ताज़ा खबर
 

लाइसेंस मिला तमंचे का,बना लिए तोप- कोरोनिल लॉन्‍च करने के बाद निशाने पर बाबा रामदेव, पुलिस में भी शिकायत

पतंजलि ने 23 जून को कोरोनिल लॉन्‍च की थी। तब से ही सोशल मीडिया पर इसकी विश्वसनीयता को लेकर सवाल उठ रहे हैं। आयुष मंत्रालय की ओर से भी कहा गया कि उसे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। मंत्रालय ने आचार्य बालकृष्‍ण से ब्‍योरा तलब किया।

Baba Ramdev, Corona Virus, Twitterकोरोना वायरस की दवाई बना लेने के दावे को लेकर योगगुरु रामदेव के खिलाफ मामला बढ़ता जा रहा है। (फाइल फोटो)

हरिद्वार स्‍थित बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्‍ण की पतंजलि द्वारा कोरोनिल नाम से कोरोना की दवा लॉन्‍च किए जाने पर विवाद बढ़ता ही जा रहा है। समाचार एजेंसी एएनआई ने 24 जून की दोपहर उत्‍तराखंड आयुर्वेद विभाग के लाइसेंस अफसर के हवाले से बताया कि पतंजलि की ओर से लाइसेंस के लिए जो आवेदन आया था, उसमें कोरोना वायरस का जिक्र नहीं था। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने और कफ व बुखार की दवा का लाइसेंस दिया गया है। हम नोटिस भेज कर पतंजलि से पूछेंगे कि उन्‍होंने कोविड-19 के इलाज का किट कैसे तैयार कर लिया?

इस खबर के आने के बाद एक बार फिर बाबा रामदेव और पतंजलि सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गए। वरिष्‍ठ पत्रकार और पूर्व प्रसार भारती प्रमुख मृणाल पांडे ने ट्वीट के जरिए तंज कसा- लाइसेंस मिला तमंचे का,बना लिए तोप! Dr Sukumar Mehta @SukumarMehta1 ने लिखा- तमंचा ही बनाया, मैडम। उसे नाम दे दिया तोप का!!!

पुष्पेश Pushpesh Pant@PushpeshPantने ट्वीट किया- ‘जरूरत क्या इन्हें तलवारो तोप तमंचो की, जिसे नजर भर देख लें वह यूँ ही तर जाए!’ पुराने फिल्मी गीतकार से माफी के साथ। Aditya Singh @kinkrtavyavimud ने ट्वीट किया- आयुर्वेद के नाम पे बाबा ऐसे ही चला रहे है दुकान, crisis को opportunity बनाओ सुनलो खोल के कान। Political_Doc@PoliticalDi ने लिखा- ‘Coronil’ will protect you from Corona the same way Modi protected ‘Galvan valley’ from China

पतंजलि ने 23 जून को कोरोनिल लॉन्‍च की थी। तब से ही सोशल मीडिया पर इसकी विश्वसनीयता को लेकर सवाल उठ रहे हैं। आयुष मंत्रालय की ओर से भी कहा गया कि उसे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। मंत्रालय ने आचार्य बालकृष्‍ण से ब्‍योरा तलब किया।

बालकृष्‍ण ने मंत्रालय की एक चिट्ठी की कॉपी ट्वीट करते हुए इसे भी अपने हक में भुनाया और सारा विवाद खत्‍म होने का ऐलान कर दिया। असल में इस चिट्ठी में आयुष मंत्रालय की ओर से यह पुष्‍टि की गई है कि उसे मांगी गई जानकारियां मुहैया करा दी गई हैं।

बता दें कि कोरोनिल लॉन्‍च किए जाने के बाद रामदेव और पतंजलि के खिलाफ सोशल मीडिया पर हलचल होने के साथ-साथ कुछ जगह पुलिस में भी शिकायत दी गई है।

Next Stories
1 कारोबारी संगठन ने अंबानी और टाटा से भी की बायकॉट चाइना कैंपेन से जुड़ने की मांग
2 योगगुरु रामदेव और आचार्य बालकृष्ण के खिलाफ बिहार के कोर्ट में शिकायत, कोरोना की दवा के दावे पर राजस्थान में भी कंप्लेंट; बोली राज्य सरकार- ये फ्रॉड है
3 कोरोना संकटः ये अमित शाह मॉडल vs केजरीवाल मॉडल की लड़ाई नहीं- दिल्ली डिप्टी CM की गृह मंत्री से अपील- दखल दीजिए
ये पढ़ा क्या?
X