ताज़ा खबर
 

कोरोना से हाहाकार के बीच पेट्रोल सौ तो सरसों तेल 200 पार

4 मई के बाद से दिल्‍ली में पेट्रोल 3.24 रुपये प्रति लीटर और डीजल 2.94 रुपये प्रति लीटर तक महंगा हो गया है। उधर, कोविड-19 वायरस ने जैसे ही अपना कहर बरपाना शुरू किया सरसों के तेल के दाम बढ़कर 200 रुपये के पार हो गया।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (Indian Express)।

पांच राज्यों में चुनाव खत्म होते ही देश के कई हिस्सों में पेट्रोल ने छलांग लगाकर 100 के आंकड़े को पार कर लिया है। 2 मई को चुनाव परिणाम आए। 4 मई के बाद से दिल्‍ली में पेट्रोल 3.24 रुपये प्रति लीटर और डीजल 2.94 रुपये प्रति लीटर तक महंगा हो गया है। उधर, कोविड-19 वायरस ने जैसे ही अपना कहर बरपाना शुरू किया सरसों के तेल के दाम बढ़कर 200 रुपये के पार हो गया।

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में रोजाना सुबह 6 बजे बदलाव होता है। पेट्रोल डीजल के दाम में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना हो जाता है। तेल कंपनियों के मुताबिक विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमतों के आधार पर रोज पेट्रोल, डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। देश के प्रमुख शहरों में आज का भाव देखा जाए तो आज दिल्ली में पेट्रोल 93.21 रुपये और डीजल 29 पैसे बढ़कर 84.07 रुपये प्रति लीटर बिका। मुंबई में पेट्रोल 99.49 रुपये, डीजल 91.30 रुपये प्रति लीटर है। जबकि चेन्नई में पेट्रोल का रेट 94.86 रुपये, डीजल 88.87 रुपये प्रति लीटर है। कोलकाता में पेट्रोल 93.27 रुपये और डीजल 86.91 रुपये प्रति लीटर है।

राजस्थान और एमपी के कुछ जिलों में पेट्रोल के दाम 100 के आंकड़े को भी पार कर गए। श्रीगंगानगर में पेट्रोल 104, अनूपपुर में 103.68, एमपी के भोपाल में 101.11, इंदौर में 101.18 और रीवा में 103.32 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। कोरोना काल में लोगों की आमदनी पह ले ही ठप हो चुकी है। उस पर तेल के दामों में आग से लोग बेहाल हैं।

petrol prices पेट्रोल डीजल के रेट में किस तरह से बढ़ोतरी हुई, इस रिपोर्ट में दिख रहा है।

उधर, कोरोना काल में सरसों के तेल के साथ नींबू और आंवला के दामों में जबरदस्त उछाल देखने को मिल रहा है। सरसों का तेल लगातार छलांग लगाते हुए 200 के पास चला गया। दरअसल इसके पीछे सोशल मीडिया पर चल रहे कुछ संदेश भी कारक हैं।

MUSTARD RATE सरसों के तेल में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है। 22 मई को मंडी का रेट

रामदेव फैक्टरः बाबा रामदेव का एक मैसेज पिछले कुछ अर्से से लगातार वायरल हो रहा है। इसमें 25 अप्रैल को वो कहते देखे जा रहे हैं कि सरसों के तेल की दो बूंदें नाक में डालने से कोरोना वायरस पेट में चला जाएगा। वहां मौजूद एसिड के संपर्क में आकर वो मर जाएगा।

लेमन थैरेपीः VRL ग्रुप के चेयरमैन विजय संकेश्वर ने इसे बढ़ावा दिया। बीजेपी नेता और एक्स एमपी संकेश्वर का कहना है कि नाक में नींबू का रस डालने से खून में मौजूद ऑक्सिजन का लेवल बढ़ जाता है। उनका दावा है कि 200 लोगों में ये थैरेपी कारगर दिखी है।

जानकारों का मानना है कि कोरोना संकट में जिस तरह से हेल्थ केयर सिस्टम ध्वस्त हो गया है उसमें लोग घर पर उपचार को तरजीह दे रहे हैं। यही वजह है कि सरसो का तेल, नींबू, आंवले के दाम बढ़ रहे हैं। हालांकि, एक्सपर्ट इस थ्योरी को ठीक नहीं मान रहे। डॉ. पवित्र मोहन का कहना है कि लोग भय के साए में हैं। डॉक्टरों के पास जाना खासा महंगा हो रहा है। इसी वजह से वो इस तरह के नुस्खे अपना रहे हैं।

सरसों के तेल का कारोबार करने वाले राजस्थान के वैभव मेहता कहते हैं कि तेल की मांग में 20 फीसदी तक उछाल आया है। लोग सोशल मीडिया पर चल रहे घरेलू उपचार को तरजीह दे रहे हैं। पहले ये जहां 6500-7200 रुपये प्रति क्विंटल मिल रहा था वहीं अब 8 हजार रुपये तक पहुंच गया है। सरसों के तेल का कैरीओवर स्टॉक भी 5 लाख मीट्रिक टन से घटकर 1.5 लाख मीट्रिक टन रह गया है। अच्छी फसल और रोजाना की दुरुस्त आवक के बावजूद तेल के दाम पिछले साल की अपेक्षा 20-30 फीसदी तक तेज हुए हैं।

एक्सपर्ट डॉ. जुगल किशोर कहते हैं कि बाजार में जरूरत से ज्यादा आग लगी हुई है। इसकी सबसे बड़ी वजह ये है कि सोशल मीडिया पर चल रही मिथकों को लोग सच मान रहे हैं। कोविड की चपेट में आने पर पहले वो इन उपायों को अपना रहे हैं। स्थिति गंभीर होने पर वो अस्पताल का रुख करते हैं। डॉ. सीमा सिंह कहती हैं कि जो लोग इस तरह से उपचार कर रहे हैं वो वायरस को फलने फूलने दे रहे हैं। ये थैरपी वैज्ञानिक तौर पर कहीं से भी ठीक नहीं पाई गई हैं।

Next Stories
1 नारद स्टिंग केस: टीएमसी नेताओं की ग‍िरफ्तारी पर जज ने सीबीआई से पूछा- सात साल तक नहीं पकड़ा तो अब अचानक क्‍यों?
2 रामदेव मुझे योग सिखाएं तो तबीयत खुश हो जाए- जब बेनजीर भुट्टो ने वेद प्रताप वैदिक से कही थी ये बात
3 FIR के विरोध में किसानों का हिसार में धावा, प्रदर्शन के दौरान एक किसान की हार्टअटैक से मौत
ये पढ़ा क्या?
X