ताज़ा खबर
 

कोरोना, लॉकडाउन 2.0 की मजदूरों पर फिर पड़ी तगड़ी मार, महीने में महज एक-दो दिन ही पा रहे काम! बोले- उधार से चला रहे जीवन

दिल्ली में केजरीवाल सरकार की तरफ से निर्माण श्रमिकों को सहायता प्रदान की गयी थी। कोरोना पॉजिटिव हुए रजिस्टर्ड मजदूरों और उनके परिवार वालों को मेडिकल सहायता के तौर पर 5 हजार से 10 हजार रूपये दिए गए थे।

कोरोना के चलते करोड़ों लोगों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा है। (एक्सप्रेस फोटो)।

देश में कोरोना के मामले अब कम होने लगे हैं। लेकिन दूसरी लहर को काबू में करने के लिए कई राज्य सरकारों की तरफ से लगाए गए लॉकडाउन का असर रोजगार पर पड़ा है। लॉकडाउन 2.0 की मजदूरों पर फिर पड़ी तगड़ी मार पड़ी है। लाखों की संख्या में मजदूर बेरोजगार हो गए हैं। कई मजदूरों को महीने में सिर्फ एक से दो दिन ही काम मिल रहा है।

नोएडा के लेबर चौक पर रोजगार की तलाश में हर दिन सैकड़ों लोग आते हैं लेकिन शायद ही उन्हें काम मिल रहा है। मीडिया से बात करते हुए एक मजदूर ने कहा कि हम हर दिन आते हैं फिर पुलिस वाले लाठी मारकर भगा देते हैं, हमें कोई काम नहीं मिलता है। हमें दो महीने से काम नहीं मिला है। घर का खर्च चलाने के लिए उधार पर निर्भर हैं। मजदूरों का कहना है कि एक तरफ उनके हाथ में रोजगार नहीं है दूसरी तरफ मकान मालिक उन्हें अलग ही परेशान करते हैं।

गौरतलब है कि पिछले साल सरकार की तरफ से लगाए गए लॉकडाउन के बाद लाखों की संख्या में मजदूर पैदल ही पलायन कर गए थे। वहीं इस साल कई राज्य सरकारों की तरफ से मजदूरों से अपील की गयी थी कि लॉकडाउन लंबा नहीं चलेगा आप कहीं नहीं जाएं, लेकिन दूसरी लहर के कारण लगभग 2 महीने से सभी महानगरों में कामकाज ठप है।

बताते चलें कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार की तरफ से निर्माण श्रमिकों को सहायता प्रदान की गयी थी। कोरोना पॉजिटिव हुए रजिस्टर्ड मजदूरों और उनके परिवार वालों को मेडिकल सहायता के तौर पर 5 हजार से 10 हजार रूपये दिए गए थे।

बताते चलें कि भारत में एक दिन में कोविड-19 के 1,14,460 नए मामले सामने आए जो 60 दिन की अवधि में सबसे कम संख्या है। इसके साथ ही दैनिक संक्रमण दर घटकर अब 5.62 प्रतिशत रह गई है। वहीं, महामारी से 2,677 और लोगों की मौत हो गई। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को अपने अद्यतन आकड़ों में यह जानकारी दी और कहा कि संक्रमण के नए मामलों के साथ देश में महामारी के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 2,88,09,339 हो गई है। वहीं संक्रमण से 2,677 और लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 3,46,759 हो गई है। करीब 42 दिन में मृतकों की यह सबसे कम संख्या है। उपचाराधीन मामलों की संख्या भी घटकर 15 लाख से कम रह गई है। छह अप्रैल को 24 घंटे में संक्रमण के 96,982 नए मामले सामने आए थे।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X