ताज़ा खबर
 

कोरोना टीका के साइड इफ़ेक्ट से पहली मौत की बात सरकार ने मानी- रिपोर्ट में दावा

AEFI के चीफ डॉ एनके अरोड़ा ने कहा वैकेसीनेशन के बाद यह पहली मौत है जो रिएक्शन से हुई। जांच में पता चला है कि मौत का कारण टीकाकरण के बाद एनाफिलेक्सिस होना रहा।

कोरोना टीका के साइड इफ़ेक्ट से पहली मौत की बात सरकार ने मानी (फाइल फोटो)

वैक्सीन के साइड इफैक्ट पर रिसर्च करने वाली सरकारी कमेटी ने माना है कि टीका लगवाने के बाद एक व्यक्ति की मौत हुई थी। एक 68 साल के बुजुर्ग को टीका लगवाने के बाद एनाफिलेक्सिस (जानलेवा एलर्जिक रिएक्शन) की वजह से जान गंवानी पड़ी। केंद्र सरकार के AEFI पैनल की रिपोर्ट में ये बात सामने आई है।

AEFI के चीफ डॉ एनके अरोड़ा ने कहा वैकेसीनेशन के बाद यह पहली मौत है जो रिएक्शन से हुई। जांच में पता चला है कि मौत का कारण टीकाकरण के बाद एनाफिलेक्सिस होना रहा। एक मैगजीन से बात में अरोड़ा ने इससे ज्यादा कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। पैनल की रिपोर्ट का हवाला देते हुए मैगजीन ने लिखा है कि बुजुर्ग को 8 मार्च को वैक्सीन दी गई थी। उसके बाद उनकी एनाफिलेक्सिस से मौत हो गई। इसके अलावा तीन और ऐसे मामले पता चले हैं जिनमें टीका लगवाने के बाद मौत हुई। लेकिन सरकार का पैनल ऐसी केवल एक मौत की पुष्टि कर रहा है।

वैक्सीनेशन के बाद लोगों में होने वाले साइड इफेक्ट्स का पता लगाने के लिए एक कमेटी का गठन किया गया है। इस पैनल ने 31 गंभीर मामलों पर रिसर्च करने के बाद पुष्टि की कि वैक्सीनेशन के बाद 8 मार्च को एनाफिलेक्सिस के कारण एक 68 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हुई थी। रिपोर्ट में ये भी दावा किया गया है कि कोरोना से लड़ाई में वैक्सीन एक कारगर हथियार है और इसके कई फायदे हैं।

मैगजीन की रिपोर्ट के मुताबिक, पैनल ने 31 गंभीर मामलों की स्टडी की थी। इसमें 28 लोगों की मौत हुई. लेकिन रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इन 28 मौतों में से एक टीका लगवाने की वजह से हुई। तीन लोगों को एनाफिलेक्सिस की शिकायत मिली थी। दो उपचार के बाद ठीक हो गए जबकि एक व्यक्ति की मौत हो गई।

पैनल की रिपोर्ट में कहा गया है कि 31 गंभीर मामलों में 18 मामलों का वैक्सीन से कोई लेनादेना नहीं था। 7 मामले अनिश्चित थे। यानि ये मामले टीकाकरण के तुरंत बाद के थे। 3 मामले वैक्सीन प्रॉडक्ट रिलेटिड थे जबकि दो मामलों के बारे में जानकारी उपलब्ध नहीं हो सकी। एक मामला एनजाइटी रिलेटिड रिएक्शन था।

Next Stories
1 Delhi Riots Case में देवांगना कलिता और नताशा नरवाल समेत 3 को बेल, बोला HC- प्रदर्शन करना आतंकवाद नहीं
2 राजस्थानः गोतस्करी के शक पर किसान की भीड़ ने कर दी पिटाई, मौत
3 WhatsApp की सीक्रेट चैट दूसरों से ऐसे छिपाएं, ये है प्रोसेस
ये पढ़ा क्या?
X