ताज़ा खबर
 

दुकानें खोलने पर शहर से लेकर गांव तक असमंजस, MHA की गाइडलाइंस लोगों को नहीं आ रहा समझ

गृह मंत्रालय का यह आदेश अंग्रेजी में है जिसे लेकर वरिष्ठ पत्रकार अखिलेश शर्मा ने तंज़ कसा है। शर्मा ने ट्वीट कर कहा कि यह आदेश ऐसी कानूनी भाषा में है कि अंग्रेज़ों को भी समझ में नहीं आयेगा। इसपर यूजर्स भी मजे लेने लगे और एक यूजर ने लिखा कि ये आदेश शायद शशि थरूर ने लिखा होगा।

गृह मंत्रालय का यह आदेश अंग्रेजी में है जिसे लेकर वरिष्ठ पत्रकार अखिलेश शर्मा ने तंज़ कसा है।

देश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच केंद्र सरकार ने शुक्रवार को निगम क्षेत्रों से बाहर वाले इलाके में स्थित बाजार परिसरों की दुकानों को खोलने की इजाजत दी है। गृह मंत्रालय ने आदेश जारी किया है कि सभी संबंधित राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में जरूरी सावधानियों को ध्यान में रखते हुए 50 प्रतिशत कार्यबल के साथ दुकान और प्रतिष्ठान खोले जा सकते हैं। गृह मंत्रालय का यह आदेश अंग्रेजी में है और इसमें कानूनी भाषा का भी इस्तेमाल किया गया है। जिसके चलते लोगों को ये गाइडलाइंस सही से समझ में नहीं आ रही है और दुकानें खोलने पर शहर से लेकर गांव तक लोग असमंजस में हैं।

इस गाइडलाइंस लेकर वरिष्ठ पत्रकार अखिलेश शर्मा ने भी तंज़ कसा है और सोशल मीडिया पर आदेश का मज़ाक बनाते हुए एक ट्वीट किया है। आदेश की एक कॉपी ट्विटर पर शेयर करते हुए शर्मा ने लिखा “एक तो अंग्रेज़ी में और वो भी ऐसी कानूनी भाषा में कि अंग्रेज़ों को भी समझ में न आए। ये गृह मंत्रालय का आदेश है जो किसी के पल्ले नहीं पड़ रहा। कौन सी दुकान खुलेगी, कहाँ खुलेगी? कब खुलेगी? ऐसे समय जब सब परेशान हैं, सरकार पहेलियाँ बुझाने में लगी है। राज्यों को नहीं पता क्या करना है।”

इसपर यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रियाएं देना शुरू कर दी। एक ने लिखा “लग रहा है यह आदेश शशि थरूर ने टाइप किया है।” एक अन्य यूजर ने लिखा “अंग्रेज़ चले गए अंग्रेजी छोड़ गए।” एक ने इस आदेश की आलोचना करते हुए लिखा “सर इस देश के सिस्टम का भगवान मालिक है । अब होगा भ्रष्टाचार और इंस्पेक्टर राज का नंगा नाच।”

Coronavirus in India Live Updates:  यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़े सभी लाइव अपडेट….

गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को आदेश जारी करते हुए 50 प्रतिशत कार्यबल के साथ दुकान और प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति दे दी है। साथ ही कहा कि ऐसे प्रतिष्ठानों को सोशल डिस्टेंसिंग जैसी सावधानियों का पालन करना होगा। एमएचए की तरफ से कहा गया है कि यह आदेश कंटेनमेंट जोन में लागू नहीं होगा। साथ ही मल्टी ब्रांड मॉल सहित अन्य बड़े प्रतिष्ठानों को भी खोलने की अनुमती नहीं दी गयी है।

बता दें देश में कोरोना वायरस बहुत तेजी से अपने पैर पसार रहा है। शनिवार को 57 नई मौतों के साथ कोरोना से जान गंवाने वालों का आंकड़ा 775 पहुंच गया। इसके अलावा देशभर में कोरोना के कुल मामले 24,506 हो गए हैं। इनमें 18,668 एक्टिव केस हैं, जबकि 5063 लोग ठीक हो चुके हैं या फिर देश से जा चुके हैं। इसी के साथ देश में फिलहाल रिकवरी रेट 20% से ऊपर पहुंच गया है। देश में कोरोनावायरस से बिगड़ती इस स्थिति पर शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय में मंत्री समूह की बैठक चल रही है।

जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल । कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘ताली, थाली बजाकर कोरोना भगाओगे? मूर्खता का रिकॉर्ड तोड़ दिया’, बोले बीजेपी विधायक; ऑडियो वायरल हुआ तो पार्टी ने थमा दिया नोटिस
2 केंद्रीय कर्मियों के महंगाई भत्ते पर रोक लगाने का पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने किया विरोध, बोले- ‘सख्त होने का ये समय नहीं’
3 सात राज्यों में कोरोना के दो तिहाई केस, राष्ट्रीय औसत से भी तेज है संक्रमण बढ़ने की रफ्तार, देखें- पूरी लिस्ट
आज का राशिफल
X