ताज़ा खबर
 

मुंबई की धारावी सोसायटी आखिरकार हुई सील, तबलीगी जमात से कनेक्शन की जांच में जुटी BMC

धारावी में जनसंख्या घनत्व बाकी मुंबई के मुकाबले 10 गुना ज्यादा है। यही वजह है कि प्रशासन धारावी में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहा है।

Author Translated By नितिन गौतम मुंबई | Updated: April 3, 2020 10:35 AM
दिल्ली की तब्लीगी जमात से मुंबई के धारावी में कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा। (पीटीआई)

मुंबई के मध्य में 630 एकड़ में फैला आवासीय इलाका धारावी कोरोना वायरस के डर के चलते इन दिनों अपंग सा हो गया है। बता दें कि बुधवार को मुंबई के धारावी में एक 56 वर्षीय व्यक्ति की कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते मौत हो गई। इसके बाद अथॉरिटीज ने पूरे इलाके को सील कर दिया है और जिस इलाके में मौत हुई वहां के करीब 2500 लोगों के घर से बाहर निकलने या किसी के अंदर जाने पर रोक लगा दी है।

बीएमसी इस बात की जांच में भी जुट गई है कि धारावी की इस मौत का संबंध दिल्ली की तब्लीगी जमात से तो नहीं है? बीएमसी के अनुसार, उन्होंने धारावी में चार लोगों की पहचान की है, जिन्होंने दिल्ली में तब्लीगी जमात में शिरकत की। बीएमसी के अधिकारियों को लगता है कि मरने वाला व्यक्ति इन चारों लोगों में से किसी के संपर्क में आया हो सकता है।

दादर सिओन इलाके के असिस्टेंट म्यूनिसिपल कमिश्नर किरण दिघावकर का कहना है कि ‘हम इस बात की जांच कर रहे हैं कि मृतक किस-किस के संपर्क में आया था। फिलहाल धारावी के 4 लोग, जिन्होंने तब्लीगी जमात में शिरकत की, उन्हें सिओन के क्वारेंटिन सेंटर में भेज दिया गया है।’

धारावी में जनसंख्या घनत्व बाकी मुंबई के मुकाबले 10 गुना ज्यादा है। यही वजह है कि प्रशासन धारावी में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहा है। इन्हीं कोशिशों के तहत इलाके में पूरी तरह से लॉकडाउन कर दिया गया है।

धारावी के हाउसिंग कॉम्पेक्स के सचिव चार्ल्स एंथनी का कहना है कि ‘हम धारावी में कोरोना वायरस का संक्रमण की खबर सुनने के बाद से डरे हुए हैं। हमारी सबसे बड़ी चिंता इस बात को लेकर है कि वायरस सोसाइटी के अन्य सदस्यों और धारावी के अन्य हिस्सों में नहीं फैलना चाहिए। अंदाजा लगा सकते हैं कि यदि ऐसा हुआ तो इस घनी जनसंख्या वाले इलाके में क्या हालात होंगे?’

धारावी हाउसिंग कॉम्पलेक्स में 338 फ्लैट और 93 दुकाने हैं। गुरूवार को बीएमसी की टीम ने सोसाइटी में पहुंचकर पूरी सोसाइटी को सैनेटाइज किया और इसके साथ ही जिन जगहों पर पीड़ित गया जैसे उद्यान आदि को भी सैनेटाइज किया गया। बीएमसी ने उन 15 लोगों की भी जांच की है, जो पीड़ित के संपर्क में आए थे।

हाउसिंग सोसाइटी के प्रतिनिधियों का कहना है कि ‘लॉकडाउन के चलते जरूरी सामान जैसे दूध, सब्जियां, दवाईयां आदि की सप्लाई प्रभावित हो रही है। सभी डरे हुए हैं। लोगों से अपील की गई है कि वह घरों में रहें और बीएमसी से मांग की गई है कि वह जरूरी सामान की आपूर्ति सुनिश्चित करे।’

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: जानें-कोरोना वायरस से जुड़ी हर खबर । जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेलकोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 देश में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या हुई 2547, जानिए राज्यों का हाल
2 Corona Virus: PM मोदी ने बताया- नौ बजे वीड‍ियो संदेश जारी करूंगा, पत्रकार ने र‍िप्‍लाई क‍िया- ‘रामायण’ से ओवरलैप करेगा
3 Corona Virus Lock down: ऑटो रिक्शा, टैक्सी और ई-रिक्शा चालकों को पांच हजार रुपए देगी केजरीवाल सरकार