ताज़ा खबर
 

कोरोना का कहर: पिछले 6 हफ्तों में इन चार राज्यों को छोड़कर, अन्य प्रदेशों में डबल हो गए मरने वालों के आंकड़े

मौत के आंकड़ों में सबसे अधिक उछाल बिहार में दर्ज किया गया है। जहां 1 अप्रैल के बाद राज्य में मरने वालों की संख्या का 83 प्रतिशत दर्ज किया गया है। लेकिन इसके पीछे का प्रमुख कारण सरकार द्वारा डेटा अपडेट किया जाना बताया गया है।

Translated By सचिन शेखर नई दिल्ली | Updated: June 14, 2021 8:24 AM
कोलकाता के एक अस्पताल में कोरोना मरीज को लेकर जाते स्वास्थ्यकर्मी (फोटो- PTI)

कोरोना की दूसरी लहर ने पूरे देश में कहर मचाया है। चार को छोड़कर हर राज्य में कोविड -19 से हुई मौत की संख्या पिछले छह हफ्तों में कम से कम दोगुनी हो गई है। कुछ राज्यों में ये आंकड़े करीब चार गुना तक बढ़ गए हैं। पश्चिम बंगाल, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, त्रिपुरा और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में अन्य राज्यों की अपेक्षा कम मौत हुई है।

1 अप्रैल से देश में लगभग 2.1 लाख मौतें दर्ज की गई हैं, जिनमें से 55 प्रतिशत से अधिक 1.18 लाख मौत पांच राज्यों महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, दिल्ली और उत्तर प्रदेश द्वारा रिपोर्ट की गई है। इन पांच राज्यों में से प्रत्येक में, पिछले छह हफ्तों में कुल मौत की संख्या का लगभग 60 प्रतिशत दर्ज किया गया है। दूसरे शब्दों में, इस दौरान उनकी मृत्यु का आंकड़ा 2 से 2.5 गुना तक बढ़ गया है।अन्य राज्यों से भी ऐसे ही आंकड़े हैं। कुछ राज्यों में तो 80 प्रतिशत मौत 1 अप्रैल के बाद दर्ज की गयी है।

मौत के आंकड़ों में सबसे अधिक उछाल बिहार में दर्ज किया गया है। जहां 1 अप्रैल के बाद राज्य में मरने वालों की संख्या का 83 प्रतिशत दर्ज किया गया है, लेकिन यह मुख्य रूप से राज्य सरकार द्वारा दो दिन पहले एक डेटा अपडेट के बाद जोड़े गए लगभग 4,000 मौतों के कारण हुआ है।

इस अवधि के दौरान देश में मरने वालों की संख्या भी दो गुना से अधिक बढ़ गई – लगभग 1.64 लाख से बढ़कर संख्या अब 3.73 लाख तक पहुंच गया है। उत्तराखंड, असम, गोवा और झारखंड जैसे राज्यों में, पिछले छह हफ्तों में कुल मौतों में से 70 प्रतिशत से अधिक मौतें हुई हैं। यानी इस दौरान इन राज्यों में मरने वालों की संख्या तीन गुना से ज्यादा हो गई है। मेघालय और नागालैंड भी इसी श्रेणी में आते हैं, हालांकि इन राज्यों में मौत अपेक्षाकृत कम हुए हैं। आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल मौत के आंकड़ों में 40 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

बताते चलें कि देश में 71 दिन बाद रविवार को कोविड-19 के सबसे कम 80,834 नए मामले सामने आए थे जबकि रोजाना की संक्रमण दर घटकर 4.25 प्रतिशत हो गयी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार सुबह तक के आंकड़ों में यह जानकारी दी थी।

Next Stories
1 राजस्थान में बीजेपी ने सचिन को दिया न्योता, उधर, बंगाल में बिखराव की तरफ अपना ही कुनबा, मुकुल की राह पर राजीव बनर्जी
2 कश्मीर मामले पर रिटा. मे. जनरल बख्शी से भिड़े पैनलिस्ट, कहा- सीमा पर आप थे तो कैसे हुई घुसपैठ, हुई तकरार
3 कोरोना से हारी मिल्खा सिंह की पत्नी, मोहाली अस्पताल में ली आखिरी सांस, भारत की वॉलीबाल टीम की रही थीं कैप्टन
ये पढ़ा क्या?
X