ताज़ा खबर
 

700 से 1000 तक हो सकती है वैक्सीन की कीमत, यूपी, असम में फ्री लगेगा टीका तो कई राज्यों में असमंजस

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने पीएम को पत्र लिखकर कोविड वैक्सीन की खरीद में राज्यों पर पड़ने वाले अतिरिक्त बोझ को लेकर चिंता जतायी है।

Author Updated: April 21, 2021 8:19 AM
vaccination,CSIRसीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) द्वारा भारत में निर्मित ऑक्सफ़ोर्ड वैक्सीन वर्तमान में देश में इस्तेमाल होने वाले दो टीकों में से एक है, दूसरे टीके कोवैक्सीन को घरेलू कंपनी भारत बायोटेक ने बनाया है। (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस फाइल)

हाल ही में केंद्र सरकार ने 1 मई से देश में 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को वैक्सीन देने की घोषणा की है । सरकार की तरफ से हुए घोषणा के बाद माना जा रहा है कि दो डोज की कीमत 700 से 1000 तक हो सकती है। कई राज्य सरकारों ने अपने नागरिकों को मुफ्त में वैक्सीन देने की बात कही है। भाजपा शासित राज्य असम और उत्तर प्रदेश ने ऐलान कर दिया है कि सभी नागरिकों को मुफ्त में वैक्सीन दिया जाएगा।

हालांकि कुछ राज्य सरकारों ने केंद्र की तरफ से तय किए गए मूल्य को लेकर सवाल खड़ा किया है। राज्यों का कहना है कि किसी भी अन्य देश में अब तक ऐसा नहीं किया गया है। साथ ही कहा गया है कि इससे राज्यों को वित्तिय बोझ का सामना करना पड़ेगा। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने वैक्सीन को लेकर कहा है कि केंद्र सरकार की नीति खोखली है। उन्होने कहा कि जब कोविड -19 महामारी के मामले बढ़ रहे हैं तब केंद्र ने खाली हो हल्ले की तिकड़म अपना ली।

ममता बनर्जी ने सवाल खड़े करते हुए कहा कि टीकाकरण की नीति गुणवत्ता, दक्षता,आपूर्ति कीमत जैसे मुद्दों का समाधान नहीं करती है। इससे बाजार में अव्यवस्था पैदा हो सकती है। केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने पीएम को पत्र लिखकर कोविड वैक्सीन की खरीद को लेकर राज्यों पर पड़ने वाले अतिरिक्त बोझ को लेकर चिंता जतायी है।

उन्होंने 18 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन देने की सरकार की योजना का स्वागत भी किया है। केरल के मुख्यमंत्री ने लिखा है कि भारत सरकार का चैनल होने के बजाय, हमें एक सरकारी चैनल होना चाहिए, जिसमें राज्य सरकारें भी शामिल होंगी जिनके माध्यम से वैक्सीन वितरित की जाएगी।

राजस्थान, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र सरकार की तरफ से भी इस मुद्दे पर सवाल खड़े किए गए हैं। महाराष्ट्र ने केंद्र सरकार से एस्ट्राजेनेका वैक्सीन, फाइज़र और स्पुतनिक जैसे वैक्सीन के अपने विकल्पों को आयात करने की अनुमति मांगी है।

Next Stories
1 हकीम ने बताया कि आंदोलन खत्म होगा तो कोरोना खत्म हो जाएगा? राकेश टिकैत बोले- यहां से नजदीक है हॉस्पिटल
2 लाइव शो में रूबिका लियाकत से भिड़ गए गौरव भाटिया, कहने लगे- दर्शक आपको देख रहे, आप बोलिए
3 लाइव शो में हाथ जोड़ रोने लगे सपा प्रवक्ता, गौरव भाटिया बोले- अखिलेश यादव से दिलवाएं वैक्सीन पर बयान
यह पढ़ा क्या?
X