी अन्य चीज में दिक्कत आएगी तो डॉक्टर्स मरीजों के लिए कुछ नहीं कर सकते। यह सरकार की असफलता नहीं है। यह मेरी जिम्मेदारी है कि देश के हर कोने में दवाईयों की सप्लाई पहुंचे।’

बता दें कि कर्नाटक में कोरोना के 2089 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 1391 एक्टिव केस हैं और 654 मरीज कोरोना से रिकवर हो चुके हैं। राज्य में अब तक संक्रमण के चलते 42 लोगों की मौत हुई है।

Next Stories
1 Lockdown 4.0: बिना हमारी इजाजत अब कोई राज्‍य नहीं रख सकता यूपी के मजदूर- योगी आदित्‍यनाथ का ऐलान
2 लॉकडाउन में मर गया गरीब, भीख में भी नहीं मिले अंतिम संस्‍कार के पैसे तो घर में ही कर दिया दफन
3 Lockdown 4.0: फ्लाइट सीट विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने किया साफ- ‘हमें एयरलाइंस नहीं, लोगों की चिंता है’
ये पढ़ा क्या?
X