ताज़ा खबर
 

लोकनायक अस्पताल के सहायक नर्सिंग अधीक्षक में कोरोना संक्रमण की पुष्टि, दो अन्य में भी दिखे लक्षण

दिल्ली के लोकनायक अस्पताल की एक एएनएस को शनिवार को कोरोना की पुष्टि हुई है। अस्पताल के अधिकारी ने बताया कि नर्स देखरेख का काम कर रही थीं। इसके अलावा दो और एएनएस में कोरोना के लक्षण दिखाई पड़े हैं। अस्पताल में बीती रात तक कुल 602 लोगों को भर्ती किया गया था, जिनमें से 236 लोग कल तक पाजिटिव थे।

Author नई दिल्ली | April 12, 2020 4:02 AM
लोक नायक जयप्रकाश हास्पिटल नई दिल्ली (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

राजधानी दिल्ली के अस्पताल लोकनायक में एक सहायक नर्सिंग अधीक्षक में शनिवार को कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके अलावा दो और एएनएस में भी कोरोना के लक्षण दिखाई पड़े हैं। इसके साथ ही एक और सफाईकर्मी में भी कोरोना के लक्षण मिले है। इस अस्पताल में सबसे अधिक कोरोना के मरीज भर्ती हैं। नर्सें कई दिन से सुरक्षित आवास की मांग कर रही हैं, जहां मरीजों को देखने के बाद वे अलग-थलग रह सकें। कुछ नर्सों को आज गुजराती धर्मशाला में स्थानांतरित किया गया है।

दिल्ली के लोकनायक अस्पताल की एक एएनएस को शनिवार को कोरोना की पुष्टि हुई है। अस्पताल के अधिकारी ने बताया कि नर्स देखरेख का काम कर रही थीं। इसके अलावा दो और एएनएस में कोरोना के लक्षण दिखाई पड़े हैं। अस्पताल में बीती रात तक कुल 602 लोगों को भर्ती किया गया था, जिनमें से 236 लोग कल तक पाजिटिव थे। अस्पताल में ही सबसे ज्यादा कोरोना मामले हैं। जिनमें तीन आइसीयू में हैं।

अस्पतालों में 50 फीसद संदिग्ध ही संक्रमित
दिल्ली के अस्पतालों में मरीजों की तादात बढ़ती जा रही है। पहले जहां कुल अस्पताल में आने वालों की संख्या में इक्के-दुक्के संक्रमित निकल रहे थे। वहीं अब अस्पताल आने वालों में करीब 50 फीसद मरीजों में इसकी पुष्टि हो रही है। अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ राजीव सूद ने बताया कि अस्पताल में कोरोना मरीजों की संख्या दोगुनी रफ्तार से बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि अभी तक तो पांच छह मरीज ही कोरोना संक्रमित निकलते थे लेकिन अब इनकी संख्या दो गुनी हो गई है।

पहले जहां राम मनोहर लोहिया अस्पताल में आने वाल जहां पहले पांच-छह मरीज कोरोना के निकल रहे थे। वहीं अब अस्पताल में आने वालों में रोजाना करीब 10 -12 संक्रमित मरीज आने लगे हैं। यहां का पूरा वार्ड भर गया है। एम्स झज्झर में इस वक्त कुल 178 मरीज भर्ती हैं। इसके अलावा बाबा साहब अांबेडकर, डीडीयू, जीटीबी अस्पतालों में भर्ती मरीज वहीं पर हैं।
एम्स में 224 लोग भर्ती हुए थे। अभी 178 लोग हैं। इनमें से 144 पुष्ट मामलों के मरीज हैं। 34 लोगों की अभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल छह मरीजों की रिपोर्ट आनी बाकी है। इनमें से एक मरीज की मौत हो चुकी है। अभी तक 39 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आने पर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। एक मरीज को यहां से दूसरे अस्पताल रेफर किया गया था। जबकि पांच लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। आरएमएल जो कि कोरोना इलाज के लिए चिन्हित पहला अस्पताल है यहां भी मरीजों का आना जारी है। हालांकि अस्पताल में बीती रात तक कुल 35 मरीज भर्ती थे, जिनमें में 22 कोरोना संक्रमित हैं।

Next Stories
1 ऑनलाइन भुगतान से बचने को दुकानदारों के पास लाखों बहाने
2 स्कूली छात्रों से आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड कराने के लिए सरकारी चिट्ठी भेज रही योगी आदित्य नाथ सरकार
3 LIC ग्राहकों को राहत! मार्च, अप्रैल के प्रीमियम पेमेंट को मिलेगा 30 दिन का एक्स्ट्रा वक्त
ये पढ़ा क्या?
X