ताज़ा खबर
 

खुलासा: शाहीन बाग भी पहुंचे थे तब्लीगी जमात के लोग, दिल्ली में फट सकता है कोरोना संक्रमण का बम, एजेंसियां अलर्ट

दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में 13-15 मार्च के बीच तब्लीगी जमात ने मरकज का आयोजन किया था, इसमें शामिल कुछ लोगों के शाहीन बाग के प्रदर्शन में जाने की बात सामने आई है।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Published on: April 3, 2020 1:13 PM
delhiदिल्ली के निजामुद्दीन में हुई तब्लीगी जमात के लोग, जिनमें से कई कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। (पीटीआई फोटो)

दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के कार्यक्रम से बड़ी संख्या में लोग कोरोनावायरस से संक्रमित पाए गए हैं। अब इसी बीच कुछ रिपोर्ट्स में आशंका जताई जा रही है कि तब्लीगी जमात के कुछ लोग शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों के बीच पहुंचे थे। बताया गया है कि अंडमान-निकोबार में कोरोनावायरस से संक्रमित एक व्यक्ति शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन की जगह पर पहुंचा था। अधिकारियों ने अभी तक मरीज का बयान दर्ज नहीं किया है। हालांकि, उसके साथ शाहीन बाग गए अन्य लोगों की तलाश शुरू कर दी गई है। अफसर मोबाइल डेटा और ट्रैवल हिस्ट्री के जरिए ऐसे लोगों की तलाश कर रहे हैं।

गौरतलब है कि तब्लीगी जमात के 13-15 मार्च के कार्यक्रम में विदेशियों की मौजूदगी का खुलासा होने के बाद सरकार हरकत में आई थी। 30 मार्च से 1 अप्रैल तक लगभग 36 घंटे चले ऑपरेशन में दिल्ली पुलिस ने निजामुद्दीन का वह इलाका खाली कराया था, जहां तब्लीगियों ने मरकज का आयोजन किया था। इसके अलावा इस कार्यक्रम में शामिल लोगों को ढूंढना भी शुरू कर दिया था।

सरकार की इन कोशिशों का ही नतीजा है कि देशभर में अब तक तब्लीगी जमात के कार्यक्रम को अटेंड करने वाले सैकड़ों लोगों को क्वारैंटाइन किया जा सका है। तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और दिल्ली में तो मरकज में शामिल हुए कई लोगों को कोरोनावायरस पॉजिटिव पाया गया। वहीं, इस कार्यक्रम को अटेंड करने के बाद अलग-अलग जगहों पर छिपे विदेशियों के वीजा रद्द कर उनके खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

निजामुद्दीन में हुए मरकज के खुलासे के बाद देशभर में लगातार कोरोना के केस बढ़ रहे हैं। उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और बिहार समेत कई राज्यों ने कहा है कि दिल्ली में मरकज में शामिल होने वाले तब्लीगी जमात के कई सदस्य अभी राज्य में नहीं लौटे हैं। ऐसे में उन्हें ढूंढने में सरकार की परेशानी बढ़ी है। दूसरी तरफ उनके संपर्क में आए लोगों का पता लगाना भी मुश्किल साबित हो सकता है। शाहीन बाग में भी प्रदर्शन के दौरान अलग-अलग दिनों पर कई हजार लोग जुट चुके हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories