ताज़ा खबर
 

देश में बनी कोरोना वैक्सीन पर अखिलेश यादव-शशि थरूर ने जताई चिंता, तो केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने लगा दी क्लास

भारत में वैक्सीनेशन के लिए 82 लाख साइट हैं, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग की अहम जरूरत के साथ इनमें से कई ठीक नहीं हैं।

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: Jan 03, 2021 5:20:45 pm
सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्रा जेनेका की वैक्सीन की करोड़ो डोज तैयार भी कर ली हैं। (फोटो- Reuters)

भारत में कोरोनावायरस के केस बढ़ने के साथ अब वैक्सीन का इंतजार खत्म हो गया है। भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल (DCGI) ने रविवार को सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा उत्पादित की जा रही ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्रा जेनेका और भारत बायोटेक की वैक्सीन को मंजूरी दे दी है। मीडिया ब्रीफिंग के दौरान DCGI के अफसर ने बताया कि जायडस कैडिला की वैक्सीन भी ट्रायल्स में काफी आगे है और उसे जल्द ही तीसरे फेज के लिए मंजूरी दी जा सकती है।

इस बीच कांग्रेस नेता शशि थरूर से लेकर जयराम रमेश ने भारत बायोटेक की देसी वैक्सीन को मंजूरी मिलने पर चिंता जताई। शशि थरूर ने कहा कि कोवैक्सिन ने अभी फेज-3 के ट्रायल पूरे नहीं किए हैं, ऐसे में इसे मंजूरी देना चिंताजनक हो सकता है। डॉक्टर हर्षवर्धन को इस पर स्पष्टीकरण देना चाहिए। पूरे ट्रायल खत्म होने तक इसके इस्तेमाल से भी बचना चाहिए। भारत इस दौरान एस्ट्रा जेनेका के इस्तेमाल से शुरुआत कर सकता है। इससे पहले सपा नेता अखिलेश यादव ने भी वैक्सीन पर चिंता जताते हुए कहा था कि वे भाजपा की वैक्सीन नहीं लगवाएंगे।

हालांकि, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने थरूर और अखिलेश यादव को घेरते हुए ट्वीट में कहा कि हमारे निंदक जयराम, थरूर और अखिलेश अपने पूरे रूप में हैं। वे अब भारत में बनी दो वैक्सीन को डीसीजीआई की मंजूरी मिलने से भी नाखुश हैं। जाहिर है कि वे अब पूर्ण तरह से राजनीतिक हाशिए पर जाने के रास्ते पर हैं।

इस पहले वैक्सीन को मंजूरी मिलने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बधाई दी। जहां पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों की मेहनत की सराहना की, वहीं WHO की दक्षिण-पूर्व एशिया की क्षेत्रीय निदेशक डॉक्टर पूनम खेत्रपाल ने कहा कि संगठन भारत की कोरोना वैक्सीन को आपात मंजूरी देने के फैसले का स्वागत करता है।

Live Blog

Highlights

    16:47 (IST)03 Jan 2021
    सरकार ने एक दिन पहले ही कराया था ड्राय रन

    बता दें कि टीकों को मंजूरी देने के लिए बनाए गए सरकार के एक्सपर्ट पैनल ने शुक्रवार को सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा बनाई जा रही ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी-एस्ट्रा जेनेका की वैक्सीन को पास कर दिया। शनिवार को ही इस पैनल ने स्वदेशी भारत बायोटेक की वैक्सीन को भी मंजूरी दे दी। एक दिन पहले ही सरकार ने कोरोनावायरस वैक्सीन आम जनता तक पहुंचाने के लिए ड्राय रन करवाया था। सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में हुए इस टेस्ट में 125 जिलों में स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों को परखा गया, इसके लिए 286 सेशन साइट्स भी बनाई गईं।

    15:44 (IST)03 Jan 2021
    20 मंत्रालय और 23 सरकारी विभाग लोगों तक पहुंचाएंगे कोरोना वैक्सीन

    माना जा रहा है कि अगले एक से दो हफ्तों में यह वैक्सीन भारत के बाजारों में उपलब्ध हो सकती हैं। इस बीच बताया गया है कि कोरोनावायरस की वैक्सीन देशभर में पहुंचाने में स्वास्थ्य मंत्रालय के अलावा 19 मंत्रालय और 23 अलग-अलग विभाग अहम भूमिका निभाएंगे। स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपनी SOP में कहा है कि राष्ट्रीय, राज्य, जिला और ब्लॉक स्तर पर सहयोग के लिए मैकेनिज्म तैयार कर लिया गया है।

