ताज़ा खबर
 

कोरोना, लॉकडाउनः JDS के देवगौड़ा के लिखे खत पर PM मोदी ने खुद फोन कर दिया जवाब, पर Congress के मनमोहन को न मिला जवाब; चिट्ठी लिख आ गए थे केंद्र के निशाने पर

मनमोहन सिंह के पत्र के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने पलटवार करते हुए कहा था कि इतिहास आपके लिए बेहतर होता यदि इस तरह का रचनात्मक सहयोग व कीमती सलाह पर आपकी पार्टी कांग्रेस ने काम किया होता।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एचडी देवगौड़ा ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है।

देश में जारी कोरोना संकट के बीच राजनीतिक शह-मात का खेल भी जारी है। विपक्षी दलों की तरफ से सरकार को घेरने के प्रयास हो रहे हैं। कोविड संकट पर हाल के दिनों में देश के 2 पूर्व प्रधानमंत्रियों ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। पहले कांग्रेस नेता मनमोहन सिंह ने उसके बाद JDS नेता देवगौड़ा की तरफ से पत्र लिखे गए। पत्र लिखे जाने के बाद मनमोहन सिंह जहां बीजेपी के निशाने पर आ गए थे वहीं देवगौड़ा के पत्र पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद फोन कर उन्हें जवाब दिया है।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा को अपने पत्र के जवाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से फोन किया गया। देवेगौड़ा ने कहा कि मोदी ने उन्हें आश्वासन दिया कि वह उनके सुझावों को आगे बढ़ाएंगे। बताते चलें कि पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा ने रविवार को प्रधानमंत्री को पत्र लिखा था। गौरतलब है कि एचडी देवेगौड़ा की तरह ही पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी मोदी को पत्र लिखकर पांच सुझाव दिए थे लेकिन उस समय सरकार की तरफ से उनके ऊपर निशाना साधा गया था।

मनमोहन सिंह के पत्र के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने पलटवार करते हुए कहा था कि इतिहास आपके लिए बेहतर होता यदि इस तरह का रचनात्मक सहयोग व कीमती सलाह पर आपकी पार्टी कांग्रेस ने काम किया होता।

स्वास्थ्य मंत्री ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह द्वारा लिखे गए पत्र में कई गलतियों का भी जिक्र किया था। उन्होंने कहा था कि मनमोहन सिंह ने वैक्सीन के आयात के लिए जो सलाह दी है वह पहले ही उठा लिए गए हैं।हर्षवर्धन ने मनमोहन सिंह पर तंज करते हुए कहा था कि इस पत्र को तैयार करने वाले ने आपको शायद पूरी जानकारी नहीं दी।

पूर्व प्रधानमंत्री देवगौड़ा की तरफ से लिखे गए पत्र में कोरोना महामारी के रोकथाम के लिए चुनावी जीत के जश्र्न को सीमित करे और उप चुनाव व स्थानीय चुनाव को अगले 6 महीने के लिए स्थगित करने की बात कही गयी थी।

Next Stories
1 COVID-19: “घर में भी मास्क पहनने का आ गया है वक्त”, जानें- केंद्र की ओर से क्यों दी यह सलाह?
2 मिलबेन ने बाइडेन से कहा, भारत की मदद जरूरी
3 राहुल का तंज- कोरोना का असली डेटा जनता तक नहीं पहुंचने दे रही सरकार, महामारी न सही, इसका सच को नियंत्रित कर ही लिया
यह पढ़ा क्या?
X