ताज़ा खबर
 

गंगा राम अस्पताल के कोविड मरीजों के परिजनों को नहीं दी गई थी ऑक्सीजन कमी की सूचना

भारत में अब तक 13 करोड़ 54 लाख से ज्यादा वैक्सीन डोज लग चुकी है। पिछले 24 घंटे में ही देश में 31 लाख वैक्सीन डोज लगाई गईं।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: April 23, 2021 11:12 PM
PM Narendra Modi, Coronavirusकोरोनावायरस के बढ़ते केसों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को कई अहम बैठकों में हिस्सा ले रहे हैं। (फोटो- ANI)

दिल्ली के सर गंगा राम अस्पताल में 25 मरीजों की मौत के बाद वहां भर्ती कोविड-19 के कुछ मरीजों के परिजनों ने शुक्रवार को कहा कि उनलोगों को अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के बारे में कोई भी सूचना नहीं दी गई थी। हालांकि एजेंसी के सूत्रों ने बताया, ‘‘कम दबाव की ऑक्सीजन’’ मरीजों की मौत का संभावित कारण हो सकती है, लेकिन अस्पताल के चेयरमैन डॉक्टर डी. एस. राणा ने इससे इंकार करते हुए कहा, ‘‘ऐसा कहना गलत होगा।’’ बता दें कि शुक्रवार सुबह करीब 8 बजकर 20 मिनट पर अस्पताल ने कहा कि ‘‘पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के कारण नाजुक हालत में पहुंचे 25 मरीजों की मौत हो गई है।’’

वहीं राजधानी दिल्ली में ऑक्सीजन संकट को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट में शुक्रवार को भी सुनवाई की गई। अदालत में सुनवाई के दौरान इंद्रजीत सिद्धू नाम की महिला ने कहा कि अगर चंडीगढ़ में एक दिन में ऑक्सीजन प्लांट लग सकता है तो दिल्ली में ऐसा क्यों नहीं हो सकता है। इसपर दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार को जवाब देने को कहा है। हालांकि दिल्ली सरकार ने कहा है कि हम अगली सुनवाई में हाईकोर्ट के सामने अपने पक्ष को रखेंगे। बता दें कि दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी की वजह से कई अस्पतालों ने मरीजों को अपने यहां भर्ती करना बंद कर दिया है।  

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में कहा कि केंद्र सरकार पूरी ताकत से राज्यों को ऑक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित कराने में जुटी है। उन्होंने कहा कि इसके लिए रेलवे और एयरफोर्स की भी मदद ली जा रही है, ताकि ऑक्सीजन पहुंचाने में लगने वाला समय कम किया जा सके और मेडिकल ऑक्सीजन की कमी झेल रहे अस्पतालों को जल्द इसे मुहैया कराया जा सके। इस बीच पीएम ने यह भी कहा कि राज्यों को सुनिश्चित करना चाहिए कि किसी अन्य राज्य का टैंकर न तो रोका जाए और न ही फंसाया जाए।

इससे पहले पीएम के साथ बैठक में सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी के साथ वैक्सीन के दामों में अंतर का मुद्दा उठाया था। उन्होंने कहा कि पूरे देश में वैक्सीन का एक ही दाम होना चाहिए। इसके ठीक बाद छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने भी केंद्र और राज्यों को मिलने वाली वैक्सीन की कीमतों में फर्क की बात की। साथ ही उन्होंने कहा कि 1 मई से 18 साल के ऊपर के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगनी है। ऐसे में केंद्र सरकार को ऐक्शन प्लान मुहैया करा कर बताना चाहिए कि वह कैसे राज्यों को टीके भिजवाएगी।

इसी बीच भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के वैज्ञानिकों ने अपने गणितीय मॉडल के आधार पर अनुमान लगाया है कि भारत में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर 11 से 15 मई के बीच चरम पर होगी और उस समय देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 33 से 35 लाख तक पहुंच सकती है और इसके बाद मई के अंत तक मामलों में तेजी से कमी आएगी।

गौरतलब है कि देश में लगातार तीसरे दिन देश में नए केसों और मौतों का रिकॉर्ड बना है। पिछले 24 घंटे में भारत में कोरोना के 3 लाख 32 हजार 730 नए केस सामने आए हैं। वहीं अब तक की सबसे ज्यादा 2263 मौतें हुई हैं। देश में अब एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 24 लाख के पार हो गई है।

Next Stories
1 शशि थरूर फेक न्यूज का हुए शिकार! सुमित्रा महाजन को दे बैठे श्रद्धांजलि, ट्रोल; बाद में हटाया ट्वीट
2 अस्पताल के बाहर फूट फूटकर रोई लड़की, बोली- मोदी शाह से पूछना चाहती हूं, यहां लोग मर रहे और तुम रैली कर रहे
3 कोरोनाः मुंबई का शख्स suv बेच फ्री ऑक्सीजन सप्लाई का कर रहा काम, सोशल मीडिया पर मिल रही शाबाशी
यह पढ़ा क्या?
X