ताज़ा खबर
 

कोरोना : पश्चिम बंगाल ने नहीं की 72 मौतों की गिनती, सबसे ज्यादा डेथ रेट वाला हो जाता राज्य

राष्ट्रीय सीएफआर की बात करें तो वह तीन फीसदी है। भारत में शुक्रवार को 2,367 नए मामले सामने आए। इसके बाद देश में अब तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 37233 हो गई। मरने वालों की संख्या कम से कम 1222 हो गई है।

Author Edited By AALOK SRIVASTAVA नई दिल्ली | Updated: May 2, 2020 8:17 AM
West Bengal 850पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले के गायघाट में बैंक के आगे लाइन में खड़ी महिलाएं। (एक्सप्रेस फोटो- पार्थ पॉल)

पश्चिम बंगाल सरकार ने बताया था कि पिछले रविवार (24 अप्रैल) को उसके राज्य में कोरोना के कारण 11 लोगों की मौत हो गई। राज्य सरकार के मुताबिक, प्रदेश में कोरोना से एक दिन में यह सबसे ज्यादा मौतों की संख्या है। इसके बाद पश्चिम बंगाल में कोरोना से मरने वालों की संख्या 33 हो गई है। राज्य सरकार के मुताबिक, रविवार के बाद उसके यहां कोरोना से कोई मौत नहीं हुई है। हालांकि, अब यह अहम बात सामने आई है कि पश्चिम बंगाल में कोरोनावायरस के कारण 72 और लोगों की जानें गईं, लेकिन राज्य सरकार ने इनकी गिनती नहीं की।

इसके पीछे राज्य सरकार की ओर से नियुक्त एक विशेषज्ञ समिति का तर्क है कि वे 72 लोग पहले से ही गंभीर बीमारियों से जूझ रहे थे। ऐसे में उनकी मृत्यु के लिए नोवल कोरोनावायरस को जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सकता। उनकी गिनती कोरोना से मरने वालों में नहीं की जा सकती।

शुक्रवार को राज्य सरकार के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में कोरोना के 623 एक्टिव मामले थे। 139 बीमारी से उबर चुके हैं और उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई, जबकि 33 लोगों की मौत हुई है। इस तरह पश्चिम बंगाल में अब तक कोरोना के कुल 795 मामले सामने आए। चूंकि 72 अन्य मृतक भी कोरोना पॉजिटिव थे, इसलिए उन्हें न तो एक्टिव मामलों में रखा जा सकता है और न ही ऐसे लोगों में गिनती की जा सकती है जिन्हें छुट्टी दे दी गई है। इसका मतलब है कि राज्य में शुक्रवार शाम तक कम से कम 867 नोवल कोरोनावायरस के मामलों की पुष्टि हुई।

कोरोना पॉजिटिव 867 में से 105 लोगों की मौत की पुष्टि पश्चिम बंगाल में केस-फैटलिटी अनुपात (सीएफआर या साधारण भाषा में कहें तो डेथ रेट) 12 से ज्यादा हो जाएगा। भारत में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है। वहां अब तक 11506 मामले सामने आए हैं और 485 मौतें हुई हैं। महाराष्ट्र का सीएफआर सिर्फ 4.21 फीसदी है। इसी तरह, गुजरात में 4721 मामले सामने आए हैं। इनमें से 236 मौत हुई है। उसका सीएफआर भी 5 से कम है।

राज्य (शीर्ष-10) कुल मामले नए मामले कुल मौतें डेथ रेट (%)
महाराष्ट्र 11506 1008 485 4.21
गुजरात 4721 313 236 4.99
दिल्ली 3738 223 61 1.63
मध्य प्रदेश 2715 90 145 5.34
राजस्थान 2642 58 61 2.3
तमिलनाडु 2526 203 28 1.1
उत्तर प्रदेश 2328 117 42 1.8
आंध्र प्रदेश 1463 60 33 2.25
तेलंगाना 1044 6 28 2.68
पश्चिम बंगाल 795 (867) 37 33 (105) 4.15 (12.11)

यदि राष्ट्रीय सीएफआर की बात करें तो वह 3.28 फीसदी है। भारत में शुक्रवार को 2,367 नए मामले सामने आए। इसके बाद देश में अब तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 37233 हो गई। मरने वालों की संख्या कम से कम 1222 हो गई है। वैज्ञानिक भाषा में सीएफआर को समझें तो उसकी सटीक परिभाषा जनसंख्या में संक्रमित लोगों की कुल संख्या से होने वाली मौतों का अनुपात है, न कि केवल संक्रमित लोगों की संख्या है।

भारत जैसे देश में पूरी आबादी का परीक्षण कभी नहीं किया जा सकता है। ऐसे में संक्रमण की कुल संख्या का कोई भी विश्वसनीय आंकड़ा आमतौर पर महामारी खत्म होने के बाद ही सामने आता है। हालांकि, यह संख्या हमेशा उन लोगों की संख्या से अधिक होती है, जोकि पॉजिटिव पाए जाते हैं।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें:
कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा
जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए
इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं
क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Next Stories
1 कोरोना योद्धाओं का आभार जताने के लिये सशस्त्र बल करेंगे फ्लाई पास्ट, अस्पतालों पर बरसाएंगे फूल
2 Video: ओवैसी के पार्षद मुर्तजा अली ने लाइव शो में एंकर को धमकाया, मुझे गुंडा मत कहो अपनी जुबान पर लगाम दो
3 MHA Lockdown 3.0 Guidelines: रेड जोन को राहत नहीं; ऑरेंज जोन में कैब को मंजूरी, ‘2 गज की दूरी’ के साथ ग्रीन जोन में खुलेगी शराब की दुकानें
यह पढ़ा क्या?
X