ताज़ा खबर
 

कोरोना वायरस पर बीजेपी नेता एकमत नहीं, मंत्री बोले- चिकेन, मटन से नहीं कोई सरोकार, सांसद ने कहा नॉनवेज खाने से फैलती है बीमारी

विशेषज्ञों का भी कहना है कि मांसाहार का कोरोना वायरस से कोई संबंध नहीं है। एम्स के प्रोफेसर आनंद कृष्णन का कहना है कि वायरस के ट्रांसमिशन का कारण खाना नहीं है।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और बीजेपी सांसद साक्षी महाराज। (फाइल फोटो)

कोरोना वायरस को लेकर तरह तरह की अफवाहों और चर्चाओं का बाजार गर्म है। सरकार की तरफ से इस खतरनाक वायरस से बचाव के लिए गाइडलाइन्स जारी की गई हैं, लेकिन इसके बावजूद काफी अफवाहें चल रही हैं। हैरानी की बात ये है कि केन्द्र की सत्ताधारी पार्टी भाजपा के नेता ही कोरोना वायरस को लेकर कई मुद्दों पर एकमत नजर नहीं आ रहे हैं।

दरअसल इस तरह की चर्चाएं है कि कोरोना वायरस नॉनवेज खाने से होता है। इस पर भाजपा नेता और केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने अपने एक बयान में कहा है कि मीट, मुर्गा, अंडा, मछली से कोरोना का कोई संबंध नहीं है। गिरिराज सिंह ने ये भी कहा कि वह देश के सभी प्रशासनिक अधिकारियों से अपील करते हैं कि वह चिकन पर बैन के आदेश तभी जारी करें, जब सरकार या मंत्रालय की तरफ से ऐसा कोई आदेश जारी किया जाए, वरना देश को भारी नुकसान होगा।

वहीं दूसरी तरफ भाजपा सांसद साक्षी महाराज की इसे लेकर भिन्न राय है। साक्षी महाराज ने अपने एक बयान में कहा है कि कोरोना वायरस की बीमारी चीन से शुरू हुई। साक्षी महाराज ने दावा किया कि चीन में नॉनवेज के 170 आइटम हैं, वो चमगादड़, कुत्ता, छछुंदर, सांप आदि किसी का मांस नहीं छोड़ते। भाजपा सांसद ने कहा कि पूरे देश में कोरोना वायरस की जो माहमारी फैली है, उसके पीछे नॉनवेज है।

वहीं देश के दो जिम्मेदार लोगों द्वारा कोरोना वायरस और नॉनवेज को लेकर जो अलग अलग राय दी गई है, उसकी देश में खूब चर्चा हो रही है। हालांकि विशेषज्ञों का भी कहना है कि मांसाहार का कोरोना वायरस से कोई संबंध नहीं है। एम्स के प्रोफेसर आनंद कृष्णन का कहना है कि वायरस के ट्रांसमिशन का कारण खाना नहीं है।

प्रोफेसर आनंद ने कहा कि यदि घर पर चिकन बनाकर खाते हैं तो उससे कोई समस्या नहीं है। इसके अलावा लहसुन, हल्दी और शहद से कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने की बात को भी प्रोफेसर आनंद ने खारिज कर दिया।

गौरतलब है कि चिकन से कोरोना वायरस फैलने की अफवाह के बीच देश में कई जगह पर चिकन के दामों में भारी गिरावट आयी है। कुछ जगहों पर तो अफवाह के चलते मुर्गियों को मारा भी जा रहा है। हालांकि अभी तक यह साबित नहीं हो सका है कि कोरोना वायरस के फैलने में चिकन की कोई भूमिका है या नहीं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना वायरस के खतरे से बचने के लिए संसद सत्र को तुरंत रोकना चाहिए, पत्रकार के ट्वीट पर बीजेपी को ट्रोल कर रहे लोग
2 Kerala Lottery Results Announced: परिणाम घोषित, केरल में इन तमाम लोगों की लगी लाखों रुपए की लॉटरी
3 यूपी की राह पर केरल सरकार, कोरोना पर नियम का उल्लंघन करने पर 79 लोगों पर FIR
यह पढ़ा क्या?
X