ताज़ा खबर
 

कोरोनाः स्वास्थ्य मंत्रालय जैसी जाली साइट बना वैक्सीन का स्लॉट दिलाने का देते थे झांसा, धराए

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने कोविड-19 टीकाकरण के लिए स्लॉट दिलाने के वास्ते सरकार की जाली वेबसाइट बना कर लोगों को ठगने के आरोप में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है।

कोविड टीके के लिए स्लॉट दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले दो धरे गए। (express file photo)

देश में कोरोना का प्रकोप बहुत तेजी से अपने पैर पसार रहा है। रोजाना लाखों की संख्या में लोग पॉज़िटिव पाये जा रहे हैं। ऐसे में टीके, रेमडेसिविर, ऑक्सीजन, बेड और दवाओं की मांग तेजी से बढ़ रही है। इनकी कालाबाजारी के भी कई मामले सामने आए हैं। अब वैक्सीन लगाने के लिए स्लॉट बुक करने वाली साइट को लेकर फर्जीवाड़े का एक मामला सामने आया है।

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने कोविड-19 टीकाकरण के लिए स्लॉट दिलाने के वास्ते सरकार की जाली वेबसाइट बना कर लोगों को ठगने के आरोप में दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि एक आरोपी शेखर पेरियार को पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी से गिरफ्तार किया गया जबकि दूसरे आरोपी अशोक सिंह को उत्तराखंड से बंदी बनाया गया है। पुलिस ने बताया कि दोनों ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय जैसी जाली वेबसाइट बनाई और वे चार से छह हजार रुपये में कोविड-19 टीके के लिए स्लॉट देने के पेशकश कर रहे थे।

वहीं गुजरात के अहमदाबाद शहर में म्यूकोरमाइकोसिस के उपचार में इस्तेमाल होने वाले एक इंजेक्शन की कथित तौर पर कालाबाजारी की कोशिश कर रहे पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

एक अधिकारी ने बताया कि खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीसीए) और गुजरात पुलिस के अधिकारियों ने इन पांच आरोपियों को बृहस्पतिवार को शहर के अलग-अलग इलाकों से गिरफ्तार किया। राज्य में ब्लैक फंगस के मामलों में वृद्धि के बाद राज्य सरकार ने म्यूकोरमाइकोसिस को महामारी घोषित कर दिया है।

इस बीमारी से मुख्य तौर पर वे लोग ग्रसित हो रहे हैं जो कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हुए हैं। ब्लैक फंगस के मामलों के उपचार के रूप में एम्फोटेरिसिन बी दवाई को प्रभावी माना जा रहा है और बाजार में इसकी मांग काफी बढ़ गई है।

अपराध शाखा की ओर से शुक्रवार को जारी एक विज्ञप्ति में बताया गया कि अपराध शाखा ने बृहस्पतिवार को नारनपुरा में जाल बिछाकर चार लोगों को एम्फोटेरिसिन बी की आठ शीशियों के साथ पकड़ा, जिनकी कीमत 2,518 रुपये है। ये 314 रुपये की मूल्य वाली एक शीशी को 10,000 रुपये में बेच रहे थे।

वहीं मुंबई के पास जोगेश्वरी में एक शख्स 25 ऑक्सीजन सिलिंडर और 12 ऑक्सीजन किट की कालाबाजारी करते हुए पकड़ा गया है। मुंबई पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए शख्स को दबोचा है। ओडिवारा पुलिस स्टेशन में शख्स के खिलाफ शिकायत दर्ज की जा चुकी है।

Next Stories
1 4,000+: आंकड़ों में बदलती मौत; शुक्रवार को कोरोना संक्रमण के 2,56,564 नए केस, सबसे अधिक मामले तमिलनाडु में
2 कोरोना के खिलाफ कमाल कर रही यह आयुर्वेदिक दवाई, आंध्र सरकार ICMR को भेजेगी सैंपल
3 यूपी के मंत्री ने माना, पंचायत चुनाव के बाद फैल गया कोरोना, कहा- रेत में गाड़े गए शव
ये पढ़ा क्या ?
X