    बताया गया है कि कम से कम चार विभाग- शहरी विकास, राजस्व, लोक निर्माण विभाग और पब्लिक हेल्थ इंजीनियरिंग को कोरोनावायरस वैक्सीन साइट की पहचान के निर्देश दे दिए गए हैं। यूं तो भारत में वैक्सीनेशन के लिए 82 लाख साइट हैं, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग की अहम जरूरत के साथ इनमें से कई ठीक नहीं हैं।

    15:35 (IST)03 Jan 2021
    केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दी वैक्सीन मंजूरी पर बधाई

    केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक की वैक्सीन को DCGI की ओर से मंजूरी दिए जाने के फैसले पर खुशी जताई। शाह ने कहा, "मैं सभी मेहनती वैज्ञानिकों को सलाम करता हूं, जिन्होंने भारत को गर्व महसूस कराया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को भी बधाई, जिन्होंने भारत को कोरोनावायरस से मुक्त रखने का बीड़ा उठाया है।"

    15:16 (IST)03 Jan 2021
    कोरोनावायरस वैक्सीन को मंजूरी मिलने का मायावती ने किया स्वागत

    बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने कोरोनावायरस वैक्सीन को मंजूरी मिलने के फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने अपने ट्विटर पर लिखा, "अति-घातक कोरोनावायरस महामारी को लेकर आए स्वदेशी वैक्सीन (टीके) का स्वागत व वैज्ञानिकों को बहुत-बहुत बधाई। साथ ही, केन्द्र सरकार से विशेष अनुरोध भी है कि देश में सभी स्वास्थ्यकर्मियों के साथ-साथ सर्वसमाज के अति-गरीबों को भी इस टीके की मुफ्त व्यवस्था की जाए तो यह उचित होगा।"

    14:51 (IST)03 Jan 2021
    वैक्सीन पर फैली अफवाहों पर DCGI ने दिया बयान

    सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक की वैक्सीन को सीमित आपात मंजूरी देने के बाद DCGI ने टीके के बारे में फैलाई जा रही अफवाहों पर जवाब दिया। उन्होंने कहा कि वैक्सीन से नपुंसकता फैलने की बातें एकदम बकवास हैं। उन्होंने कहा कि अगर हमें वैक्सीन को लेकर जरा भी चिंता होती तो वे इसके इस्तेमाल की इजाजत नहीं देते। उन्होंने कहा कि वैक्सीन लेने के बाद हल्का बुखार, सरदर्द, एलर्जी जैसी मामूली दिक्कतें हो सकती है।

    14:21 (IST)03 Jan 2021
    जिसने अपने पिता-चाचा की नहीं सुनी, वो हमारी क्या सुनेगा, नरोत्तम मिश्रा का अखिलेश यादव पर तंज

    मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अखिलेश यादव के उस बयान पर तंज कसा है, जिसमें उन्होंने कोरोना वैक्सीन को भाजपा का टीका बताते हुए इसे लगवाने से इनकार कर दिया। मिश्रा ने कहा कि हम तो उन्हें भटका हुआ युवा भी नहीं कह सकते। जब उन्होंने अपने पिता और चाचा की नहीं सुनी, तो वे देश की क्यों सुनेंगे। ये तुष्टीकरण की नीति है। वैक्सीन के बारे में कोई अफवाह फैलाना बिल्कुल भी ठीक नहीं।

    13:56 (IST)03 Jan 2021
    स्वास्थ्य मंत्री बोले- वैक्सीन का इंतजार आखिर खत्म

    स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा है कि कोरोनावायरस के खिलाफ पीएम मोदी के नेतृत्व में लड़ाई में यह एक बेहद अहम मोड़ है, जब सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक की वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है। गौरतलब है कि डॉक्टर हर्षवर्धन ने एक दिन पहले ही वैक्सीन के ड्राय रन वाली जगहों का दौरा किया था इसके मुफ्त होने की बात कही थी।

    13:30 (IST)03 Jan 2021
    वैक्सीन लेने पर जमात-ए-इस्लामी का यू-टर्न

    दुनियाभर में कोरोनावायरस के बढ़ते केसों के बीच लोगों में वैक्सीन को लेकर संशय बढ़ता जा रहा है। हाल ही में भारत समेत कई मुस्लिम देशों के संगठनों और विद्वानों ने दावा किया था कि कोरोना की वैक्सीन में कुछ ऐसे पदार्थ भी मिले हैं, जो कि इस्लाम में हराम हैं। ऐसे में वैक्सीन लगवाने की इजाजत नहीं दी जा सकती। हालांकि, अब भारत के मुस्लिम संगठन जमात-ए-इस्लामी (हिंद) ने यू-टर्न लेते हुए कहा है कि आपात मौकों पर अगर सही पदार्थों वाली वैक्सीन मुहैया नहीं है, तो इंसान की जान बचाने के लिए हराम पदार्थों वाली वैक्सीन लगवाई जा सकती है। पढ़ें पूरी खबर...

