ताज़ा खबर
 

‘मुस्लिमों को बलि का बकरा बनाकर कोरोना को हरा नहीं सकते’ ओवैसी का बीजेपी पर तंज; लोगों ने कर दिया ट्रोल

Coronavirus in India: ट्वीट में कहा गया कि 'मुस्लिमों को बलि का बकरा बनाना कोरोना वायरस की दवा नहीं है। ना ही ये पर्याप्त टेस्टिंग का विकल्प हो सकता है।'

असदुद्दीन ओवैसी (फोटो -एएनआई)

Coronavirus in India: देशभर में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप और सोशल मीडिया में फेक न्यूज के प्रसार पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर भाजपा पर निशाना साधा है। ओवैसी ने मंगलवार (7 अप्रैल, 2020) को ट्वीट कर कहा, बिना योजना बनाए लागू किए गए लॉकडाउन और COVID-19 से नौसिखियों की तरह निपटने की कोशिशों की आलोचना से बचने का मिलाजुला प्रयास किया जा रहा है। भाजपा के प्रचारकों को मालूम होना चाहिए कि वो व्हॉट्सऐप फॉरवर्ड के जरिए कोरोना वायरस को नहीं हरा सकते। ट्वीट में आगे कहा गया कि ‘मुस्लिमों को बलि का बकरा बनाना कोरोना वायरस की दवा नहीं है। ना ही ये पर्याप्त टेस्टिंग का विकल्प हो सकता है।’

 

AIMIM सांसद के ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स ने भी प्रतिक्रिया दी है। ट्विटर यूजर नरेन भारती @NarenBharti ने पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हसन निसार के कथित बयान के हवाला देते हुए लिखते हैं, ‘इस्लाम दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा धर्म है, फिर भी हर जगह परेशान हैं। 50 से ज्यादा इस्लामी मुल्क हैं मगर किसी में लोकतंत्र नहीं। विज्ञान नहीं किसी दूसरे मजहब का सम्मान नहीं।’ ट्वीट के जवाब में मेरा भारत महान @mhan_mera लिखते हैं, ‘किसी भी धर्म का शासक हो उसके लिए धर्म कुछ नहीं होता।’

Coronavirus in India LIVE Updates

अतुल विक्रम सिंह @atulsingh_back लिखते हैं, ‘तुम ऐसे क्यों छितराते हो असदुद्दीन।’ देव @devswarup_ लिखते हैं, ‘मदरसा छाप छुटभैये नेताओं से ऐसे ही ट्वीट की उम्मीद की जा सकती है। हजारों वीडियो सोशल मीडिया पर है जिसमे इनके आतं*&^%$ कोरोना फैला रहे है लेकिन फिर ये हैदराबादी नेता उनके पक्ष में ही बात करेगा। मैं सिर्फ हिन्दुओ से कहूंगा ‘घर पर रहो’ बस।’

उल्लेखनीय है कि देश में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। बुधवार (8 अप्रैल, 2020) तक की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 24 घंटे में 750 तक बढ़ गई। यह भारत में एक दिन में संक्रमितों के मिलने का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इसी के साथ देश में पीड़ितों की संख्या 5,194 हो गई है। 149 लोगों की इस बीमारी मौत चुकी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories