ताज़ा खबर
 

Coronavirus: पीएम मोदी की ‘बत्ती बंद’ अपील पर लोगों का फूटा गुस्सा, ट्विटर पर जमकर कर रहे ट्रोल

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में देश की ‘सामूहिक शक्ति’ के महत्व को रेखांकित करते हुए रविवार पांच अप्रैल को देशवासियों से अपने घरों की बालकनी में खड़े रहकर नौ मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाने की अपील की।

सोशल मीडिया में लोग पीएम मोदी की अपील के बाद उन्हें खूब ट्रोल कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (3 अप्रैल, 2020) को देशवासियों को सुबह नौ बजे वीडियो संदेश जारी कर संबोधित किया। इस वीडियो संदेश में उन्होंने कोरोना वायरस और लॉकडाउन को लेकर कई बातें कहीं। पीएम मोदी ने लोगों से 5 अप्रैल को रात 9 बजे का 9 मिनट का समय मांगा है। हालांकि अपनी इस अपील के बाद मोदी सोशल मीडिया में ट्रोल होने लगे हैं।

ट्विटर पर #मोदी_मदारी_बंदर_कौन ट्रेंड कर रहा है। कई यूजर्स ने रविवार को मोबत्ती, दिया, टॉर्ट, मोबाइल टॉर्च जलाने की उनकी अपील पर खूब निशाना साधा है। ट्विटर यूजर दीपक खत्री @Deekapkhatri812 ट्वीट कर लिखते हैं, ‘कोरोना वायरस महामारी मोदी की महामारी से बड़ी नहीं है।’ जयश्री @Jayasreevijayan लिखते हैं, ‘पीएम मोदी सफलतापूर्वक असली मुद्दों को भटकाने में कामयाब हो रहे हैं।’ इसी तरह मोहम्मद नसीर ट्वीट कर लिखते हैं, ‘अगर दीया ना मिला तो क्या करोगे?? बहुत सारे विकल्प हैं। जैसे मोबाइल की टॉर्च, नाइट टॉर्च, कुछ और जलाकर… पांच अप्रैल के लिए तैयार रहिए।’

इसी तरह इंडियन पीपल @indian4always नाम से ट्वीट कर लिखा गया, ‘यूनेस्को पहले ही इसे बेस्ट पीआर कैंपेन घोषित कर चुका है। नासा जल्द ही हमारे देश की तस्वीर जारी करेगा।’ गर्गी चौहान @gargichauhan29 लिखते हैं, ‘दोस्तों पीएम मोदी ने पांच अप्रैल को 9 बजे 9 मिनट के लिए मोमबत्ती जलाने को कहा है। विरोधियों को तो खैर इसके पीछे का विज्ञान हजम नहीं होगा। मगर कैंडल्टन यूनिवर्सिटी के रिसर्चर कैंडलीन केलडर ने खोज की है कि पिघलते हुए मोम से एक खास तरह का रसायन पैदा होता है और घातक विषाणुओं को अपनी चपेट में ले लेता है। कल्पना कीजिए अगर करोड़ों मोमबत्ती एक साथ जल गईं तो कोरोना कीटाणुओं की लाश भी नहीं बचेंगे।’ ये कोरी कल्पना पीएम मोदी पर निशाना साधने के लिए की गई।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में देश की ‘सामूहिक शक्ति’ के महत्व को रेखांकित करते हुए रविवार पांच अप्रैल को देशवासियों से अपने घरों की बालकनी में खड़े रहकर नौ मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाने की अपील की।

Corona virus in India Live Updates

प्रधानमंत्री ने अपने वीडियो संदेश में कहा, ‘हमें कोरोना के खिलाफ 130 करोड़ देशवासियों के महासंकल्प को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है। इसलिए पांच अप्रैल, रविवार को रात नौ बजे मैं आप सबके नौ मिनट चाहता हूं। आप घर की सभी लाइटें बंद करके, घर के दरवाजे पर या बालकनी में खड़े रहकर नौ मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाएं।’

उन्होंने कहा कि इस रविवार हम सबको मिलकर, कोरोना के संकट के अंधकार को चुनौती देनी है, उसका प्रकाश की ताकत से परिचय कराना है। हमें 130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति का जागरण करना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 कोरोना संकट के बीच तब्लीगी जमात से हुई घोर लापरवाही? सिर्फ दो दिन में 14 राज्यों के 647 लोगों में पाया गया संक्रमण
2 लॉकडाउन से प्रभावित प्रवासी मजदूरों और छोटे कारोबारियों को क्यों न दी जाए न्यूनतम मजदूरी? PIL पर SC ने केंद्र को जारी किया नोटिस
3 ‘आंधी-तूफान तो नहीं बना कोरोना’, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन बोले- यूरोपीय देशों जैसे नहीं भारत में हालात