ताज़ा खबर
 

कोरोनाः भगवान के लिए दिला दें वैक्सीन- मुंबई में डॉक्टर की फरियाद; महाराष्ट्र में बेड नहीं, कुर्सी पर मरीज को मिली ऑक्सीजन

स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार भारत के कुल सक्रिय मामलों में 70.82% प्रतिशत मामले पांच राज्य महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और केरल में हैं।

covid 19 cases in india, covid 19 cases in maharashtra, fir against actor for violating covid protocolमहाराष्ट्र में कोविड- 19 के मामलों में लगातार उछाल आ रहा है (Photo-Indian Express/Prashant Nadkar)

पूरे देश में कोरोना संकट बढ़ता जा रहा है। महाराष्ट्र में एक दिन में 66 हजार नए मामले सामने आए हैं। इधर मरीजों के इलाज के लिए जरूरी दवाओं और संसाधनों की कमी देखने को मिल रही है। मुंबई के लीलावती अस्पताल के डॉक्टर ने कहा है कि अस्पताल में वैक्सीन और जीवन रक्षक दवाओं की काफी कमी है। वहीं महाराष्ट्र के उस्मानाबाद जिले में बेड भरे होने की वजह से मरीजों को कुर्सी पर बिठाकर ऑक्सीजन दिया जा रहा है।

NDTV से बात करते हुए मुंबई के लीलावती अस्पताल के डॉक्टर डॉ जलील पारकर ने कहा कि मेरे अस्पताल में पिछले दो-तीन दिनों से टीके नहीं हैं। रेमडेसिवीर की कमी है, टोसिलिज़ुमैब की भी कमी है। हम मरीजों को बचाने के लिए भीख मांगने, उधार लेने, चोरी करने के लिए मजबूर हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरे तरफ से बस एक ही निवेदन है कि भगवान के लिए रेमडेसिवीर और टोसिलिज़ुमैब को उपलब्ध करवाया जाए। क्योंकि यही एकमात्र तरीका है जिससे हम जीवन बचा सकते हैं।

Coronavirus Lockdown in India LIVE Updates

इधर उस्मानाबाद जिले के अस्पताल का एक वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें मरीजों को कुर्सी पर बैठाकर ऑक्सीजन दी जा रही है। उस्मानाबाद में पिछले 24 घंटे में 681 नए मरीज सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार भारत के कुल सक्रिय मामलों में 70.82% प्रतिशत मामले पांच राज्य महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और केरल में हैं। महाराष्ट्र में 48. 57 प्रतिशत मामले हैं।

गुजरात और उत्तर प्रदेश में भी हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश में 24 घंटे में 12,748 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इस दौरान 46 लोगों की मौत हुई है। वहीं गुजरात में रविवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार राज्य में एक दिन में 5400 नए मामले सामने आए है। जबकि 54 मरीजों की इस दौरान मौत हुई।

जानकारों का मानना है कि भारत में दूसरी लहर के लौटने और इतने प्रचंड रूप के पीछे कोरोना का नया स्ट्रेन और डबल म्यूटेंट वायरस जिम्मेदार है। इस नए फेज में युवा और बच्चों में संक्रमण तेजी से हो रहे हैं। ICMR ने कहा है कि लोगों को नई लहर से पैनिक होने की जरूरत नहीं है। सरकारी प्रयासों के अलावा लोगों को अपने लेवर पर भी संक्रमण से बचने और उसे फैलने से रोकने के लिए कदम उठाने की अपील की गयी है।

Next Stories
1 सीएम योगी आदित्यनाथ ने खुद को किया आइसोलेट, संक्रमित अधिकारियों के संपर्क में आए थे
2 गुजरात में कोरोना से बदतर हालात! HC ने लिया स्वतः संज्ञान; चीफ जस्टिस बोले- दुख-दर्द भरी कहानियों की आ रखी है बाढ़
3 दिलीप घोष ने केंद्रीय बलों का किया बचाव तो बोले टीएमसी प्रवक्ता- बॉलीवुड की फिल्मों में भी ऐसा एनकाउंटर नहीं देखा, गर्दन पर मारी गोलियां
यह पढ़ा क्या?
X