ताज़ा खबर
 

‘Asian of the Year’ सम्मान के लिए चुने गए अदार पूनावाला, SII के हैं मुख्य कार्यकारी अधिकारी

‘द स्ट्रेट्स टाइम्स’ के मुताबिक इन्हें ‘द वायरस बस्टर्स’ का विशेषण दिया गया है जो अपनी क्षमतानुसार कोरोना वायरस महामारी को खत्म करने के प्रयास में जुटे हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: December 5, 2020 10:36 AM
Adar Poonawalla, SII, Coronavirus, COVID-19, Coronavirus Vaccineसीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला। (फाइल फोटोः टि्टर)

सिंगापुर के दैनिक ‘द स्ट्रेट्स टाइम्स’ ने दुनिया के सबसे बड़े टीका निर्माता संस्थान सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अदार पूनावाला समेत छह लोगों का नाम ‘एशियन्स ऑफ द ईयर’ सम्मान के लिए चुना है। इस वर्ष कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में योगदान देने वालों को इस सम्मान के लिए चुना गया है।

पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और ब्रिटिश-स्वीडन कंपनी एस्ट्राजेनेका के साथ मिलकर कोविड-19 के टीके ‘कोविशिल्ड’ को विकसित करने का काम कर रहा है और इसके लिए भारत में टीके के ट्रायल किए जा रहे हैं।

सूची में पूनावाला के अतिरिक्त जो पांच अन्य लोग शामिल हैं, वे हैं चीन के अनुसंधानकर्ता झांग योंगझेन जिन्होंने महामारी के जिम्मेदार सार्स-सीओवी-2 के पहले पूरे जिनोम का पता लगाने वाले दल का नेतृत्व किया, चीन के मेजर जनरल चेन वई, जापान के डॉ. युईची मोरिशिता तथा सिंगापुर के प्रोफेसर आई इंग आंग।

ये सभी वे लोग हैं जो वायरस के खिलाफ टीका बनाने में आगे हैं। सूची में दक्षिण कोरिया के व्यवसायी सिओ जंग-जिन का भी नाम है, उनकी कंपनी भी टीके के निर्माण और उसे उपलब्ध करवाने का काम करेगी।

‘द स्ट्रेट्स टाइम्स’ के मुताबिक इन सभी लोगों को ‘द वायरस बस्टर्स’ का विशेषण दिया गया है जो अपनी क्षमतानुसार कोरोना वायरस महामारी को खत्म करने के प्रयास में जुटे हैं।

अदार पूनावाला के पिता सायरस पूनावाला ने एसआईआई की स्थापना 1966 में की थी। 39 वर्षीय आदर ने संस्थान की कमान पूरी तरह से 2011 में संभाली। पूनावाला ने कहा कि उनका संस्थान गरीब देशों की टीके तक पहुंच बनाने में मदद कर रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘Caravan’ के कवर पेज पर नरेंद्र मोदी, बताए गए ‘एग्जिक्यूटिव (और) एडिटर’, लोग करने लगे ऐसे कमेंट्स
2 किसान आंदोलनः कनाडाई PM के दखल पर भारत ने समझाया, फिर भी बोले जस्टिन ट्रूडो- अधिकारों के लिए हमेशा खड़े रहेंगे हम
3 मेरी जमीन पर आ कर कंगना करें काम, 100 रुपए से अधिक दूंगी- बोलीं किसान प्रदर्शन में जाने वालीं मोहिंदर कौर, कंगना रनौत ने बताया था शाहीन बाग वाली दादी
ये पढ़ा क्या?
X