ताज़ा खबर
 

सरकार का यू-टर्न, लॉकडाउन अवधि के दौरान गैर-जरूरी सामान नहीं बेच पाएंगी ई-कॉमर्स कंपनियां

सरकार ने ई-कॉमर्स कंपनियों को मोबाइल फोन, रेफ्रिजरेटर और सिलेसिलाए परिधानों आदि की बिक्री की अनुमति दे दी गई थी। लेकिन अब सरकार ने यू-टर्न लेते हुए लॉकडाउन की अवधि के दौरान ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा अपने मंच के जरिये गैर-जरूरी वस्तुओं की बिक्री पर रोक लगा दी।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: April 19, 2020 4:16 PM
सरकार ने लॉकडाउन की अवधि के दौरान ई-कॉमर्स कंपनियों के गैर-जरूरी वस्तुओं की बिक्री पर रोक लगा दी है। (file)

कोरोना वायरस का संक्रमण भारत में बहुत तेजी से फैल रहा है। इसको ध्यान में रखते हुए प्रधान मंत्री मोदी ने देश को 3 मई तक लॉकडाउन कर दिया है। ऐसे में सरकार ने 20 अप्रैल से चुनिंदा आवश्यक गतिविधियों को अनुमति दी है। इस दौरान सरकार ने ई-कॉमर्स कंपनियों को मोबाइल फोन, रेफ्रिजरेटर और सिलेसिलाए परिधानों आदि की बिक्री की अनुमति दे दी गई थी। लेकिन अब सरकार ने यू-टर्न लेते हुए लॉकडाउन की अवधि के दौरान ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा अपने मंच के जरिये गैर-जरूरी वस्तुओं की बिक्री पर रोक लगा दी।

सरकार ने ई-कॉमर्स कंपनियों को ई-कॉमर्स कंपनियों को की बिक्री की ‘छूट’ को वापस ले लिया है। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने आदेश जारी किया जिसमें ई-कॉमर्स कंपनियों के वाहनों में ढुलाई से गैर-जरूरी सामान को हटा दिया गया है। इसमें समेकित संशोधित दिशानिर्देशों से ई-कॉमर्स कंपनियों द्वारा गैरजरूरी उत्पादों की बिक्री को हटा दिया गया है। इससे पहले 15 अप्रैल को जारी आदेश में ई-कॉमर्स कंपनियों को 20 अप्रैल से गैर-जरूरी सामान की बिक्री की अनुमति दी गई थी। इस आदेश को पलटने की वजह तत्काल पता नहीं चल पाई है। लेकिन कहा जा रहा है कि कुछ खुदरा व्यापारी सरकार पर उन्हें भी ई-कॉमर्स कंपनियों की तरह गैर-जरूरी सामान की बिक्री की अनुमति देने के लिए दबाव बनाने लगे थे।

Coronavirus in India Live Updates: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़े सभी लाइव अपडेट…. 

ई-कॉमर्स कंपनियों को हालांकि, खाद्य उत्पाद, दवाइयां और चिकित्सा उपकरण जैसे आवश्यक सामानों को बेचने की अनुमति होगी। इससे पिछले आदेश में कहा गया था, ‘‘आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की अनुमति होगी। आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति श्रृंखला में सभी सुविधाएं… उनके विनिर्माण, थोक या खुदरा व्यापार, मोहल्ले की दुकानों और ई-कॉमर्स कंपनियों को परिचालन की अनुमति होगी। उन्हें कड़ाई से सामाजिक दूरी का पालन करना होगा। इन इकाइयों को खोलने या बंद करने के समय पर कोई अंकुश नही होगा।’’

इसके एक दिन बाद गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि 20 अप्रैल से ई-कॉमर्स कंपनियों से इलेक्ट्रॉनिक सामान मसलन मोबाइल फोन, टीवी, फ्रिज, लैपटॉप-कंप्यूटर, सिलेसिलाए परिधान, स्कूली बच्चों का स्टेशनरी का सामान खरीदा जा सकेगा। इसके बाद कुछ ई-कॉमर्स कंपनियों ने आनलाइन आर्डर लेने शुरू कर दिए थे। इसके अलावा सरकार ने सभी ट्रकों और ढुलाई वाहनों के परिचालन की अनुमति भी दी है। इसके लिए ट्रक ड्राइवर के पास वैध लाइसेंस होना चाहिए। एक ट्रक के दो ड्राइवरों और एक हेल्पर के साथ परिचालन की अनुमति होगी। माल को उतारने के बाद खाली ट्रक के परिचालन की भी अनुमति होगी। ट्रकों की मरम्मत की दुकानों और राजमार्गों पर ढाबों को भी खोलने की अनुमति दी गई है।

जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल । कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली में COVID-19 से कोहराम! बोले- CM अरविंद केजरीवाल- मरकज कार्यक्रम से फैला संक्रमण
2 3 मई के बाद भी नहीं चलेगी ट्रेन, न उड़ेंगे प्लेन, PMO को ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स ने भेजी रिपोर्ट
3 राज्य में एक स्थान से दूसरे स्थान जा सकेंगे प्रवासी मजदूर, केंद्र सरकार ने दी अनुमति
राशिफल
X