ताज़ा खबर
 

कोरोना का क़हर: लोग अब सड़कों पर मर रहे हैं- डॉक्टर्स से बातचीत में बोले लखनऊ के डीएम

लखनऊ में कोरोना का कहर लगातार घातक हो रहा है। यह बात डीएम की टिप्पणी से भी समझी जा सकती है। लगातार खराब होती हालत के मद्देनजर डीएम ने तैयारियां और दुरुस्त करने को कहा है। लखनऊ के डीएम का एक वीडियो सामने आया है।

CORONA, UP GOVERNMENT, LUCKNOW DM, CHAT WITH DOCTORS, COVID-19अस्पताल में चिकित्सकों से बात करते लखनऊ के डीएम अभिषेक प्रकाश (फोटोः ट्विटर@20Raghvesh)

लखनऊ में कोरोना का कहर लगातार घातक हो रहा है। यह बात डीएम की टिप्पणी से भी समझी जा सकती है। लगातार खराब होती हालत के मद्देनजर डीएम ने तैयारियां और दुरुस्त करने को कहा है। लखनऊ के डीएम का एक वीडियो सामने आया है। इसमें वह डॉक्टर्स से बात करते दिख रहे हैं। वह उन्हें आईसीयू बेड बढ़ाने का आदेश दे रहे हैं। साथ ही अपने मातहतों को कह रहे हैं कि इन्हें (डॉक्टर्स को) जो चाहिए दीजिए। डीएम कह रहे हैं कि आईसीयू बढ़ाइए, आइसोलेशन में डालिए या जो करना है कीजिए, इसके आप एक्सपर्ट हैं…क्योंकि लोग अब रोड पर मर रहे हैं।

कोरोना वायरस का संक्रमण उत्तर प्रदेश में कहर मचाने लगा है। प्रदेश में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के रेकॉर्ड 15,353 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही प्रदेश में कोरोना महामारी के कुल एक्टिव मामलों में संख्या बढ़कर 71,241 हो गई। कोरोना के बढ़ते मामलों में चलते प्रदेश में लॉकडाउन की संभावना से यूपी सीएम ने इनकार किया है।

यूपी में एक दिन पहले ही कोरोना संक्रमण के 12,787 नए मामले सामने आए थे। इस दौरान महामारी के चलते 48 लोगों की मौत हो हुई थी। सीएम योगी ने राजधानी लखनऊ में संक्रमण के मामलों में उछाल को देखते हुए पुलिस कमिश्नर लखनऊ को निर्देश दिया है कि धर्म स्थलों में पांच से अधिक लोगों को एक साथ प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाए। बाजारों में व्यापारियों से बातचीत करके उनका सहयोग लेते हुए सुरक्षित दूरी का पालन कराया जाए।

सीएम योगी ने कहा कि बंद कमरे में बैठक हो रही है तो ये सुनिश्चित करें की 50 से अधिक लोग शामिल न हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने प्रदेश के 4 जिलों का खुद दौरा किया है। कोविड से बचाव के लिए सतर्कता और सावधानी बेहद जरूरी है।

सीएम ने कहा कि महाराष्ट्र, पंजाब, दिल्ली, मध्य प्रदेश, केरल, कर्नाटक समेत कई प्रान्तों में कोरोना संक्रमण की स्थिति ज्यादा खराब है। वहां से आने वालों लोगों की रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट पर कोविड टेस्टिंग कराई जाए। इसके अतिरिक्त हर ग्राम पंचायत, वार्डों, नगर निकायों में निगरानी समितियां गठित कर उसे क्रियाशील किया जाए और वे इन्टीग्रेटेड कमांड एंड कन्ट्रोल सिस्टम से जुड़े होने चाहिए।

Next Stories
1 रेमडेसिवीर इंजेक्शन और एपीआई के निर्यात पर प्रतिबंध, घरेलू उत्पादकों को वेबसाइट पर देना होगा स्टॉक, वितरण का ब्योरा
2 मनमोहन के बयान पर अखिलेश प्रताप ने एंकर को कहा झूठा, झुंझलाए अमिश झांकने लगे बगलें
3 वैक्सीन की कमी पर सुप्रिया के सवाल पर बिफरे गौरव भाटिया, कहा- इन्हें हर जगह दिखती है बदबू, पहले जाकर नहाएं
यह पढ़ा क्या?
X