ताज़ा खबर
 

कोरोनाः ये नेशनल इमरजेंसी नहीं, इंटरनेशनल तबाही है- नेताओं के सामने बोलने लगे रिटायर्ड मेजर जीडी बख्शी

र्व सैन्य अधिकारी ने कहा, 'जब किसी के घर में आग लगती है तो उस वक्त पानी फेंककर आग बुझाने को प्राथमिकता दी जाती है। उस वक्त ये नहीं देखा जाता कि आग क्यों लगी, किसने लगाई और इसके लिए फ्यूल कहां से लाया गया।

कोरोना से गंभीर होते हालात पर रिटायर्ड मेजर ने कहा, दुनियाभर में तबाही। फोटो- पीटीआई

कोरोना संकट और प्रशासन की तैयारियों को लेकर विपक्ष लगातार मोदी सरकार से सवाल कर रहा है। विपक्ष का कहना है कि जब एक साल से ज्यादा का वक्त मिला तो सरकार ने तैयारी क्यों नहीं की। इसपर रिटायर्ड मेजर जीडी बख्शी ने विपक्षी नेता मृत्युंजय तिवारी को जवाब देते हुए कहा कि यह नेशनल इमर्जेंसी नहीं बल्कि इंटरनेशनल तबाही है। उन्होंने कहा, इस वक्त लोगों की जान बचाने पर होनी चाहिए। किसने पहले क्या किया इस बहस में नहीं पड़ना चाहिए।

पूर्व सैन्य अधिकारी ने कहा, ‘जब किसी के घर में आग लगती है तो उस वक्त पानी फेंककर आग बुझाने को प्राथमिकता दी जाती है। उस वक्त ये नहीं देखा जाता कि आग क्यों लगी, किसने लगाई और इसके लिए फ्यूल कहां से लाया गया। अगर इन बातों में कोई पड़ गया तो घर जलकर राख हो जाएगा। यह इंटरनेशल स्तर पर एक डिजास्टर है। इस वक्त लोगों की जान बचाने की प्राथमिकता है। गरीब से गरीभ भारतीय को भी तड़पकर मरने नहीं दिया जा सकता।’

उन्होंने कहा, जब यह संकट टल जाएगा तो आप जरूर कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी कीजिए जिससे कि अगली लहर के लिए तैयारी हो सके। आप अपने लेसन लर्न करिए। लेसन लर्न लड़ाई के बाद में किए जाते हैं। लड़ाई के बीच में चेंचें पेंपें नहीं किया जाता है। पीएम केयर फंड से दिल्ली के लिए ही 200 करोड़ रुपये दिए गए थे। आप बताइए कि दिल्ली में ऑक्सीजन प्लांट क्यों नहीं लगाए गए।

रिटायर्ड मेजर जनरल ने कहा, डीआरडीओ आगे आकर प्लांट लगा रही है। हमको अपनी बेड कपैसिटी बढ़ानी है। इसके लिए फौज लगी हुई है। बख्शी ने यह भी कहा कि केवल भारत, यूके और इटली में ही क्यों म्यूटेशन हो रहा है। इस बारे में भी हमें सोचना है। बायोलॉजिकल वारफेयर ऐंगल से भी जांच करनी चाहिए। जो लोग चीन के दुश्मन हैं, उन्हीं देशों में तबाही हुई है। इसपर भी ध्यान देना होगा।

Next Stories
1 हम दाढ़ी बढ़ाकर प्रवचन नहीं देते- संबित पात्रा को झूठा बता बोले ममता की पार्टी के नेता, देखें- फिर क्या हुआ
2 covid19: ये हैं नए स्ट्रेन के लक्षण, कम सुनाई देना भी हो सकता है संकेत
3 बंगाल हिंसाः BJP वालों की भी जिम्मेदारी है- बोले TMC नेता, संबित पात्रा ने कहा- मृतकों का नाम अखलाख होता तो UN तक तांडव हो जाता
ये पढ़ा क्या?
X