    13:03 (IST)03 Jan 2021
    कोरोना के नए स्ट्रेन से जीतना बहुत मुश्किल: स्टडी में खुलासा

    दुनियाभर में कोरोनावायरस के बढ़ते केसों के बीच ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका और कुछ अन्य देशों में पिछले कुछ दिनों में संक्रमण के केस काफी तेजी से बढ़े हैं। बताया गया है कि इसकी एक वजह कोरोनावायरस का बदला हुआ रूप है, जो कि पुराने रूप से कहीं ज्यादा मजबूत और संक्रामक है। अब एक नई स्टडी में सामने आया है कि अगर कोरोना की नई स्ट्रेन का म्यूटेशन बरकरार रहता है, तो इस महामारी नियंत्रित करना काफी मुश्किल हो जाएगा। पढ़ें पूरी खबर...

    12:38 (IST)03 Jan 2021
    अदार पूनावाला बोले- जोखिम का फल आखिरकार मिल गया

    सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ आदर पूनावाला ने ट्वीट किया, ‘‘सभी को नववर्ष की मुबारकबाद। सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया ने टीके का भंडार जमा करके जो जोखिम लिया, उसका अंतत: फल मिल गया है। भारत का पहला कोविड-19 टीका ‘कोविशील्ड’ स्वीकृत, सुरक्षित, प्रभावी और आने वाले सप्ताहों में टीकाकरण के लिहाज से तैयार है।’’

    12:09 (IST)03 Jan 2021
    बकवास हैं वैक्सीन से नपुंसकता आने की खबरेंः DCGI

    ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) वीजी सोमानी ने रविवार को सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक की वैक्सीन को मंजूरी देने के बाद मीडिया से इसकी सुरक्षा पर बात की। सोमानी ने कहा कि हम कभी भी ऐसी वैक्सीन को मंजूरी नहीं देंगे, जिसमें सुरक्षा को लेकर थोड़ा भी संशय हो। ये वैक्सीन 100 फीसदी सुरक्षित हैं। सभी वैक्सीन में हल्का बुखार, दर्द या एलर्जी की बात कॉमन है, लेकिन वैक्सीन से नपुंसकता आने की बातें बिल्कुल बकवास हैं।

    11:49 (IST)03 Jan 2021
    DCGI ने कहा- वैक्सीन के ट्रायल के दौरान ब्रिटेन के वैरिएंट को दी गई प्राथमिकता

    DCGI ने कहा है कि भारत बायोटेक का क्लीनिकल ट्रायल पूरे देश में जारी है और इसमें कोरोना के ब्रिटेन वैरिएंट के खतरे को प्राथमिकता दी जा रही है। बताया गया है कि भारत बायोटेक 26 हजार और लोगों पर अभी अपनी वैक्सीन का ट्रायल करेगा। बता दें कि ड्रग कंट्रोलर ने सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सिन को आपात मंजूरी दी है।

    11:23 (IST)03 Jan 2021
    पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों का शुक्रिया जताया

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा बनाई जा रही एस्ट्रा जेनेका और भारत बायोटेक की वैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद ट्विटर पर वैज्ञानिकों को बधाई दी। पीएम ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में यह एक बड़ा टर्निंग पॉइंट है। DCGI की ओर से सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक की वैक्सीन को मंजूरी मिलना तेजी से स्वस्थ और कोरोना मुक्त देश बनाने की ओर कदम है। हमारे मेहनती वैज्ञानिकों को बधाई। पीएम ने अगले ट्वीट में डॉक्टरों, मेडिकल स्टाफ, साइंटिस्ट, पुलिसकर्मियों, सफाईकर्मियों और कोरोना वॉरियर्स का भी शुक्रिया जताया।

    Image

    10:54 (IST)03 Jan 2021
    बूथ स्तर पर भी बनी है वैक्सिनेशन की योजना: डॉ. हर्षवर्धन

    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा है कि वैक्सिनेशन प्रक्रिया को चुनाव की तरह ही बूथ स्तर तक प्लान किया गया है। उन्होंने बताया कि 719 जिलों में 57 हजार वैक्सिनेटर्स की ट्रेनिंग पूरी हो चुकी है। अब तक कुल 96 हजार वैक्सीन लगाने वालों को पूरी ट्रेनिंग दी जा चुकी है।

