ताज़ा खबर
 

‘इतना सेक्यूलरिज्म अच्छा नहीं, कहीं कोई थूककर न चला जाय;, ज्वाला गुट्टा ने की एकता की अपील तो ट्रोल्स ने ले लिया निशाने पर

पूर्व भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा ने ट्वीट किया "मजहब नहीं सिखाता, आपस में बैर रखना। हिन्दी हैं हम वतन हैं, हिन्दोस्तां हमारा!!" इसपर ट्विटर यूजर्स उन्हें ट्रोल करने लगे।

पूर्व भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा।

देश में कोरोना वायरस का प्रकोप बहुत तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में सरकार ने देश को लॉकडाउन कर दिया है और सभी लोगों से अपने-अपने घरों में रहने की अपील की है। इस दौरान इस महामारी को कुछ लोग सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे में बहुत से खिलाड़ी और सेलिब्रिटी लोगों से ऐसा ना करने की अपील कर रहे हैं। शनिवार को ऐसा ही कुछ पूर्व भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा ने भी किया। लेकिन उनकी इस अपील पर यूजर्स उन्हें ट्रोल करने लगे।

गुट्टा ने ट्वीट कर लिखा “मजहब नहीं सिखाता, आपस में बैर रखना। हिन्दी हैं हम वतन हैं, हिन्दोस्तां हमारा!!” गुट्टा के इस ट्वीट पर एक ट्रोल ने लिखा “मेडम, इतना भी सेकुलरिस्म अच्छा नही की कोई थूंककर चला जाए और सेकुलरिज्म चाटने पे मज़बूर कर दे।” एक अन्य यूजर ने लिखा “सीरिया में बैर नही बर्बादी किसने सिखाई । वो कोई और नहीं मजहब था ताई।” एक अन्य ट्रोल ने लिखा “शेर लिखने के लिए हिंदी, बाकी टॉप गियर में चलन दो अँग्रेजी।”

गुट्टा ने इससे पहले महिला पहलवान और भाजपा नेता बबीता फोगाट को ट्वीट कर भारत में जामतियों द्वारा कोरोनावायरस को फैलाने को लेकर दिए गए उनके बयान को वापस लेने के लिए कहा था। बबीता ने हाल में एक वीडियो ट्वीट कर कहा था कि मुझे कुछ लोग धमका रहे हैं मैं कोई जाहिरा वसीम नहीं हूँ जो धमकियों से घर पर बैठ जाऊ। मैं बबीता फोगत हु देश के लिए लड़ी हूँ लड़ूँगी। मैंने जो ट्वीट किया वह सही है। तबलीग़ी जमात अब भी कोरोना फैलाने में नंबर 1 पर है। अगर उन्होने इसे नहीं फैलाया होता तो अबतक लॉकडाउन खुल जाता।

Coronavirus in India Live Updates: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़े सभी लाइव अपडेट…. 

इसपर गुट्टा ने ट्वीट में लिखा, “माफ करें बबीता, यह वायरस जाति या धर्म को नहीं देखता है। मैं आपसे अपना बयान वापस लेने का अनुरोध करती हूं। हम लोग खिलाड़ी हैं और हम उस देश का प्रतिनिधित्व करते हैं, जोकि धर्मनिरपेक्ष और बहुत ही सुंदर है। जब हम जीतते हैं तो ये भी खुशियां मनाते हैं और हमारी जीत उनकी भी जीत होती है।”

बता दें देश में कोरोना का संक्रमण तेजी से अपने पैर पसार रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में कोरोना के कुल मरीज 15,712 हो गए हैं। इनमें 12974 एक्टिव केस हैं और 2230 मरीज ठीक हो गए हैं। कोरोना के चलते देश में अब तक 507 लोगों की जान जा चुकी है। वहीं पिछले 24 घंटे के दौरान देश में कोरोना वायरस से 27 लोगों की मौत हुई है और 1334 नए मामले सामने आए हैं। पिछले कुछ हफ्तों ने भारत में कोविद -19 मामलों में तेजी से इजाफा हो रहा है। जिसमें महाराष्ट्र, दिल्ली, तमिलनाडु और मध्य प्रदेश हॉटस्पॉट के रूप में उभर रहे हैं।

जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल । कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Next Stories
1 लॉकडाउन पर MHA की संशोधित गाइडलाइन्स, ई-कॉमर्स कंपनियां गैर जरूरी सामानों की नहीं कर सकेंगी होम डिलीवरी
2 जॉब नेचर में हो सकता है बड़े पैमाने पर बदलाव, नीति आयोग के सीईओ बोले- औद्योगिक क्रांति-4.0 की ओर बढ़ा रहे कदम
3 ‘कोरोना के बहाने मुसलमानों को बनाया जा रहा निशाना’, SC के पूर्व जज मार्कंडेय काटजू ने गिनाए घटनाक्रम, मीडिया पर भी निशाना
ये पढ़ा क्या?
X