ताज़ा खबर
 

कोरोनाः इंसान के वश में नहीं था दूसरी लहर को कंट्रोल करना -बोले शाह, उधर, अडानी ने दिखाया सरकार को आइना

केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा नेता अमित शाह का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर को काबू में कर पाना इंसान के वश की बात नहीं थी।

गृह मंत्री अमित शाह और अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी। (इंडियन एक्सप्रेस)।

केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा नेता अमित शाह का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर को काबू में कर पाना इंसान के वश की बात नहीं थी। शाह ने कहा कि जल्द से जल्द टीकाकरण करा यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि किसी की जान कोरोना के चलते न जाए। वहीं, अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने कहा कि भारत को कोविड -19 महामारी की दूसरी लहर से निपटने के लिए “बहुत बेहतर प्रयास करने की जरूरत थी”। अडानी ने कहा, “हमें यह स्वीकार करना चाहिए कि हर मौत एक त्रासदी थी।”

अपने गुजरात दौरे में अमित शाह ने कहा, “कोरोना (महामारी) के दौरान, दुनिया, भारत और गुजरात ने बहुत कठिन समय देखा है। हमें बहुत सारे रिश्तेदारों को खोना पड़ा। कोई भी मानवीय प्रयास व्यर्थ साबित होता है जब मानव क्षमता से परे प्राकृतिक आपदा आती है। दूसरी लहर में कोरोना इतनी तेजी से फैला कि मानवीय रूप से उस पर काबू पाना संभव नहीं था। लेकिन उस में भी, देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांवों और शहरों को 6-7 दिनों में 10 गुना ऑक्सीजन देने की व्यवस्था करने का प्रयास किया।”

शाह ने कहा,’नए अस्पताल बनाए, बिस्तर बनाए, कारखानों ने (रात में भी) ऑक्सीजन सिलेंडर बनाने के लिए काम किया, क्रायोजेनिक टैंकर दुनिया भर से आयात किए गए, विमानों के माध्यम से खाली टैंकर उपलब्ध कराए गए और रेलवे के माध्यम से टैंकर भरने की व्यवस्था की गई। लेकिन इसके बाद भी हमने बहुत सारे रिश्तेदारों को खो दिया।’

अमित शाह ने कहा, “एक संकल्प लिया जा सकता है कि अब नारदीपुर और गांधीनगर निर्वाचन क्षेत्र में कोई भी व्यक्ति कोरोना से नहीं मरेगा। आप सोच रहे होंगे कि यह कैसे संभव है। मैं कहता हूं कि यह संभव है। नरेंद्र मोदी ने 18 साल से ऊपर के सभी लोगों के लिए मुफ्त टीकाकरण की व्यवस्था की है। हमें सभी के लिए टीकों की व्यवस्था सावधानी से करनी चाहिए। ”

बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री गांधीनगर जिले के कलोल विधानसभा क्षेत्र में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे, जो कि गांधीनगर लोकसभा (लोकसभा) निर्वाचन क्षेत्र का हिस्सा है। यहां उन्होंने एक झील सौंदर्यीकरण परियोजना के शिलान्यास समारोह में भाग लिया। शाह ने लोकसभा क्षेत्र में 25 करोड़ रुपये से अधिक के 54 अन्य विकास कार्यों की आधारशिला रखी और उद्घाटन किया।

Next Stories
1 मेहुल को बड़ी राहतः डोमेनिका कोर्ट ने दी जमानत, इलाज के लिए एंटीगुआ जाने की अनुमति
2 ममता के नंदीग्राम केस की सुनवाई करेंगी जस्टिस संपा सरकार, पहले के जज पर लगा था बीजेपी समर्थक होने का आरोप
3 जनसंख्या नीति पर योगी से इत्तेफाक नहीं रखते नीतीश कुमार, बोले- महिलाएं शिक्षित होंगी तभी कम होगी प्रजनन दर
ये पढ़ा क्या?
X