    10:24 (IST)03 Jan 2021
    भारत में कोरोनावायरस के 18 हजार से ज्यादा केस मिले, 217 लोगों की मौत

    भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 18 हजार 177 नए मामले दर्ज किए गए। जबकि 217 लोगों की मौत हुई है। इसी के साथ देश में अब तक कुल 1.03 करोड़ केस मिल चुके हैं जबकि 1.49 लाख लोगों की जान जा चुकी है। फिलहाल भारत में रिकवरी रेट 96.2 फीसदी के करीब है। यह हाल तब हैं जब देश में 17 करोड़ सैंपल्स की जांच हो चुकी है।

    09:56 (IST)03 Jan 2021
    अमेरिकाः वैक्सीन नष्ट करने के लिए फार्मासिस्ट गिरफ्तार

    अमेरिका में एक फार्मासिस्ट कोरोना वैक्सीन के 500 से अधिक डोज बर्बाद करने के आरोप में गिरफ्तार। आरोपी के खिलाफ सुरक्षा को खतरे में डालने, डॉक्टर के लिखे प्रिस्क्रिप्शन में मिलावट करने और संपत्ति को क्षति पहुंचाने के लिए मामला दर्ज।

    09:35 (IST)03 Jan 2021
    मेक्सिको: फाइजर की वैक्सीन लगवाने के बाद बीमार हुई डॉक्टर, जांच शुरू

    मेक्सिको में कोरोनावायरस वैक्सीन के असर से जुड़ी एक खबर ने सभी को चौंका दिया है। अधिकारियों का कहना है कि यहां फाइजर-बायोएनटेक की वैक्सीन पाने वाली एक 32 साल की महिला डॉक्टर अचानक से बीमार हो गई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया गया है कि बीमार डॉक्टर को आईसीयू में रखा गया है। उन्हें दवा लेने के बाद सांस लेने में दिक्कत के साथ घबराहट के लक्षण दिखे थे।

    09:09 (IST)03 Jan 2021
    राजस्थान के 13 जिलों में 15 जनवरी तक नाइट कर्फ्यू

    राजस्थान में कोरोना के नए मामले सामने आने के साथ ही राज्य सरकार ने गंभीरता समझते हुए 13 अलग-अलग जिलों में नाइट कर्फ्यू का ऐलान कर दिया। यह 15 जनवरी तक लगा रहेगा। बताया गया है कि जिन शहरों में नाइट कर्फ्यू लगा है, उनमें जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, कोटा, अजमेर, बीकानेर, नागौर, पाली, अलवर, टोंक, भीलवाड़ा, सीकर और गंगानगर शामिल हैं।

    08:47 (IST)03 Jan 2021
    SP नेता बोले- वैक्सीन से आ सकती है नपुंसकता

    समाजवादी पार्टी के नेता आशुतोष सिन्हा ने शनिवार को दावा किया कि लोगों में डर है कि कोरोनावायरस वैक्सीन उनमें नपुंसकता पैदा कर सकती है। सिन्हा ने पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव के उस बयान का भी समर्थन किया, जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री ने भाजपा की वैक्सीन लगवाने से इनकार कर दिया।

    08:25 (IST)03 Jan 2021
    अमेरिकाः अब तक 42 लाख लोगों को मिली कोरोना की वैक्सीन

    अमेरिका में कोरोनावायरस के बढ़ते केसों के बीच वैक्सीन लगाने का काम भी जोर-शोर से किया जा रहा है। अमेरिकी सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (CDC) के मुताबिक, अब तक अमेरिका में कोरोना के दो करोड़ से ज्यादा केस मिल चुके हैं। एक दिन पहले ही देश में 1.68 लाख नए मामले सामने आए, जबकि 2428 नई मौतों के साथ कुल मृतकों की संख्या 3.5 लाख के करीब पहुंच गई। हालांकि, इस बीच कोरोना की 1.30 करोड़ डोज भी अस्पतालों में पहुंचाई जा चुकी हैं, जबकि 42 लाख डोज मरीजों को दी गई हैं।

    Next Stories
    1 गणतंत्र दिवस पर दिल्ली कूच करेगी किसानों की ‘ट्रैक्टर परेड’, वार्ता विफल होने की स्थिति में सरकार को चेतावनी
    2 बारिश, बर्फबारी व कोहरे की चपेट में उत्तर भारत, अगले दो-तीन दिन में दिल्ली सहित आसपास के सभी राज्यों में हल्की बारिश के आसार
    3 अग्रिम मोर्चे के तीन करोड़ कर्मियों को मुफ्त टीका, दिल्ली में पूर्वाभ्यास के दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन का एलान
    ये  पढ़ा क्या?
    X