ताज़ा खबर
 

Lockdown: 20 अप्रैल से AIIMS में शुरू होगा इलाज, प्रशासन ने रजिस्ट्रेशन के लिए रखी ये शर्त

राजधानी में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए एम्स ने ओपीडी सर्विस बंद कर दी थी। लेकिन अब कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों से इतर अन्य मरीजों के लिए 20 अप्रैल से नई व्यवस्था बनाई जा रही है। एम्स के इस फैसले के बाद मरीजों को राहत मिलेगी।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स)। (file)

कोरोना का संक्रमण तेजी से पूरे देश में फैल रहा है। जिसे ध्यान में रखते हुए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को 21 दिनों के लिए बंद कर दिया था। 21 दिनों तक बंद रखने के बाद भी कोरोना का प्रकोप कम नहीं हुआ इसलिए लॉकडाउन को बढ़ाकर 3 मई तक कर दिया गया है। इसी के साथ सरकार ने लॉकडाउन के दौरान कुछ सेवाओं में छूट देने की योजना भी बनाई है। ऐसे में 20 अप्रैल के बाद बहुत सी आवश्यक सेवाएं चालू हो जाएंगी। इन में से एक सेवा अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) भी है।

राजधानी में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए एम्स ने ओपीडी सर्विस बंद कर दी थी। लेकिन अब कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों से इतर अन्य मरीजों के लिए 20 अप्रैल से नई व्यवस्था बनाई जा रही है। एम्स के इस फैसले के बाद मरीजों को राहत मिलेगी।

Coronavirus in India LIVE Updates: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट 

20 अप्रैल से एक बार फिर एम्स गैर- कोविड रोगियों के लिए खुलने जा रहा है। प्रशासन ने रजिस्ट्रेशन के लिए कुछ शर्तें रखीं हैं। एम्स ने शनिवार को जारी आदेश में कहा कि जिन मरीजों का इलाज चल रहा या जिन्हें फॉलोअप के लिए कहा गया था, वो ऑनलाइन अपॉइंटमेंट ले सकते हैं। इसके बाद संबंधित विभाग के डॉक्टर उन्हें बुलाएंगे और उनका इलाज करेंगे।

इसके साथ ही एम्स ने साफ कर दिया है कि इस दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों का इलाज नहीं किया जाएगा। ये सुविधा सिर्फ गैर- कोविड रोगियों के लिए है। अस्पतालों में इलाज शुरू करने के लिए लंबे वक्त से मांग चल रही थी।

गौरतलब है कि एम्स के ट्रामा सेंटर को कोविड-19 अस्पताल में तब्दील कर दिया गया है, जिसमें सिर्फ कोरोना संक्रमित मरीजों का ही इलाज किया जा रहा है। वहीं, अन्य बीमारी से संबंधित मरीजों की आने से उन्हें भी कोरोना संक्रमण का खतरा बराबर रहता है, ऐसे में एम्स ने यह बड़ा फैसला लिया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटे में 43 लोगों की मौत कोरोना वायरस संक्रमण के चलते हुई है। वहीं 991 नए केस सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में कोरोना के कुल 14378 मामले हैं। जिनमें से 11,906 एक्टिव मामले हैं और 1992 लोग वायरस से उबर चुके हैं। वहीं 480 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं मीडिया रिपोर्ट्से के अनुसार, देश में कोरोना मरीजों की संख्या 14,676 हो चुकी है। इनमें से 12,126 एक्टिव मामले हैं और 496 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 2054 लोग डिस्चार्ड हो चुके हैं।

जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल । कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जामिया हिंसा मामलाः भड़काऊ भाषण और दंगे भड़काने के आरोप में शर्जील इमाम के खिलाफ सप्लीमेंट्री चार्जशीट दायर
2 20 अप्रैल से 45% आर्थिक गतिविधियां हो जाएंगी शुरू, पर क्या पटरी पर लौटेगी इकॉनोमी? जानें- अर्थशास्त्रियों की राय
3 लॉकडाउन के बीच Zoom पर ई-शाखा लगा रहा RSS, कहा- त‍िगुने लोग हो रहे शाम‍िल, जान‍िए कैसे हो रहा आयोजन
ये पढ़ा क्या?
X